रेलवे अनलॉक-4 में जल्द ही 100 और ट्रेनें चलाने की तैयारी कर रहा, मौजूदा समय में 230 स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रहींDainik Bhaskar


लोगों की सुविधा के लिए रेल मंत्रालय जल्द ही और स्पेशल ट्रेनें चलाने की तैयारी कर रहा है। अनलॉक-4 की गाइडलाइन जारी होने के तीन दिन बाद भारतीय रेलवे ने मंगलवार को कहा कि इसके लिए राज्य सरकारों से सलाह ली जा रही है। कितनी ट्रेनें और चलाई जाएंगी, यह राज्यों की मांग पर निर्भर करेगा।

रेल मंत्रालय के सीनियर अधिकारी के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि रेलवे आने वाले दिनों में 100 और ट्रेनें चलाने की योजना पर काम कर रहा है। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते रेलवे ने 25 मार्च से ही सभी पैसेंजर, मेल और एक्सप्रेस ट्रेन सर्विस को रद्द कर दिया था।

1 मई से चलाई गई थीं श्रमिक स्पेशल ट्रेनें
रेलवे ने श्रमिकों के लिए 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई थीं। इनके जरिए देश भर के श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाया गया था। रेलवे ने बताया था कि श्रमिक ट्रेनों का 85% खर्च केंद्र उठा रहा है। 15% खर्च किराए के रूप में राज्य दे रहे हैं।

7 सितंबर से शुरू होगी मेट्रो
रेलवे ने 12 मई से 15 जोड़ी एयर कंडिशन ट्रेनें और 1 जून से 100 जोड़ी टाइम टेबल्ड ट्रेनें चलाने का फैसला किया था। पिछले हफ्ते ही भारत सरकार ने 7 सितंबर से मेट्रो सर्विस शुरू करने की इजाजत दी थी। जल्द ही स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से एसओपी भी जारी की जाएगी। जिसमें मेट्रो ट्रेन को लेकर जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे।

ये भी पढ़ सकते हैं…

1. कोरोना की वजह से अगले आदेश तक बंद रहेगी रेगुलर ट्रेन सर्विस; अभी सिर्फ 230 स्पेशल ट्रेनों से ही हो सकेगा सफर

2. पांच ग्राफिक में समझें भारतीय रेलवे के निजीकरण का प्लान, तीन साल में दौड़ेंगी 151 प्राइवेट ट्रेनें

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


रेलवे ने 12 मई से 15 जोड़ी एयर कंडिशन ट्रेनें और 1 जून से 100 जोड़ी टाइम टेबल्ड ट्रेनें चलाने का फैसला किया था।

लोगों की सुविधा के लिए रेल मंत्रालय जल्द ही और स्पेशल ट्रेनें चलाने की तैयारी कर रहा है। अनलॉक-4 की गाइडलाइन जारी होने के तीन दिन बाद भारतीय रेलवे ने मंगलवार को कहा कि इसके लिए राज्य सरकारों से सलाह ली जा रही है। कितनी ट्रेनें और चलाई जाएंगी, यह राज्यों की मांग पर निर्भर करेगा। रेल मंत्रालय के सीनियर अधिकारी के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि रेलवे आने वाले दिनों में 100 और ट्रेनें चलाने की योजना पर काम कर रहा है। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते रेलवे ने 25 मार्च से ही सभी पैसेंजर, मेल और एक्सप्रेस ट्रेन सर्विस को रद्द कर दिया था। 1 मई से चलाई गई थीं श्रमिक स्पेशल ट्रेनें रेलवे ने श्रमिकों के लिए 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई थीं। इनके जरिए देश भर के श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाया गया था। रेलवे ने बताया था कि श्रमिक ट्रेनों का 85% खर्च केंद्र उठा रहा है। 15% खर्च किराए के रूप में राज्य दे रहे हैं। 7 सितंबर से शुरू होगी मेट्रो रेलवे ने 12 मई से 15 जोड़ी एयर कंडिशन ट्रेनें और 1 जून से 100 जोड़ी टाइम टेबल्ड ट्रेनें चलाने का फैसला किया था। पिछले हफ्ते ही भारत सरकार ने 7 सितंबर से मेट्रो सर्विस शुरू करने की इजाजत दी थी। जल्द ही स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से एसओपी भी जारी की जाएगी। जिसमें मेट्रो ट्रेन को लेकर जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे। ये भी पढ़ सकते हैं… 1. कोरोना की वजह से अगले आदेश तक बंद रहेगी रेगुलर ट्रेन सर्विस; अभी सिर्फ 230 स्पेशल ट्रेनों से ही हो सकेगा सफर 2. पांच ग्राफिक में समझें भारतीय रेलवे के निजीकरण का प्लान, तीन साल में दौड़ेंगी 151 प्राइवेट ट्रेनें आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

रेलवे ने 12 मई से 15 जोड़ी एयर कंडिशन ट्रेनें और 1 जून से 100 जोड़ी टाइम टेबल्ड ट्रेनें चलाने का फैसला किया था।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *