वैलिड वीजा वाले भारतीय अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और यूएई की यात्रा कर सकेंगे, इन देशों के बीच एयर बबल एग्रीमेंट हुआDainik Bhaskar


महामारी शुरू होने के बाद से अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और यूएई जाने का इंतजार कर रहे भारतीय अब इन देशों की यात्रा कर सकेंगे। डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने यह जानकारी दी। इन देशों के लोग भी अब भारत आ सकेंगे। इसके लिए हर देश से ‘एयर बबल एग्रीमेंट’ किया गया है। यात्रा के लिए वैलिड पासपोर्ट जरूरी होगा। ज्यादातर उड़ानें सरकारी एयरलाइंस यानी नेशनल कैरियर ही ऑपरेट करेंगी।

ईयू का नियम
यूरोपीय यूनियन ने महामारी शुरू होने के बाद इंटरनेशनल ट्रैवल के लिए गाइडलाइंस जारी की थीं। इसके तहत सिर्फ जरूरी वीजा (एसेंशियल वीजा होल्डर्स) को यात्रा की मंजूरी दी गई थी।

भारत की कोशिश

सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने कुछ दिन पहले कहा था कि भारत ज्यादा से ज्यादा देशों के साथ एयर बबल एग्रीमेंट करना चाहता है। इसके लिए कई देशों से बातचीत भी चल रही है।भारत ने सिर्फ चुनिंदा तरह के वीजा होल्डर्स को ही देश आने की मंजूरी दी है। यानी सभी प्रकार के वीजा होल्डर्स को भारत आने की इजाजत फिलहाल नहीं दी गई है। एसेंशियल वीजा होल्डर्स को मंजूरी गृह मंत्रालय देता है।

क्या है एयर बबल एग्रीमेंट

इसके तहत दो देशों के वैलिड वीजा वाले पैसेंजर एक-दूसरे के देश में बिना परेशानी के जा सकते हैं। इसमें मुख्य तौर सरकारी एयरलाइंस से सफर करने वाले पैसेंजर होते हैं। मसलन, अगर कोई यात्री कनाडा जाना चाहता है तो उसे पहली प्राथमिकता एयर इंडिया या एयर कनाडा को देनी होगी। इसके तहत विदेश में रहने वाले भारतीय (ओसीआई) देश लौट सकते हैं। एग्रीमेंट में शामिल देश के नागरिक बिजनेस, मेडिकल या एम्पलाई वीजा पर भारत आ सकते हैं।

ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1 . उड्डयन मंत्री ने कहा- तीन महीने किराया फिक्स रहेगा; दिल्ली-मुंबई का मिनिमम किराया 3500 रुपए और मैक्सिमम 10 हजार होगा

2. वंदे भारत मिशन का 5वां फेस एक अगस्त से, अब तक 8 लाख से ज्यादा भारतीयों को लाया गया

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


यह फोटो 18 मई को ढाका से कोलकाता इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचे भारतीय नागरिकों और उनकी मदद करते एयरपोर्ट कर्मचारियों की है।- फाइल

महामारी शुरू होने के बाद से अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और यूएई जाने का इंतजार कर रहे भारतीय अब इन देशों की यात्रा कर सकेंगे। डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने यह जानकारी दी। इन देशों के लोग भी अब भारत आ सकेंगे। इसके लिए हर देश से ‘एयर बबल एग्रीमेंट’ किया गया है। यात्रा के लिए वैलिड पासपोर्ट जरूरी होगा। ज्यादातर उड़ानें सरकारी एयरलाइंस यानी नेशनल कैरियर ही ऑपरेट करेंगी। ईयू का नियम यूरोपीय यूनियन ने महामारी शुरू होने के बाद इंटरनेशनल ट्रैवल के लिए गाइडलाइंस जारी की थीं। इसके तहत सिर्फ जरूरी वीजा (एसेंशियल वीजा होल्डर्स) को यात्रा की मंजूरी दी गई थी। भारत की कोशिश सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने कुछ दिन पहले कहा था कि भारत ज्यादा से ज्यादा देशों के साथ एयर बबल एग्रीमेंट करना चाहता है। इसके लिए कई देशों से बातचीत भी चल रही है।भारत ने सिर्फ चुनिंदा तरह के वीजा होल्डर्स को ही देश आने की मंजूरी दी है। यानी सभी प्रकार के वीजा होल्डर्स को भारत आने की इजाजत फिलहाल नहीं दी गई है। एसेंशियल वीजा होल्डर्स को मंजूरी गृह मंत्रालय देता है। क्या है एयर बबल एग्रीमेंट इसके तहत दो देशों के वैलिड वीजा वाले पैसेंजर एक-दूसरे के देश में बिना परेशानी के जा सकते हैं। इसमें मुख्य तौर सरकारी एयरलाइंस से सफर करने वाले पैसेंजर होते हैं। मसलन, अगर कोई यात्री कनाडा जाना चाहता है तो उसे पहली प्राथमिकता एयर इंडिया या एयर कनाडा को देनी होगी। इसके तहत विदेश में रहने वाले भारतीय (ओसीआई) देश लौट सकते हैं। एग्रीमेंट में शामिल देश के नागरिक बिजनेस, मेडिकल या एम्पलाई वीजा पर भारत आ सकते हैं। ये खबरें भी पढ़ सकते हैं… 1 . उड्डयन मंत्री ने कहा- तीन महीने किराया फिक्स रहेगा; दिल्ली-मुंबई का मिनिमम किराया 3500 रुपए और मैक्सिमम 10 हजार होगा 2. वंदे भारत मिशन का 5वां फेस एक अगस्त से, अब तक 8 लाख से ज्यादा भारतीयों को लाया गया आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

यह फोटो 18 मई को ढाका से कोलकाता इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचे भारतीय नागरिकों और उनकी मदद करते एयरपोर्ट कर्मचारियों की है।- फाइलRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *