कोरोना से सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों को, सरकार न्याय योजना जैसी स्कीम लाए और हर महीने गरीब परिवारों के खाते में 7500 रु. डालेDainik Bhaskar


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कोरोना और अर्थव्यवस्था को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुझाव दिए। राहुल ने कहा कि कोरोना ने अर्थव्यवस्था को जबरदस्त चोट पहुंचाई है। इससे सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों, मजदूरों और मध्यमवर्ग को पहुंचा। राहुल ने कहा कि इनके लिए सरकार न्याय योजना जैसी एक स्कीम लेकर आए। यह ज्यादा लंबी ना हो, 6 महीने के लिए हो। इसके तहत हर गरीब परिवार के खाते में 7 हजार 500 रुपए हर महीने डाले जाएं।

राहुल ने कहा कि इससे डिमांड बढ़ेगी और अर्थव्यवस्था फिर रास्ते पर आ जाएगी। हालांकि, सरकार इससे तीन-चार बार इनकार कर चुकी है। उसका कहना है कि पैसा नहीं है, लेकिनमैं याद दिला दूं कि सरकार ने 15 बड़े उद्योगपतियों कालाखों करोड़ों का टैक्स माफ कर दिया।

उम्मीद है देश हित में इन सुझावों को PM ज़रूर मानेंगे।

यही सच्ची देश सेवा भी है और राष्ट्र भक्ती भी। pic.twitter.com/kQc2hgol0S

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) June 30, 2020

राहुल ने चीन से इंपोर्ट के मुद्दे पर भी सरकार को घेरा
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन से इंपोर्ट के मुद्दे पर सरकार को घेरा है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि भाजपा मेक इंडिया की बात करती है, लेकिन सामान चीन से खरीदती है। राहुल ने ट्विटर पर दो ग्राफ शेयर किए हैं जिनमें मनमोहन और मोदी सरकार के समय चीन से इंपोर्ट का प्रतिशत बताया है। उन्होंने कहा है कि आंकड़े झूठे नहीं होते।

Facts don’t lie.

BJP says:
Make in India.

BJP does:
Buy from China. pic.twitter.com/hSiDIOP3aU

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) June 30, 2020

चीन की घुसपैठ पर भी राहुल ने मोदी पर सवाल उठाए थे
मेक इन इंडिया अभियान को लेकर राहुल पहले भी सरकार पर हमला कर चुके हैं। उन्होंने इस अभियान को फेल बताया था। चीन के मुद्दे पर राहुल मोदी सरकार के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री सेना की बजाय चीन को सपोर्ट कर रहे हैं? चीन हमारी सीमा में घुसने के बावजूद इस बात से मुकर गया और प्रधानमंत्री खुल्लम खुल्ला उसका समर्थन कर रहे हैं।

राहुल ने यह बात मोदी के उस बयान के रेफरेंस में कही जो उन्होंने सर्वदलीय बैठक में दिया था। मोदी ने कहा था,’कोई हमारी सीमा में नहीं घुसा, ना ही हमारी कोई पोस्ट किसी के कब्जे में है।’इस बयान को मुद्दा बनाकर कांग्रेस ने कहा कि अगर ऐसा हैतो फिर चीन से बातचीत क्यों चल रही थी? इस सवाल के बाद प्रधानमंत्री ऑफिस ने सफाई जारी की थी। उसने कहा कि मोदी का बयान 15 जून को गलवान में हुई झड़प के बारे में था। उनका कहने का यह मतलब था कि उस दिन हमारे सैनिकों ने चीन की घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी थी।

भाजपा ने सोनिया से पूछा- कांग्रेस का चीन से क्या रिश्ता है?
राहुल के आरोपों के बीच भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पिछले हफ्ते प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि गांधी परिवार के राजीव गांधी फाउंडेशन को 2005 से 2009 तक चीन से डोनेशन मिली थी। उन्होंने सोनिया गांधी से सवाल किया था कि कांग्रेस और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का संबंध क्या है?

सरकार के खिलाफ राहुल के बयानों से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1.राहुल गांधी ने कहा- सरकार पेट्रोल-डीजल से मुनाफाखोरी बंद करे; सोनिया बोलीं- रेट बढ़ाने का फैसला वापस लिया जाए

2.गलवान झड़प पर सियासत: राहुल ने पूछा- हमारे सैनिकों को मारने वाले, हमारी जमीन लेने वाले चीन का मीडिया मोदी की तारीफ क्यों कर रहा है?

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


राहुल ने सोमवार को कहा था कि सरकार को पेट्रोल-डीजल से मुनाफाखोरी बंद करनी चाहिए। (फाइल फोटो)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कोरोना और अर्थव्यवस्था को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुझाव दिए। राहुल ने कहा कि कोरोना ने अर्थव्यवस्था को जबरदस्त चोट पहुंचाई है। इससे सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों, मजदूरों और मध्यमवर्ग को पहुंचा। राहुल ने कहा कि इनके लिए सरकार न्याय योजना जैसी एक स्कीम लेकर आए। यह ज्यादा लंबी ना हो, 6 महीने के लिए हो। इसके तहत हर गरीब परिवार के खाते में 7 हजार 500 रुपए हर महीने डाले जाएं।राहुल ने कहा कि इससे डिमांड बढ़ेगी और अर्थव्यवस्था फिर रास्ते पर आ जाएगी। हालांकि, सरकार इससे तीन-चार बार इनकार कर चुकी है। उसका कहना है कि पैसा नहीं है, लेकिनमैं याद दिला दूं कि सरकार ने 15 बड़े उद्योगपतियों कालाखों करोड़ों का टैक्स माफ कर दिया।उम्मीद है देश हित में इन सुझावों को PM ज़रूर मानेंगे।यही सच्ची देश सेवा भी है और राष्ट्र भक्ती भी। pic.twitter.com/kQc2hgol0S— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) June 30, 2020राहुल ने चीन से इंपोर्ट के मुद्दे पर भी सरकार को घेराकांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन से इंपोर्ट के मुद्दे पर सरकार को घेरा है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि भाजपा मेक इंडिया की बात करती है, लेकिन सामान चीन से खरीदती है। राहुल ने ट्विटर पर दो ग्राफ शेयर किए हैं जिनमें मनमोहन और मोदी सरकार के समय चीन से इंपोर्ट का प्रतिशत बताया है। उन्होंने कहा है कि आंकड़े झूठे नहीं होते।Facts don’t lie.BJP says:Make in India.BJP does:Buy from China. pic.twitter.com/hSiDIOP3aU— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) June 30, 2020चीन की घुसपैठ पर भी राहुल ने मोदी पर सवाल उठाए थेमेक इन इंडिया अभियान को लेकर राहुल पहले भी सरकार पर हमला कर चुके हैं। उन्होंने इस अभियान को फेल बताया था। चीन के मुद्दे पर राहुल मोदी सरकार के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री सेना की बजाय चीन को सपोर्ट कर रहे हैं? चीन हमारी सीमा में घुसने के बावजूद इस बात से मुकर गया और प्रधानमंत्री खुल्लम खुल्ला उसका समर्थन कर रहे हैं।राहुल ने यह बात मोदी के उस बयान के रेफरेंस में कही जो उन्होंने सर्वदलीय बैठक में दिया था। मोदी ने कहा था,’कोई हमारी सीमा में नहीं घुसा, ना ही हमारी कोई पोस्ट किसी के कब्जे में है।’इस बयान को मुद्दा बनाकर कांग्रेस ने कहा कि अगर ऐसा हैतो फिर चीन से बातचीत क्यों चल रही थी? इस सवाल के बाद प्रधानमंत्री ऑफिस ने सफाई जारी की थी। उसने कहा कि मोदी का बयान 15 जून को गलवान में हुई झड़प के बारे में था। उनका कहने का यह मतलब था कि उस दिन हमारे सैनिकों ने चीन की घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी थी।भाजपा ने सोनिया से पूछा- कांग्रेस का चीन से क्या रिश्ता है?राहुल के आरोपों के बीच भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पिछले हफ्ते प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि गांधी परिवार के राजीव गांधी फाउंडेशन को 2005 से 2009 तक चीन से डोनेशन मिली थी। उन्होंने सोनिया गांधी से सवाल किया था कि कांग्रेस और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का संबंध क्या है?सरकार के खिलाफ राहुल के बयानों से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…1.राहुल गांधी ने कहा- सरकार पेट्रोल-डीजल से मुनाफाखोरी बंद करे; सोनिया बोलीं- रेट बढ़ाने का फैसला वापस लिया जाए2.गलवान झड़प पर सियासत: राहुल ने पूछा- हमारे सैनिकों को मारने वाले, हमारी जमीन लेने वाले चीन का मीडिया मोदी की तारीफ क्यों कर रहा है? आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

राहुल ने सोमवार को कहा था कि सरकार को पेट्रोल-डीजल से मुनाफाखोरी बंद करनी चाहिए। (फाइल फोटो)Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *