सड़क के गड्ढों में पंक्चर के लिए ट्यूब का लीकेज चेक कर लेता है मिस्त्री; नर्मदा का जलस्तर घटा, पर लोग अब भी तंबुओं मेंDainik Bhaskar


इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर भादों की बारिश और भारी वाहनों की लगातार आवाजाही भारी पड़ गई। इसके चलते सड़क पर जगह-जगह सैकड़ों गड्ढे हो गए हैं। पंक्चर बनाने वाले गड्ढों में ही ट्यूब का लीकेज चेक कर रहे हैं। कुछ जगह तो सड़क की हालत इतनी खराब है कि वाहनों के आधे पहिए समा जाएं। इस दौरान ट्रक पलटने की घटनाएं भी हो रही हैं। हालांकि, इंदौर से बोरगांव तक के लिए 3000 करोड़ और बोरगांव से अकोला तक फोरलेन बनाने पर 3800 करोड़ रुपए खर्च होना है, लेकिन अभी तो गड्‌ढे भरवाना ही पड़ेंगे। फोटो खंडवा के सनावद क्षेत्र की है।

गाइडलाइन के अनुसार विसर्जन

सोमवार को गणेश विसर्जन को लेकर भक्तों में उत्साह देखने को मिला। बठिंडा जिले में बढ़ते कोरोना के केस के चलते प्रशासन ने गाइडलाइन जारी की थी, लिहाजा लोगों की भीड़ देखने को नहीं मिली। सरहिंद नहर पर लोग बारी-बारी से भगवान गणेश की प्रतिमा का विसर्जन करने पहुंचे।

11 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा, भरूच में बाढ़

गुजरात में लगातार बारिश जारी है। वडोदरा में विश्वामित्री, भरूच में नर्मदा और सौराष्ट्र के पोरबंदर स्थित पंथक में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। इसकी वजह से एनडीआरएफ की टीम को अलर्ट पर रखा गया है। नर्मदा डेम से 11 लाख क्यूसेक पानी छोड़ने से भरूच में बाढ़ की स्थिति बन गई है। एनडीआरएफ की दो टीमों को लगाया गया है। वहीं, 30 गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया। जहां से लगभग 4977 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया। भरूच के भाडभूत गांव में बोट से आ रहे पांच लोगों को एनडीआरएफ टीम ने बचाया। इन लोगों की बोट रास्ते में फंस गई थी।

नर्मदा का जलस्तर घटा

फोटो मध्यप्रदेश के देवास जिले के नेमावर की है। यहां 3 वार्डों में अभी भी पानी भरा हुआ है। हालांकि नर्मदा का जलस्तर कम होकर 894 फीट पर पहुंच गया है। नेमावर में बाढ़ का पानी उतरने के बाद लोगों ने सड़क पर तंबू लगाकर रहना शुरू कर दिया है।

बेदला पुलिया के ऊपर से बहा पानी

सोमवार को राजस्थान के उदयपुर जिले के बेदला की पुलिया के ऊपर से पानी बहने लगा। महिलाओं ने नदी पर पूजा कर नए पानी का स्वागत किया। लोगों ने नदी की रपट पर बनी रेलिंग के टूटने पर भी चिंता जताई। एक स्थानीय ने बताया कि पिछले साल तेज बारिश के बाद नदी में उफान से रेलिंग टूट गई थी। कई बार शिकायत भी की, लेकिन अभी तक काम शुरू नहीं हो पाया।

चालान काटकर मुफ्त मास्क दिए

मध्यप्रदेश के शिवपुरी में अभी भी कई लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को चार स्थानों पर चेकिंग पॉइंट लगाकर चालानी कार्रवाई की। बिना मास्क लगाए 75 लोगों का 100-100 रु. का चालान काटा और मुफ्त में मास्क दिए।

इंद्रधनुष ने कुंड की सुंदरता में चार चांद लगाए

इन दिनों पन्ना जिले के अजयगढ़ रोड पर स्थित बृहस्पति कुंड का झरना आसपास के जिले के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। अब इस स्थान का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। कलेक्टर इस स्थान का निरीक्षण भी कर चुके हैं। सोमवार को झरने पर पहुंचे लोगों को फुहारों से बना इंद्रधनुष जमीन की कुछ ऊंचाई पर देखने को मिला।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


So much pothole on the road that shopkeeper checks leakage of tube here after making puncture, Narmada water level decreases in Madhya Pradesh after heavy rains

इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर भादों की बारिश और भारी वाहनों की लगातार आवाजाही भारी पड़ गई। इसके चलते सड़क पर जगह-जगह सैकड़ों गड्ढे हो गए हैं। पंक्चर बनाने वाले गड्ढों में ही ट्यूब का लीकेज चेक कर रहे हैं। कुछ जगह तो सड़क की हालत इतनी खराब है कि वाहनों के आधे पहिए समा जाएं। इस दौरान ट्रक पलटने की घटनाएं भी हो रही हैं। हालांकि, इंदौर से बोरगांव तक के लिए 3000 करोड़ और बोरगांव से अकोला तक फोरलेन बनाने पर 3800 करोड़ रुपए खर्च होना है, लेकिन अभी तो गड्‌ढे भरवाना ही पड़ेंगे। फोटो खंडवा के सनावद क्षेत्र की है। गाइडलाइन के अनुसार विसर्जन सोमवार को गणेश विसर्जन को लेकर भक्तों में उत्साह देखने को मिला। बठिंडा जिले में बढ़ते कोरोना के केस के चलते प्रशासन ने गाइडलाइन जारी की थी, लिहाजा लोगों की भीड़ देखने को नहीं मिली। सरहिंद नहर पर लोग बारी-बारी से भगवान गणेश की प्रतिमा का विसर्जन करने पहुंचे। 11 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा, भरूच में बाढ़ गुजरात में लगातार बारिश जारी है। वडोदरा में विश्वामित्री, भरूच में नर्मदा और सौराष्ट्र के पोरबंदर स्थित पंथक में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। इसकी वजह से एनडीआरएफ की टीम को अलर्ट पर रखा गया है। नर्मदा डेम से 11 लाख क्यूसेक पानी छोड़ने से भरूच में बाढ़ की स्थिति बन गई है। एनडीआरएफ की दो टीमों को लगाया गया है। वहीं, 30 गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया। जहां से लगभग 4977 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया। भरूच के भाडभूत गांव में बोट से आ रहे पांच लोगों को एनडीआरएफ टीम ने बचाया। इन लोगों की बोट रास्ते में फंस गई थी। नर्मदा का जलस्तर घटा फोटो मध्यप्रदेश के देवास जिले के नेमावर की है। यहां 3 वार्डों में अभी भी पानी भरा हुआ है। हालांकि नर्मदा का जलस्तर कम होकर 894 फीट पर पहुंच गया है। नेमावर में बाढ़ का पानी उतरने के बाद लोगों ने सड़क पर तंबू लगाकर रहना शुरू कर दिया है। बेदला पुलिया के ऊपर से बहा पानी सोमवार को राजस्थान के उदयपुर जिले के बेदला की पुलिया के ऊपर से पानी बहने लगा। महिलाओं ने नदी पर पूजा कर नए पानी का स्वागत किया। लोगों ने नदी की रपट पर बनी रेलिंग के टूटने पर भी चिंता जताई। एक स्थानीय ने बताया कि पिछले साल तेज बारिश के बाद नदी में उफान से रेलिंग टूट गई थी। कई बार शिकायत भी की, लेकिन अभी तक काम शुरू नहीं हो पाया। चालान काटकर मुफ्त मास्क दिए मध्यप्रदेश के शिवपुरी में अभी भी कई लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को चार स्थानों पर चेकिंग पॉइंट लगाकर चालानी कार्रवाई की। बिना मास्क लगाए 75 लोगों का 100-100 रु. का चालान काटा और मुफ्त में मास्क दिए। इंद्रधनुष ने कुंड की सुंदरता में चार चांद लगाए इन दिनों पन्ना जिले के अजयगढ़ रोड पर स्थित बृहस्पति कुंड का झरना आसपास के जिले के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। अब इस स्थान का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। कलेक्टर इस स्थान का निरीक्षण भी कर चुके हैं। सोमवार को झरने पर पहुंचे लोगों को फुहारों से बना इंद्रधनुष जमीन की कुछ ऊंचाई पर देखने को मिला। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

So much pothole on the road that shopkeeper checks leakage of tube here after making puncture, Narmada water level decreases in Madhya Pradesh after heavy rainsRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *