एक सीजन में सभी 11 मैच जीतकर चैम्पियन बनने वाला बायर्न पहला क्लब, फाइनल में पीएसजी को 1-0 से हरायाDainik Bhaskar


जर्मनी के फुटबॉल क्लब बायर्न म्यूनिख ने छठी बार यूईएफए चैम्पियंस लीग का खिताब जीत लिया। उसने फाइनल में फ्रांस के पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) को 1-0 से शिकस्त दी। चैम्पियंस लीग के इतिहास में एक सीजन में सभी 11 मैच जीतकर चैम्पियन बनने वाला बायर्न पहला क्लब है।

बायर्न के लिए विजयी गोल किंग्सले कोमान ने हेडर से 59वें मिनट में दागा। यह गोल जोशुआ किमिच ने असिस्ट किया था। पीएसजी 50 साल में पहली बार फाइनल खेल रही थी, जबकि बायर्न 11वीं बार फाइनल में पहुंची थी। इस जर्मन टीम ने पिछला खिताब 2013 में जीता था।

यह मैच पहले मिनट से ही काफी रोमांचक रहा है। पीएसजी के स्टार नेमार और किलियन एम्बाप्पे ने अपनी टीम को पहला खिताब जिताने की पूरी कोशिश की, लेकिन बायर्न ने उन्हें बांधे रखा। मैच का पहला हाफ बगैर गोल के बराबरी पर रहा था।

बायर्न के पास 62% पजेशन रही
मैच में बायर्न के पास सबसे ज्यादा 62% और पीएसजी के पास 38% पजेशन रही। हालांकि, सबसे ज्यादा 22 फाउल भी बायर्न ने ही किए। पीएसजी के खिलाड़ियों ने 16 ही फाउल किए थे। दोनों टीमों के 4-4 प्लेयर्स को येलो कार्ड मिला। कॉर्नर के मामले में भी दोनों टीमें 4-4 के साथ बराबर पर रहीं।

बायर्न म्यूनिख के लिए अकेला विजयी गोल किंग्सले कोमान ने 59वें मिनट में हेडर से किया।

बायर्न के लिए अकेला विजयी गोल किंग्सले कोमान ने 59वें मिनट में हेडर से किया। वे चैम्पियंस लीग फाइनल में गोल करने वाले फ्रांस के 5वें खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले करीम बेंजेमा (2018), जिनेदिन जिदान (2002), मार्सेल डेसेली (1994) और बेसिले बोली (1993) में ऐसा कर चुके हैं।

बायर्न लीग के इतिहास में 500 गोल करने वाली तीसरी टीम बनी
बायर्न ने चैम्पियंस लीग में अपने 500 गोल पूरे कर लिए हैं। वह लीग के इतिहास में ऐसा करने वाली तीसरी टीम बन गई है। इससे पहले रियाल मैड्रिड ने सबसे ज्यादा 567 और बार्सिलोना ने 517 गोल किए हैं।

बायर्न के डेविड अलाबा ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ वाली टी-शर्ट पहनकर घुटने के बल बैठे।

मैच के बाद बायर्न के डिफेंडर डेविड अलाबा ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ वाली टी-शर्ट पहनकर घुटने के बल बैठे। इस तरह उन्होंने रंगभेद के खिलाफ चल रहे अभियान का समर्थन किया। इससे पहले भी कई फुटबॉल और क्रिकेट समेत कई स्पोर्ट्स टूर्नामेंट में भी खिलाड़ी इस तरह की टी-शर्ट पहनकर घुटने टेकते नजर आए हैं। इसी साल मई में अमेरिका में पुलिस की बर्बरता के कारण अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (46) की मौत हो गई थी। इसके बाद से दुनियाभर में रंगभेद के खिलाफ ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ मूवमेंट चल रहा है।

लेवनडॉस्की एक सीजन में 15 गोल करने वाले दूसरे खिलाड़ी

बायर्न के रॉबर्ट लेवनडॉस्की किसी एक सीजन में 15 या उससे ज्यादा गोल करने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं। उनसे पहले क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने सबसे ज्यादा 17 गोल 2013-14 में, 2015-16 में 16 और 2017-18 में 15 गोल किए हैं। नाबरी भी इस सीजन में गोल करने के मामले में तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने 9 गोल किए हैं। इसमें सेमीफाइनल में लियोन के खिलाफ उनके 2 गोल भी हैं।

बायर्न ने दूसरी बार ट्रेबल पूरा किया, बार्सिलोना के बाद दूसरी टीम बनी
बायर्न ने दूसरी बार ट्रेबल (दो घरेलू और चैम्पियंस लीग जीतने वाली टीम) पूरा कर लिया है। फुटबॉल इतिहास में दूसरी बार ऐसा करने वाली बार्सिलोना के बाद बायर्न दूसरी टीम बन गई है। इससे पहले बायर्न ने भी 2012-13 में यह उपलब्धि हासिल की थी। बायर्न ने इस बार चैम्पियंस लीग से पहले बुंदेसलिगा और जर्मन कप भी जीता है।

बार्सिलोना भी 2 बार ट्रेबल पूरा कर चुका
बार्सिलोना ने इससे पहले 2008-09 में भी ट्रेबल पूरा किया था। इसके अलावा मैनचेस्टर यूनाइटेड (1998-99), बायर्न म्यूनिख (2012-13), इंटर मिलान (2009-10), सेल्टिक (1966-67), एएफसी अजाक्स (1971-72) और पीएसवी ईंधोवेन (1987-88) भी 1-1 बार ट्रेबल कर चुके हैं।

कोरोना के कारण बगैर दर्शकों के मैच हुआ। स्टेडियम के बार फैंस ने जमकर जश्न मनाया।

ट्रेबल किसे कहते हैं
एक सीजन में अगर कोई क्लब घरेलू लीग और कप के साथ चैम्पियंस लीग का खिताब जीतने में कामयाब रहता है, तो इसे ट्रेबल कहते हैं। यानी एक ही सीजन में तीन बड़े खिताब जीतने का रिकॉर्ड। इस लिहाज से यह क्लब फुटबॉल में बड़ी उपलब्धि होती है, क्योंकि एक सीजन में घरेलू लीग और घरेलू कप के साथ यूरोप की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग का खिताब जीतना आसान नहीं होता है।

नेमार पहली बार फाइनल में पहुंची अपनी पीएसजी टीम को चैम्पियन नहीं बना सके।

पीएसजी ने चैम्पियंस लीग के फाइनल में पहुंचने के लिए सबसे ज्यादा 110 मैच खेले थे। इससे पहले आर्सेनल ने 90 मैच के बाद 2006 में फाइनल खेला था। पीएसजी फाइनल में पहुंचने वाली फ्रांस की 5वीं टीम है। सबसे ज्यादा इंग्लैंड के 8, जर्मनी और इटली के 6-6 क्लब ऐसा कर चुके हैं।

यूईएफए चैम्पियंस लीग के फाइनल में फ्रेंच क्लब का प्रदर्शन

क्लब साल नतीजा
स्टेड डे रेम्स 1958-59 रियाल मैड्रिड ने हराया
सेंट एटिने 1975-76 बायर्न म्यूनिख से हारा
मार्सेल 1990-91 रेड स्टार बेलग्रेड ने शिकस्त दी
मार्सेल 1992-93 एसी मिलान को मात दी
एएस मोनाको 2003-04 एफसी पोर्टो से हारा
पीएसजी 2019-20 बायर्न म्यूनिख ने हराया
बायर्न के खिलाड़ी ट्रॉफी लेकर खाली स्टेडियम में जश्न मनाते हुए।

बायर्न लीग के एक सीजन में सबसे ज्यादा 43 गोल करने वाला दूसरा क्लब
यूईएफए रैंकिंग में दूसरे स्थान पर मौजूद बार्यन ने इस सीजन में सभी 11 मैच जीते हैं और सबसे ज्यादा 43 गोल किए। म्यूनिख के खिलाफ दूसरी टीमें सिर्फ 8 गोल ही कर पाईं हैं। फिलहाल, एक सीजन में सबसे ज्यादा 45 गोल करने का रिकॉर्ड बार्सिलोना के नाम है। बार्सिलोना ने 1999-2000 सीजन में 45, रियाल मैड्रिड ने 2013-14 में 41 और 2017-18 में लिवरपूल ने भी इतने ही गोल किए थे।

हेड-टू-हेड
चैम्पियंस लीग में अब तक पीएसजी और बायर्न म्यूनिख के बीच 9 मुकाबले हुए हैं। इसमें पीएसजी ने 5 और बायर्न म्यूनिख ने 4 जीते हैं। दोनों क्लब ने एकदूसरे के खिलाफ 12-12 गोल किए हैं।

पीएसजी की मार्केट वैल्यू बायर्न से ज्यादा
बायर्न पहली बार 1974 में चैम्पियन बना था, उस समय पीएसजी सिर्फ 4 साल पुराना क्लब था और फ्रेंच फुटबॉल के तीसरे टियर में खेलता था। अब पीएसजी स्क्वॉड मार्केट वैल्यू के मामले में बायर्न म्यूनिख से आगे है। पीएसजी की स्क्वॉड मार्केट वैल्यू 991 मिलियन यूरो (करीब 8760 करोड़) है, जबकि बायर्न म्यूनिख की 911 मिलियन यूरो (करीब 8050 करोड़) है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


बायर्न ने दूसरी बार ट्रेबल (एक सीजन में दो घरेलू और चैम्पियंस लीग खिताब जीतना) पूरा कर लिया है। ऐसा करने वाली बार्सिलोना के बाद दूसरी टीम बन गई है।

जर्मनी के फुटबॉल क्लब बायर्न म्यूनिख ने छठी बार यूईएफए चैम्पियंस लीग का खिताब जीत लिया। उसने फाइनल में फ्रांस के पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) को 1-0 से शिकस्त दी। चैम्पियंस लीग के इतिहास में एक सीजन में सभी 11 मैच जीतकर चैम्पियन बनने वाला बायर्न पहला क्लब है। बायर्न के लिए विजयी गोल किंग्सले कोमान ने हेडर से 59वें मिनट में दागा। यह गोल जोशुआ किमिच ने असिस्ट किया था। पीएसजी 50 साल में पहली बार फाइनल खेल रही थी, जबकि बायर्न 11वीं बार फाइनल में पहुंची थी। इस जर्मन टीम ने पिछला खिताब 2013 में जीता था। यह मैच पहले मिनट से ही काफी रोमांचक रहा है। पीएसजी के स्टार नेमार और किलियन एम्बाप्पे ने अपनी टीम को पहला खिताब जिताने की पूरी कोशिश की, लेकिन बायर्न ने उन्हें बांधे रखा। मैच का पहला हाफ बगैर गोल के बराबरी पर रहा था। 6 – FC Bayern München have won the European Cup/Champions League for a sixth time (level with Liverpool) and for the first time since 2012-13. Only Real Madrid (13) and AC Milan (7) have been crowned champions on more occasions. Peak. #PSGFCB #UCLfinal pic.twitter.com/a8bhDyHe6K — OptaJoe (@OptaJoe) August 23, 2020 बायर्न के पास 62% पजेशन रही मैच में बायर्न के पास सबसे ज्यादा 62% और पीएसजी के पास 38% पजेशन रही। हालांकि, सबसे ज्यादा 22 फाउल भी बायर्न ने ही किए। पीएसजी के खिलाड़ियों ने 16 ही फाउल किए थे। दोनों टीमों के 4-4 प्लेयर्स को येलो कार्ड मिला। कॉर्नर के मामले में भी दोनों टीमें 4-4 के साथ बराबर पर रहीं। बायर्न म्यूनिख के लिए अकेला विजयी गोल किंग्सले कोमान ने 59वें मिनट में हेडर से किया।बायर्न के लिए अकेला विजयी गोल किंग्सले कोमान ने 59वें मिनट में हेडर से किया। वे चैम्पियंस लीग फाइनल में गोल करने वाले फ्रांस के 5वें खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले करीम बेंजेमा (2018), जिनेदिन जिदान (2002), मार्सेल डेसेली (1994) और बेसिले बोली (1993) में ऐसा कर चुके हैं। बायर्न लीग के इतिहास में 500 गोल करने वाली तीसरी टीम बनी बायर्न ने चैम्पियंस लीग में अपने 500 गोल पूरे कर लिए हैं। वह लीग के इतिहास में ऐसा करने वाली तीसरी टीम बन गई है। इससे पहले रियाल मैड्रिड ने सबसे ज्यादा 567 और बार्सिलोना ने 517 गोल किए हैं। बायर्न के डेविड अलाबा ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ वाली टी-शर्ट पहनकर घुटने के बल बैठे।मैच के बाद बायर्न के डिफेंडर डेविड अलाबा ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ वाली टी-शर्ट पहनकर घुटने के बल बैठे। इस तरह उन्होंने रंगभेद के खिलाफ चल रहे अभियान का समर्थन किया। इससे पहले भी कई फुटबॉल और क्रिकेट समेत कई स्पोर्ट्स टूर्नामेंट में भी खिलाड़ी इस तरह की टी-शर्ट पहनकर घुटने टेकते नजर आए हैं। इसी साल मई में अमेरिका में पुलिस की बर्बरता के कारण अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (46) की मौत हो गई थी। इसके बाद से दुनियाभर में रंगभेद के खिलाफ ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ मूवमेंट चल रहा है। लेवनडॉस्की एक सीजन में 15 गोल करने वाले दूसरे खिलाड़ी बायर्न के रॉबर्ट लेवनडॉस्की किसी एक सीजन में 15 या उससे ज्यादा गोल करने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं। उनसे पहले क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने सबसे ज्यादा 17 गोल 2013-14 में, 2015-16 में 16 और 2017-18 में 15 गोल किए हैं। नाबरी भी इस सीजन में गोल करने के मामले में तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने 9 गोल किए हैं। इसमें सेमीफाइनल में लियोन के खिलाफ उनके 2 गोल भी हैं। 1 – Robert Lewandowski scored 55 goals for FC Bayern München in 2019-20 – 16 more than any other player across Europe’s top five leagues in all competitions. Clinical. #PSGFCB #UCLfinal pic.twitter.com/bmzYDPH8q4 — OptaJoe (@OptaJoe) August 23, 2020बायर्न ने दूसरी बार ट्रेबल पूरा किया, बार्सिलोना के बाद दूसरी टीम बनी बायर्न ने दूसरी बार ट्रेबल (दो घरेलू और चैम्पियंस लीग जीतने वाली टीम) पूरा कर लिया है। फुटबॉल इतिहास में दूसरी बार ऐसा करने वाली बार्सिलोना के बाद बायर्न दूसरी टीम बन गई है। इससे पहले बायर्न ने भी 2012-13 में यह उपलब्धि हासिल की थी। बायर्न ने इस बार चैम्पियंस लीग से पहले बुंदेसलिगा और जर्मन कप भी जीता है। बार्सिलोना भी 2 बार ट्रेबल पूरा कर चुका बार्सिलोना ने इससे पहले 2008-09 में भी ट्रेबल पूरा किया था। इसके अलावा मैनचेस्टर यूनाइटेड (1998-99), बायर्न म्यूनिख (2012-13), इंटर मिलान (2009-10), सेल्टिक (1966-67), एएफसी अजाक्स (1971-72) और पीएसवी ईंधोवेन (1987-88) भी 1-1 बार ट्रेबल कर चुके हैं। कोरोना के कारण बगैर दर्शकों के मैच हुआ। स्टेडियम के बार फैंस ने जमकर जश्न मनाया।ट्रेबल किसे कहते हैं एक सीजन में अगर कोई क्लब घरेलू लीग और कप के साथ चैम्पियंस लीग का खिताब जीतने में कामयाब रहता है, तो इसे ट्रेबल कहते हैं। यानी एक ही सीजन में तीन बड़े खिताब जीतने का रिकॉर्ड। इस लिहाज से यह क्लब फुटबॉल में बड़ी उपलब्धि होती है, क्योंकि एक सीजन में घरेलू लीग और घरेलू कप के साथ यूरोप की सबसे बड़ी फुटबॉल लीग का खिताब जीतना आसान नहीं होता है। नेमार पहली बार फाइनल में पहुंची अपनी पीएसजी टीम को चैम्पियन नहीं बना सके।पीएसजी ने चैम्पियंस लीग के फाइनल में पहुंचने के लिए सबसे ज्यादा 110 मैच खेले थे। इससे पहले आर्सेनल ने 90 मैच के बाद 2006 में फाइनल खेला था। पीएसजी फाइनल में पहुंचने वाली फ्रांस की 5वीं टीम है। सबसे ज्यादा इंग्लैंड के 8, जर्मनी और इटली के 6-6 क्लब ऐसा कर चुके हैं। यूईएफए चैम्पियंस लीग के फाइनल में फ्रेंच क्लब का प्रदर्शन क्लब साल नतीजा स्टेड डे रेम्स 1958-59 रियाल मैड्रिड ने हराया सेंट एटिने 1975-76 बायर्न म्यूनिख से हारा मार्सेल 1990-91 रेड स्टार बेलग्रेड ने शिकस्त दी मार्सेल 1992-93 एसी मिलान को मात दी एएस मोनाको 2003-04 एफसी पोर्टो से हारा पीएसजी 2019-20 बायर्न म्यूनिख ने हराया बायर्न के खिलाड़ी ट्रॉफी लेकर खाली स्टेडियम में जश्न मनाते हुए।बायर्न लीग के एक सीजन में सबसे ज्यादा 43 गोल करने वाला दूसरा क्लब यूईएफए रैंकिंग में दूसरे स्थान पर मौजूद बार्यन ने इस सीजन में सभी 11 मैच जीते हैं और सबसे ज्यादा 43 गोल किए। म्यूनिख के खिलाफ दूसरी टीमें सिर्फ 8 गोल ही कर पाईं हैं। फिलहाल, एक सीजन में सबसे ज्यादा 45 गोल करने का रिकॉर्ड बार्सिलोना के नाम है। बार्सिलोना ने 1999-2000 सीजन में 45, रियाल मैड्रिड ने 2013-14 में 41 और 2017-18 में लिवरपूल ने भी इतने ही गोल किए थे। हेड-टू-हेड चैम्पियंस लीग में अब तक पीएसजी और बायर्न म्यूनिख के बीच 9 मुकाबले हुए हैं। इसमें पीएसजी ने 5 और बायर्न म्यूनिख ने 4 जीते हैं। दोनों क्लब ने एकदूसरे के खिलाफ 12-12 गोल किए हैं। पीएसजी की मार्केट वैल्यू बायर्न से ज्यादा बायर्न पहली बार 1974 में चैम्पियन बना था, उस समय पीएसजी सिर्फ 4 साल पुराना क्लब था और फ्रेंच फुटबॉल के तीसरे टियर में खेलता था। अब पीएसजी स्क्वॉड मार्केट वैल्यू के मामले में बायर्न म्यूनिख से आगे है। पीएसजी की स्क्वॉड मार्केट वैल्यू 991 मिलियन यूरो (करीब 8760 करोड़) है, जबकि बायर्न म्यूनिख की 911 मिलियन यूरो (करीब 8050 करोड़) है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

बायर्न ने दूसरी बार ट्रेबल (एक सीजन में दो घरेलू और चैम्पियंस लीग खिताब जीतना) पूरा कर लिया है। ऐसा करने वाली बार्सिलोना के बाद दूसरी टीम बन गई है।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *