18 घंटे बाद मलबे से बचाया गया 5 साल का बच्चा; अब तक 13 की मौत, 16 अभी भी फंसे; 5 लोगों पर केस दर्जDainik Bhaskar


महाराष्ट्र के रायगढ़ में इमारत गिरने की घटना में मरने वालों की संख्या 13 हो गई है। अब तक नौ लोगों को बचा लिया गया है। वहीं, मंगलवार को इमारत के मलबे से 18 घंटे बाद 5 साल के बच्चे को सही सलामत बाहर निकाला गया। बच्चे का नाम मो.बांगी है। फिलहाल, बच्चे की हालत ठीक है। उसे एहतियात के तौर पर हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। एनडीआरएफ के एक अधिकारी ने बताया कि यह बच्चा एक पिलर के किनारे था। ऐसे में मलबा सीधे उस पर नहीं गिरा और वह सुरक्षित रहा।

अधिकारी ने यह भी बताया कि करीब 18 घंटे तक चारों तरफ से मलबे से घिरे रहने के बाद बच्चे का सुरक्षित रहना किसी करिश्मे से कम नहीं है। उन्होंने बताया कि रेस्क्यू के दौरान दो जवानों ने बच्चे को देखा और उसे बाहर निकाला। बच्चे के माता-पिता के बारे में अभी कुछ भी पता नहीं चला है। रायगढ़ में सोमवार शाम करीब 7 बजे के आसपास इमारत गिरी थी। तब से लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। मंगलवार दोपहर 1 बजे मलबे में फंसे 5 साल के एक बच्चे को सही सलामत बाहर निकाला गया।

रायगढ़ जिला कलेक्टर निधि चौधरी ने बताया कि इस घटना को लेकर रायगढ़ पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें बिल्डिंग का मालिक भी शामिल है। मारे गए 5 लोगों में से एक ने हार्टअटैक के बाद हॉस्पिटल में दम तोड़ा है। उन्होंने कहा कि 16 लोग अभी भी फंसे हुए हैं।

कैमरे की सहायता से मलबे में फंसे लोगों का पता लगाया

पीएम कार्यालय की ओर से किया गया ट्वीट:

रेस्क्यू ऑपरेशन में एनडीआरएफ की 3 टीमें जुटी हैं
मलबे से एक बुजुर्ग महिला को निकालते एनडीआरएफ के जवान।
अपनों को खोने का दर्द।
हादसे के बाद से रेस्क्यू ऑपरेशन चल रह है। यह एक दिन और चल सकता है।
पांच मंजिला इमारत गिरने से आसपास के कुछ घरों को भी नुकसान हुआ।
मलबे में अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका है।
यह इमारत की पुरानी तस्वीर है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


इमारत के मलबे से बच्चे को मंगलवार दोपहर एक बजे बाहर निकाला गया। पांच मंजिला यह इमारत सोमवार को शाम करीब 7 बजे गिरी थी।

महाराष्ट्र के रायगढ़ में इमारत गिरने की घटना में मरने वालों की संख्या 13 हो गई है। अब तक नौ लोगों को बचा लिया गया है। वहीं, मंगलवार को इमारत के मलबे से 18 घंटे बाद 5 साल के बच्चे को सही सलामत बाहर निकाला गया। बच्चे का नाम मो.बांगी है। फिलहाल, बच्चे की हालत ठीक है। उसे एहतियात के तौर पर हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। एनडीआरएफ के एक अधिकारी ने बताया कि यह बच्चा एक पिलर के किनारे था। ऐसे में मलबा सीधे उस पर नहीं गिरा और वह सुरक्षित रहा। अधिकारी ने यह भी बताया कि करीब 18 घंटे तक चारों तरफ से मलबे से घिरे रहने के बाद बच्चे का सुरक्षित रहना किसी करिश्मे से कम नहीं है। उन्होंने बताया कि रेस्क्यू के दौरान दो जवानों ने बच्चे को देखा और उसे बाहर निकाला। बच्चे के माता-पिता के बारे में अभी कुछ भी पता नहीं चला है। रायगढ़ में सोमवार शाम करीब 7 बजे के आसपास इमारत गिरी थी। तब से लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। मंगलवार दोपहर 1 बजे मलबे में फंसे 5 साल के एक बच्चे को सही सलामत बाहर निकाला गया। रायगढ़ जिला कलेक्टर निधि चौधरी ने बताया कि इस घटना को लेकर रायगढ़ पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें बिल्डिंग का मालिक भी शामिल है। मारे गए 5 लोगों में से एक ने हार्टअटैक के बाद हॉस्पिटल में दम तोड़ा है। उन्होंने कहा कि 16 लोग अभी भी फंसे हुए हैं। कैमरे की सहायता से मलबे में फंसे लोगों का पता लगायापीएम कार्यालय की ओर से किया गया ट्वीट: Saddened by the building collapse in Mahad, Raigad in Maharashtra. My thoughts are with the families of those who lost their dear ones. I pray the injured recover soon. Local authorities and NDRF teams are at the site of the tragedy, providing all possible assistance: PM — PMO India (@PMOIndia) August 25, 2020रेस्क्यू ऑपरेशन में एनडीआरएफ की 3 टीमें जुटी हैंमलबे से एक बुजुर्ग महिला को निकालते एनडीआरएफ के जवान।अपनों को खोने का दर्द।हादसे के बाद से रेस्क्यू ऑपरेशन चल रह है। यह एक दिन और चल सकता है।पांच मंजिला इमारत गिरने से आसपास के कुछ घरों को भी नुकसान हुआ।मलबे में अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका है।यह इमारत की पुरानी तस्वीर है।आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

इमारत के मलबे से बच्चे को मंगलवार दोपहर एक बजे बाहर निकाला गया। पांच मंजिला यह इमारत सोमवार को शाम करीब 7 बजे गिरी थी।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *