रूस की वैक्सीन ‘स्पुतनिक वी’ की 3 से 5 अरब डोज की दुनियाभर में डिमांड, इससे देश को 5.61 लाख करोड़ रु. की कमाई होगी; दुनिया में 2.08 करोड़ केसDainik Bhaskar


दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 2 करोड़ 8 लाख 27 हजार 637 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 37 लाख 23 हजार 478 मरीज ठीक हो चुके हैं। 7 लाख 47 हजार 584 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

मॉस्को डेली वेदोमोस्ती के मुताबिक, ‘स्पुतनिक वी’ की घोषणा के बाद दुनियाभर में 3 से 5 अरब डोज वैक्सीन की मांग की जा रही है। इससे रूस को 75 बिलियन डॉलर (5.61 लाख करोड़ रु) की कमाई होगी। 2021 के अंत तक रूस की 20 से ज्यादा देशों में 1 अरब डोज सप्लाई करने की योजना है।

10 देश, जहां कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 53,60,302 1,69,131 28,12,603
ब्राजील 31,70,474 1,04,263 23,09,477
भारत 23,95,471 47,138 16,95,860
रूस 9,02,701 15,260 7,10,298
साउथ अफ्रीका 5,68,919 11,010 4,32,029
मैक्सिको 4,98,380 54,666 3,36,635
पेरू 4,98,555 21,713 3,41,938
कोलंबिया 4,22,519 13,837 2,39,785
चिली 3,78,168 10,205 3,51,419
स्पेन 3,76,864 28,579 उपलब्ध नहीं

मैक्सिको: 4.98 लाख मरीज

मैक्सिको के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बीते 24 घंटे में देश में 5858 नए मामले सामने आए हैं और 737 मौतें हुई हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमितों का आंकड़ा 4 लाख 98 हजार 380 हो गया है। यहां अब तक 54 हजार 666 मौतें हुईं हैं।

मैक्सिको की राजधानी न्यू मैक्सिको सिटी के एक थियेटर में पहुंचे लोगों की जांच करते सिक्योरिटी गार्ड। मैक्सिको संक्रमण के मामले में दुनिया में सातवें नंबर पर है।

    पेरू: हर रविवार कर्फ्यू

    पेरू के राष्ट्रपति मार्टिन विजकारा ने हर रविवार को देश में कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि संक्रमण से उबरने और एक बेहतर स्थिति में लौटने के लिए हमने यह फैसला किया है। पेरू में अब तक 4 लाख 89 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। हर रोज यहां करीब 7 हजार केस सामने आ रहे हैं।

    ब्रिटेन: इंग्लैंड में मौतों का नया आंकड़ा जारी
    सरकार ने बुधवार को इंग्लैंड में संक्रमण से हुई मौतों का नया आंकड़ा जारी किया। इसमें पहले के मुकाबले 5377 मौतें कम दिखाई गई हैं। सरकार ने कहा है कि पुराने डेटा में ऐसे लोगों को भी शामिल कर लिया गया था जो संक्रमण से ठीक हो चुके थे। अब ब्रिटेन में मौतों की कुल संख्या 46 हजार 706 से घटकर 41 हजार 329 हो गई है।

    ब्रिटेन के इंग्लैंड में एक टेस्टिंग कैंप के बाहर कार सवार को रूकने के लिए कहते सुरक्षाकर्मी।

    चिली: राजधानी सैंटियागो से लॉकडाउन हटेगा
    चिली सरकार ने अगले सोमवार से राजधानी चिली और इसके आसपास के इलाकों में लॉकडाउन हटाने का फैसला किया है। देश के स्वास्थ्य मंत्री एनरिक पेरिस ने बुधवार को कहा कि यह हमारे लिए राहत की बात है। सैंटियागो के मेयर फिलिप एलेसैंड्री ने कहा कि लॉकडाउन हटाने का मतलब यह नहीं है कि लोगों को खुली छूट है। लोग ज्यादातर समय घर के भीतर ही रहें और मास्क का इस्तेमाल करें।

    चिली की राजधानी सैंटियागो में बुधवार को एक संक्रमित का शव वैन में डालते कर्मचारी।

    रूस: दो हफ्ते में आएगी वैक्सीन

    रूस ने बुधवार को कहा कि कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक वी का पहला बैच दो हफ्ते में तैयार कर लिया जाएगा। उधर, अमेरिकी हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. एंथनी फौसी ने कहा कि उन्हें शक है कि वैक्सीन कोरोना मरीजों पर काम करेगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन बनाना और इसे सुरक्षित साबित करना अलग बात है। हालांकि, रूस ने सुरक्षा को लेकर सभी चिंताओं को खारिज कर दिया है।

    रूस की राजधानी मॉस्को के एक टेस्टिंग सेंटर पर एक व्यक्ति का स्वैब सैंपल लेते स्वास्थ्यकर्मी।

    आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


    रूस ने वैक्सीन का नाम अपने पहले सैटेलाइट ‘स्पुतनिक वी’ के नाम पर रखा है। इस वैक्सीन के 1 अरब डोज के लिए 20 से ज्यादा देशों ने मांग की है।

    दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 2 करोड़ 8 लाख 27 हजार 637 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 37 लाख 23 हजार 478 मरीज ठीक हो चुके हैं। 7 लाख 47 हजार 584 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं। मॉस्को डेली वेदोमोस्ती के मुताबिक, ‘स्पुतनिक वी’ की घोषणा के बाद दुनियाभर में 3 से 5 अरब डोज वैक्सीन की मांग की जा रही है। इससे रूस को 75 बिलियन डॉलर (5.61 लाख करोड़ रु) की कमाई होगी। 2021 के अंत तक रूस की 20 से ज्यादा देशों में 1 अरब डोज सप्लाई करने की योजना है। 10 देश, जहां कोरोना का असर सबसे ज्यादा देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए अमेरिका 53,60,302 1,69,131 28,12,603 ब्राजील 31,70,474 1,04,263 23,09,477 भारत 23,95,471 47,138 16,95,860 रूस 9,02,701 15,260 7,10,298 साउथ अफ्रीका 5,68,919 11,010 4,32,029 मैक्सिको 4,98,380 54,666 3,36,635 पेरू 4,98,555 21,713 3,41,938 कोलंबिया 4,22,519 13,837 2,39,785 चिली 3,78,168 10,205 3,51,419 स्पेन 3,76,864 28,579 उपलब्ध नहीं मैक्सिको: 4.98 लाख मरीज मैक्सिको के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बीते 24 घंटे में देश में 5858 नए मामले सामने आए हैं और 737 मौतें हुई हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमितों का आंकड़ा 4 लाख 98 हजार 380 हो गया है। यहां अब तक 54 हजार 666 मौतें हुईं हैं। मैक्सिको की राजधानी न्यू मैक्सिको सिटी के एक थियेटर में पहुंचे लोगों की जांच करते सिक्योरिटी गार्ड। मैक्सिको संक्रमण के मामले में दुनिया में सातवें नंबर पर है। पेरू: हर रविवार कर्फ्यू पेरू के राष्ट्रपति मार्टिन विजकारा ने हर रविवार को देश में कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि संक्रमण से उबरने और एक बेहतर स्थिति में लौटने के लिए हमने यह फैसला किया है। पेरू में अब तक 4 लाख 89 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। हर रोज यहां करीब 7 हजार केस सामने आ रहे हैं। ब्रिटेन: इंग्लैंड में मौतों का नया आंकड़ा जारी सरकार ने बुधवार को इंग्लैंड में संक्रमण से हुई मौतों का नया आंकड़ा जारी किया। इसमें पहले के मुकाबले 5377 मौतें कम दिखाई गई हैं। सरकार ने कहा है कि पुराने डेटा में ऐसे लोगों को भी शामिल कर लिया गया था जो संक्रमण से ठीक हो चुके थे। अब ब्रिटेन में मौतों की कुल संख्या 46 हजार 706 से घटकर 41 हजार 329 हो गई है। ब्रिटेन के इंग्लैंड में एक टेस्टिंग कैंप के बाहर कार सवार को रूकने के लिए कहते सुरक्षाकर्मी।चिली: राजधानी सैंटियागो से लॉकडाउन हटेगा चिली सरकार ने अगले सोमवार से राजधानी चिली और इसके आसपास के इलाकों में लॉकडाउन हटाने का फैसला किया है। देश के स्वास्थ्य मंत्री एनरिक पेरिस ने बुधवार को कहा कि यह हमारे लिए राहत की बात है। सैंटियागो के मेयर फिलिप एलेसैंड्री ने कहा कि लॉकडाउन हटाने का मतलब यह नहीं है कि लोगों को खुली छूट है। लोग ज्यादातर समय घर के भीतर ही रहें और मास्क का इस्तेमाल करें। चिली की राजधानी सैंटियागो में बुधवार को एक संक्रमित का शव वैन में डालते कर्मचारी।रूस: दो हफ्ते में आएगी वैक्सीन रूस ने बुधवार को कहा कि कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक वी का पहला बैच दो हफ्ते में तैयार कर लिया जाएगा। उधर, अमेरिकी हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. एंथनी फौसी ने कहा कि उन्हें शक है कि वैक्सीन कोरोना मरीजों पर काम करेगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन बनाना और इसे सुरक्षित साबित करना अलग बात है। हालांकि, रूस ने सुरक्षा को लेकर सभी चिंताओं को खारिज कर दिया है। रूस की राजधानी मॉस्को के एक टेस्टिंग सेंटर पर एक व्यक्ति का स्वैब सैंपल लेते स्वास्थ्यकर्मी।आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

    रूस ने वैक्सीन का नाम अपने पहले सैटेलाइट ‘स्पुतनिक वी’ के नाम पर रखा है। इस वैक्सीन के 1 अरब डोज के लिए 20 से ज्यादा देशों ने मांग की है।Read More

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *