डेमोक्रेट कमला हैरिस बोलीं- मेरे पेरेंट्स अलग-अलग हिस्सों से अमेरिका आए, पिता कंधे पर बैठाकर मानवाधिकार प्रदर्शनों में ले जाते थे, यह संघर्ष आज भी जारी हैDainik Bhaskar


डेमोक्रेटिक पार्टी से उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाए जाने के बाद कमला हैरिस बुधवार को पहली बार विलिमिंगटन में लोगों से मुखातिब हुईं। वे राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन के साथ नजर आईं। इस दौरान हैरिस ने कहा कि कभी उनके माता-पिता उन्हें लेकर लोगों के हक के लिए होने वाले प्रदर्शनों में जाते थे। अन्याय के खिलाफ उस समय शुरू हुआ संघर्ष आज भी जारी है।

उन्होंने कहा, मेरी मां और मेरे पिता दुनिया के दो अलग-अलग हिस्सों से अमेरिका आए। एक भारत से आए तो दूसरे जमैका से। वे यहां पर वर्ल्ड क्लास एजुकेशन लेने पहुंचे थे। हालांकि, 1960 में अमेरिका में शुरू हुए सिविल राइट मूवमेंट की वजह से दोनों करीब आए। उन्होंने स्टूडेंट के तौर पर इसमें हिस्सा लिया। मैं उस समय छोटी बच्ची थी। वे मुझे अपने कंधों पर बैठाकर इस प्रदर्शन में लाते थे।

डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उप राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने के बाद कमला हैरिस पूर्व उप राष्ट्रपति जो बिडेन के साथ पहली बार नजर आईं।

देश मौजूदा नेतृत्व से बाहर आने के लिए रो रहा है: हैरिस

हैरिस ने कहा, ‘‘बीते कुछ समय में हमने नस्लवाद और अन्याय को लेकर नई चीजें महसूस की हैं। अब लोग सड़कों पर उतरकर बदलाव की मांग कर रहे हैं। देश मौजूदा नेतृत्व से बाहर आने के लिए रो रहा है। ट्रम्प ने देश में नस्लवाद को बढ़ावा दिया है।’’

कमला हैरिस ने भाषण में अमेरिका में पैदा हुए आर्थिक संकट के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जिम्मेदार ठहराया।

हैरिस का उम्मीदवार बनाने के बाद पार्टी को तेजी से फंड मिल रहा

कमला को उप राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने से पार्टी को मिलने वाले फंड में तेजी आई है। बीते 24 घंटे में ही डेमोक्रेटिक पार्टी को 26 मिलियन डॉलर (करीब 194 करोड़ रु.) का फंड मिला है। बिडेन के कैंपेन ने बुधवार को बताया कि यह रकम पहले एक दिन में मिलने वाले फंड से दोगुना ज्यादा है।

भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिका में उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाई जाने वाली पहली एशियन अमेरिकन महिला हैं।

ट्रम्प कोरोना महामारी से निपटने में नाकाम हुए: हैरिस

हैरिस ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और बिडेन के कार्यकाल में अमेरिका में इबोला वायरस का संक्रमण फैला था। इससे सिर्फ 2 लोगों की मौत हुई थी। वहीं, राष्ट्रपति ट्रम्प कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने में पूरी तरह नाकाम हुए हैं। ट्रम्प की वजह से महामारी देश में बड़े पैमाने पर फैल चुकी है। इससे देश 1929 के ग्रेट डिप्रेशन (महामंदी) जैसे संकट में घिर गया है।

कमला हैरिस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें…

1. कमला हैरिस भारतीय मां और जमैकन पिता की बेटी हैं, लेकिन खुद को अमेरिकी कहलवाना ज्यादा पसंद

2. बिडेन ने भारतवंशी कमला देवी हैरिस को ही उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार क्यों बनाया; इसके दो मुख्य कारण ये हैं

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी की उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने बुधवार को विलिमिंगटन में लोगों को संबोधित किया।।

डेमोक्रेटिक पार्टी से उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाए जाने के बाद कमला हैरिस बुधवार को पहली बार विलिमिंगटन में लोगों से मुखातिब हुईं। वे राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन के साथ नजर आईं। इस दौरान हैरिस ने कहा कि कभी उनके माता-पिता उन्हें लेकर लोगों के हक के लिए होने वाले प्रदर्शनों में जाते थे। अन्याय के खिलाफ उस समय शुरू हुआ संघर्ष आज भी जारी है। उन्होंने कहा, मेरी मां और मेरे पिता दुनिया के दो अलग-अलग हिस्सों से अमेरिका आए। एक भारत से आए तो दूसरे जमैका से। वे यहां पर वर्ल्ड क्लास एजुकेशन लेने पहुंचे थे। हालांकि, 1960 में अमेरिका में शुरू हुए सिविल राइट मूवमेंट की वजह से दोनों करीब आए। उन्होंने स्टूडेंट के तौर पर इसमें हिस्सा लिया। मैं उस समय छोटी बच्ची थी। वे मुझे अपने कंधों पर बैठाकर इस प्रदर्शन में लाते थे। डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उप राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने के बाद कमला हैरिस पूर्व उप राष्ट्रपति जो बिडेन के साथ पहली बार नजर आईं।देश मौजूदा नेतृत्व से बाहर आने के लिए रो रहा है: हैरिस हैरिस ने कहा, ‘‘बीते कुछ समय में हमने नस्लवाद और अन्याय को लेकर नई चीजें महसूस की हैं। अब लोग सड़कों पर उतरकर बदलाव की मांग कर रहे हैं। देश मौजूदा नेतृत्व से बाहर आने के लिए रो रहा है। ट्रम्प ने देश में नस्लवाद को बढ़ावा दिया है।’’ कमला हैरिस ने भाषण में अमेरिका में पैदा हुए आर्थिक संकट के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जिम्मेदार ठहराया।हैरिस का उम्मीदवार बनाने के बाद पार्टी को तेजी से फंड मिल रहा कमला को उप राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने से पार्टी को मिलने वाले फंड में तेजी आई है। बीते 24 घंटे में ही डेमोक्रेटिक पार्टी को 26 मिलियन डॉलर (करीब 194 करोड़ रु.) का फंड मिला है। बिडेन के कैंपेन ने बुधवार को बताया कि यह रकम पहले एक दिन में मिलने वाले फंड से दोगुना ज्यादा है। भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिका में उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बनाई जाने वाली पहली एशियन अमेरिकन महिला हैं।ट्रम्प कोरोना महामारी से निपटने में नाकाम हुए: हैरिस हैरिस ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और बिडेन के कार्यकाल में अमेरिका में इबोला वायरस का संक्रमण फैला था। इससे सिर्फ 2 लोगों की मौत हुई थी। वहीं, राष्ट्रपति ट्रम्प कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने में पूरी तरह नाकाम हुए हैं। ट्रम्प की वजह से महामारी देश में बड़े पैमाने पर फैल चुकी है। इससे देश 1929 के ग्रेट डिप्रेशन (महामंदी) जैसे संकट में घिर गया है। कमला हैरिस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें… 1. कमला हैरिस भारतीय मां और जमैकन पिता की बेटी हैं, लेकिन खुद को अमेरिकी कहलवाना ज्यादा पसंद 2. बिडेन ने भारतवंशी कमला देवी हैरिस को ही उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार क्यों बनाया; इसके दो मुख्य कारण ये हैं आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी की उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने बुधवार को विलिमिंगटन में लोगों को संबोधित किया।।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *