मोदी ने बुल्गारिया के पीएम पर लगे जुर्माने से मास्क की अहमियत समझाई, कहा- नियमों से ऊपर कोई भी नहींDainik Bhaskar


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार कोदेश के नाम संदेश में कोरोना को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दी।इस दौरान वे थोड़ा नाराज दिखे।फिर कहा,’ये बात सही है कि अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है। समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया।जब से देश में अनलॉक-1 हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही है।’

उन्होंनेकहा कि भले ही अब तकहम दो गज कीदूरी को लेकर औरबीस सेकंड हाथ धोने को लेकर सतर्क रहे हैं। आज जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है तो लापरवाही बढ़ना बहुत ही चिंता का कारण है। लॉकडाउनके दौरान गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था। अब सरकारों को स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है। विशेषकर कंटेनमेंट जोन पर बहुत ध्यान देना होगा। जो नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें रोकना-टोकना और समझाना होगा।

प्रशासन को चुस्ती से काम करना चाहिए

  • मोदी ने कहा-अभी आपने खबरों में देखा होगा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार का जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वे मास्क पहने बिना गए थे। भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए। यह 130 भारतीयों की रक्षा का अभियान है। गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है।
  • दरअसल, मोदी ने अपने भाषण में बुल्गारिया के प्रधानमंत्री बोइको बोरिसोव का भी उदाहरण दिया। बोरिसोव को हाल ही में जुर्माना देना पड़ा था, क्योंकि वे चर्च में बिना मास्क लगाए पहुंचे थे।इसी तरह, पिछले दिनों रोमानिया के प्रधानमंत्री लुडोविच ओरबन पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर 45 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया था।

मास्क, फेस कवर जरूर पहनें
प्रधानमंत्री ने कहा किआपसे प्रार्थना करता हूं, आग्रह करता हूं कि स्वस्थ रहिए। दो गज की दूरी का पालन करते रहिए। गमछा, फेसकवर, मास्क का उपयोग करिए और कोई लापरवाही मत करिए।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन में कहा कि आपसे प्रार्थना करता हूं, आपसे आग्रह करता हूं कि स्वस्थ रहिए। दो गज की दूरी का पालन करते रहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार कोदेश के नाम संदेश में कोरोना को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दी।इस दौरान वे थोड़ा नाराज दिखे।फिर कहा,’ये बात सही है कि अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है। समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया।जब से देश में अनलॉक-1 हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही है।’उन्होंनेकहा कि भले ही अब तकहम दो गज कीदूरी को लेकर औरबीस सेकंड हाथ धोने को लेकर सतर्क रहे हैं। आज जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है तो लापरवाही बढ़ना बहुत ही चिंता का कारण है। लॉकडाउनके दौरान गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था। अब सरकारों को स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है। विशेषकर कंटेनमेंट जोन पर बहुत ध्यान देना होगा। जो नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें रोकना-टोकना और समझाना होगा।प्रशासन को चुस्ती से काम करना चाहिएमोदी ने कहा-अभी आपने खबरों में देखा होगा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार का जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वे मास्क पहने बिना गए थे। भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए। यह 130 भारतीयों की रक्षा का अभियान है। गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है। दरअसल, मोदी ने अपने भाषण में बुल्गारिया के प्रधानमंत्री बोइको बोरिसोव का भी उदाहरण दिया। बोरिसोव को हाल ही में जुर्माना देना पड़ा था, क्योंकि वे चर्च में बिना मास्क लगाए पहुंचे थे।इसी तरह, पिछले दिनों रोमानिया के प्रधानमंत्री लुडोविच ओरबन पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर 45 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया था।मास्क, फेस कवर जरूर पहनेंप्रधानमंत्री ने कहा किआपसे प्रार्थना करता हूं, आग्रह करता हूं कि स्वस्थ रहिए। दो गज की दूरी का पालन करते रहिए। गमछा, फेसकवर, मास्क का उपयोग करिए और कोई लापरवाही मत करिए। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन में कहा कि आपसे प्रार्थना करता हूं, आपसे आग्रह करता हूं कि स्वस्थ रहिए। दो गज की दूरी का पालन करते रहिए।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *