अनुच्छेद 370 हटाने के वक्त एक साल पहले कश्मीर में भेजे गए अर्धसैनिक बलों के 10 हजार जवान तुरंत लौटेंगेDainik Bhaskar


केंद्र सरकार ने बुधवार को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से तत्काल 10 हजार अर्धसैनिक जवान वापस बुलाने का फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स (सीएपीएफ) की जम्मू-कश्मीर में तैनाती को लेकर समीक्षा की थी, उसके बाद यह फैसला लिया गया है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि 100 सीएपीएफ कंपनियों को तुरंत अपनी बेस लोकेशन पर वापस जाने का आदेश केंद्र की तरफ से जारी किया गया है। इन कंपनियों को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद तैनात किया गया था।

इसी हफ्ते जम्मू-कश्मीर से वापस होंगे जवान

केंद्र के निर्देश के मुताबिक सीआरपीएफ की 40 कंपनियां, सीआईएसएफ की 20 कंपनियां, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स और सशस्त्र सीमा बल को इसी हफ्ते जम्मू-कश्मीर से बाहर भेजा जाएगा। सीआईएएफ की एक कंपनी में 100 जवान रहते हैं। इससे पहले गृह मंत्रालय ने मई 2020 में सीएपीएफ की 10 कंपनियां जम्मू-कश्मीर से हटाई थीं।

केंद्र के मौजूदा आदेश के बाद भी जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ की 60 बटालियन रहेंगी। एक बटालियन में एक हजार जवान रहते हैं। सीएपीएफ की भी कुछ और यूनिट्स घाटी में अभी मौजूद रहेंगी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में बड़ी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती हुई थी। -फाइल फोटो

केंद्र सरकार ने बुधवार को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से तत्काल 10 हजार अर्धसैनिक जवान वापस बुलाने का फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स (सीएपीएफ) की जम्मू-कश्मीर में तैनाती को लेकर समीक्षा की थी, उसके बाद यह फैसला लिया गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि 100 सीएपीएफ कंपनियों को तुरंत अपनी बेस लोकेशन पर वापस जाने का आदेश केंद्र की तरफ से जारी किया गया है। इन कंपनियों को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद तैनात किया गया था। इसी हफ्ते जम्मू-कश्मीर से वापस होंगे जवान केंद्र के निर्देश के मुताबिक सीआरपीएफ की 40 कंपनियां, सीआईएसएफ की 20 कंपनियां, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स और सशस्त्र सीमा बल को इसी हफ्ते जम्मू-कश्मीर से बाहर भेजा जाएगा। सीआईएएफ की एक कंपनी में 100 जवान रहते हैं। इससे पहले गृह मंत्रालय ने मई 2020 में सीएपीएफ की 10 कंपनियां जम्मू-कश्मीर से हटाई थीं। केंद्र के मौजूदा आदेश के बाद भी जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ की 60 बटालियन रहेंगी। एक बटालियन में एक हजार जवान रहते हैं। सीएपीएफ की भी कुछ और यूनिट्स घाटी में अभी मौजूद रहेंगी। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में बड़ी संख्या में पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती हुई थी। -फाइल फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *