एनआईए ने कहा- हमले से पहले जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर के बैंक अकाउंट में डाले गए थे पैसे, जिससे आतंकियों ने कार और विस्फोटक खरीदेDainik Bhaskar


पुलवामा आतंकी हमले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की चार्जशीट में टेरर फंडिंग को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। एनआईए ने चार्जशीट में बताया कि फरवरी 2019 में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) चीफ मसूद अजहर के भतीजे मोहम्मद उमर फारुख को उसके पाकिस्तान के बैंक अकाउंट में 10 लाख रुपए मिले थे।

एनआईए ने जांच में पाया कि पाकिस्तानी करेंसी में 10 लाख रुपए फारुख के 3 बैंक अकाउंट में जमा किए गए। ये अकाउंट पाकिस्तान के अलाइड बैंक और मेजान बैंक में थे। आत्मघाती हमले के मुख्य आरोपी फारुख को बाद में सुरक्षा बलों ने एनकाउंटर में मार गिराया था।

पिछले साल जनवरी-फरवरी के बीच जमा हुए थे पैसे
एनआईए की ओर से मंगलवार को दाखिल की गई चार्जशीट के मुताबिक, आतंकियों ने विस्फोटक और मारूति ईको कार खरीदने के लिए करीब 6 लाख रुपए खर्च किए। करीब 2.80 लाख रुपए का इस्तेमाल अमोनियम नाइट्रेट सहित 200 किलो विस्फोटक खरीदने में किया गया। यह पैसे पिछले साल जनवरी-फरवरी के बीच आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडरों की ओर से जमा कराए गए थे।

एनआईए ने बताया कि 200 किलो विस्फोटक में पाकिस्तान से लाया गया आरडीएक्स, मुद्दसिर अहमद द्वारा खरीदी गई जिलेटिन की छड़ें, वाजी-उल-इस्लाम द्वारा ऑनलाइन मंगाया गया 4 किलो अमोनियम नाइट्रेट और कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट शामिल है। हमले को अंजाम देने के लिए आईईडी को कार में 160 किलो और 40 किलो के 2 कंटेनरों के फिट किया गया था।

आतंकी ने अपने घर में रखे थे विस्फोटक
एनआईए ने कहा कि चार्जशीट में आरोपी बनाए गए शाकिर बशीर ने विस्फोटक-आरडीएक्स, जिलेटिन की छड़ें, एल्युमिनियम पाउडर और कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट को कथित तौर पर जमा किया और आईईडी बनाने के लिए अपने घर पर ही रखा। आतंकियों ने 2.5 लाख रुपए दूसरी कार खरीदने और उसे मोडिफाई करने में खर्च किए, जिनमें कार में फिट किया गया कंटेनर भी शामिल है।

एनआईए ने 13,500 पेज की चार्जशीट दाखिल की
नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने मंगलवार को 2019 के पुलवामा आतंकी हमले के मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी है। एनआईए ने 13,500 पेज की चार्जशीट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) चीफ मसूद अजहर समेत 19 लोगों को आरोपी बनाया है। इनमें 7 पाकिस्तानी हैं। अजहर, उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर अल्वी, अम्मार अल्वी और भतीजा उमर फारुख मास्टरमाइंड बताए गए हैं।

भारत के 40 जवान हुए थे शहीद
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बीते साल 14 फरवरी को सीआरपीएफ के एक काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने आतंकी हमला किया था। इसमें 40 जवान शहीद हुए थे। इसके करीब 12 दिन बाद भारत ने बालाकोट में घुसकर एयरस्ट्राइक की थी।

पुलवामा हमले में शामिल रहे ये 6 आतंकी मारे जा चुके हैं
1. आदिल अहमद डार
2. मुद्दस्सिर अहमद खान
3. मोहम्मद उमर फारुख
4. मोहम्मद कामरान अली
5. सज्जाद अहमद भट
6. कारी यासिर

ये भी पढ़ सकते हैं…

पुलवामा हमले में चार्जशीट, आतंकी आदिल की पहचान डीएनए से हुई थी; जैश दूसरे हमले की तैयारी में था, लेकिन एयरस्ट्राइक की वजह से डर गया

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


एनआईए ने 13,500 पेज की चार्जशीट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) चीफ मसूद अजहर समेत 19 लोगों को आरोपी बनाया है। – प्रतीकात्मक फोटो

पुलवामा आतंकी हमले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की चार्जशीट में टेरर फंडिंग को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। एनआईए ने चार्जशीट में बताया कि फरवरी 2019 में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) चीफ मसूद अजहर के भतीजे मोहम्मद उमर फारुख को उसके पाकिस्तान के बैंक अकाउंट में 10 लाख रुपए मिले थे। एनआईए ने जांच में पाया कि पाकिस्तानी करेंसी में 10 लाख रुपए फारुख के 3 बैंक अकाउंट में जमा किए गए। ये अकाउंट पाकिस्तान के अलाइड बैंक और मेजान बैंक में थे। आत्मघाती हमले के मुख्य आरोपी फारुख को बाद में सुरक्षा बलों ने एनकाउंटर में मार गिराया था। पिछले साल जनवरी-फरवरी के बीच जमा हुए थे पैसे एनआईए की ओर से मंगलवार को दाखिल की गई चार्जशीट के मुताबिक, आतंकियों ने विस्फोटक और मारूति ईको कार खरीदने के लिए करीब 6 लाख रुपए खर्च किए। करीब 2.80 लाख रुपए का इस्तेमाल अमोनियम नाइट्रेट सहित 200 किलो विस्फोटक खरीदने में किया गया। यह पैसे पिछले साल जनवरी-फरवरी के बीच आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडरों की ओर से जमा कराए गए थे। एनआईए ने बताया कि 200 किलो विस्फोटक में पाकिस्तान से लाया गया आरडीएक्स, मुद्दसिर अहमद द्वारा खरीदी गई जिलेटिन की छड़ें, वाजी-उल-इस्लाम द्वारा ऑनलाइन मंगाया गया 4 किलो अमोनियम नाइट्रेट और कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट शामिल है। हमले को अंजाम देने के लिए आईईडी को कार में 160 किलो और 40 किलो के 2 कंटेनरों के फिट किया गया था। आतंकी ने अपने घर में रखे थे विस्फोटक एनआईए ने कहा कि चार्जशीट में आरोपी बनाए गए शाकिर बशीर ने विस्फोटक-आरडीएक्स, जिलेटिन की छड़ें, एल्युमिनियम पाउडर और कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट को कथित तौर पर जमा किया और आईईडी बनाने के लिए अपने घर पर ही रखा। आतंकियों ने 2.5 लाख रुपए दूसरी कार खरीदने और उसे मोडिफाई करने में खर्च किए, जिनमें कार में फिट किया गया कंटेनर भी शामिल है। एनआईए ने 13,500 पेज की चार्जशीट दाखिल की नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने मंगलवार को 2019 के पुलवामा आतंकी हमले के मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी है। एनआईए ने 13,500 पेज की चार्जशीट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) चीफ मसूद अजहर समेत 19 लोगों को आरोपी बनाया है। इनमें 7 पाकिस्तानी हैं। अजहर, उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर अल्वी, अम्मार अल्वी और भतीजा उमर फारुख मास्टरमाइंड बताए गए हैं। भारत के 40 जवान हुए थे शहीद जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बीते साल 14 फरवरी को सीआरपीएफ के एक काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने आतंकी हमला किया था। इसमें 40 जवान शहीद हुए थे। इसके करीब 12 दिन बाद भारत ने बालाकोट में घुसकर एयरस्ट्राइक की थी। पुलवामा हमले में शामिल रहे ये 6 आतंकी मारे जा चुके हैं 1. आदिल अहमद डार 2. मुद्दस्सिर अहमद खान 3. मोहम्मद उमर फारुख 4. मोहम्मद कामरान अली 5. सज्जाद अहमद भट 6. कारी यासिर ये भी पढ़ सकते हैं… पुलवामा हमले में चार्जशीट, आतंकी आदिल की पहचान डीएनए से हुई थी; जैश दूसरे हमले की तैयारी में था, लेकिन एयरस्ट्राइक की वजह से डर गया आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

एनआईए ने 13,500 पेज की चार्जशीट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) चीफ मसूद अजहर समेत 19 लोगों को आरोपी बनाया है। – प्रतीकात्मक फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *