कोविड-19 से बचने के लिए कारगर बताई जा रही वायरल लिस्ट की दवाएं, एक्सपर्ट ने बताया – इस लिस्ट को सच मानकर दवाएं लेना जानलेवा हो सकता हैDainik Bhaskar


क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर दवाइयों की एक लिस्ट वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि ये दवाइयां कोविड-19 से संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले लोगों के लिए कारगर हैं।

हमारी फैक्ट चेक टीम के वॉट्सएप नंबर पर भी कई रीडर्स ने यह लिस्ट पड़ताल के लिए भेजी।

और सच क्या है ?

  • देश की शीर्ष रिसर्च संस्था ICMR की ऑफिशियल वेबसाइट पर हमें ऐसी कोई लिस्ट नहीं मिली। हमने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट भी चेक की। वहां भी कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले मरीजों के लिए दवाओं की अलग से कोई लिस्ट जारी नहीं की गई है।
  • जब स्पष्ट हो गया कि वायरल हो रही लिस्ट किसी जिम्मेदार संस्था ने जारी नहीं की है। तो हमने पड़ताल के अगले चरण में यह पता लगाना शुरू किया कि आखिर लिस्ट में शामिल दवाएं कितनी कारगर हैं। इसके लिए हमने डायबेटोलॉजिस्ट डॉ. राजेश अग्रवाल से संपर्क किया।
  • डॉ. राजेश अग्रवाल ने लिस्ट में दी गई हर एक दवा के उपयोग के बारे में बताया। साथ ही यह भी बताया कि इनका कोविड-19 के इलाज से कितना संबंध है।
  • वायरल लिस्ट में सबसे पहले हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट को सभी के लिए खाना अनिवार्य बताया गया है। जबकि इस टैबलेट को खाने के बाद उल्टी होना, एसिडिटी और चक्कर आने जैसे साइड इफेक्ट सामने आ चुके हैं। लिहाजा इसे बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए।
  • लिस्ट में दूसरे नंबर पर नाम है विटामिन सी, विटामिन डी और जिंक टैबलेट का। यह तीनों इम्युनिटी बढ़ाने या फिर विटामिन की कमी होने पर दी जाने वाली सामान्य टैबलेट हैं। अगर इनके लेने से कोई खास फायदा नहीं है तो कोई नुकसान भी नहीं है।
  • बुखार, गले में खराश और खांसी के लिए दी गई दवाएं सही हैं। इन दवाओं के कोई गंभीर साइड इफेक्ट भी नहीं हैं।
  • सांस लेने की तकलीफ होने पर लिस्ट में DEXONA टैबलेट लेने की सलाह दी गई है। यह सांस की तकलीफ के लिए ली जाने वाली कारगर दावा है। लेकिन, इसे बिना एंटीबायोटिक कवर के लेना हानिकारक हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति के लीवर में इंफेक्शन है और उसे सांस लेने में तकलीफ भी हो रही है। इस लिस्ट को पढ़कर अगर उसे बिना एंटीबायोटिक कवर के DEXONA टैबलेट दे दी जाती है तो सांस लेने में राहत मिल जाएगी पर इंफेक्शन बढ़ता रहेगा। नतीजा यह होगा कि मरीज की हालत 2-3 दिन बाद बहुत ज्यादा क्रिटिकल हो जाएगी। इस दवा को बिना एंटीबायोटिक कवर के लेना जानलेवा भी हो सकता है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Fact Check: List of drugs getting viral for curing covid-19, expert said – taking them without doctor’s advice can also be fatal.

क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर दवाइयों की एक लिस्ट वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि ये दवाइयां कोविड-19 से संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले लोगों के लिए कारगर हैं। हमारी फैक्ट चेक टीम के वॉट्सएप नंबर पर भी कई रीडर्स ने यह लिस्ट पड़ताल के लिए भेजी। और सच क्या है ? देश की शीर्ष रिसर्च संस्था ICMR की ऑफिशियल वेबसाइट पर हमें ऐसी कोई लिस्ट नहीं मिली। हमने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट भी चेक की। वहां भी कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले मरीजों के लिए दवाओं की अलग से कोई लिस्ट जारी नहीं की गई है।जब स्पष्ट हो गया कि वायरल हो रही लिस्ट किसी जिम्मेदार संस्था ने जारी नहीं की है। तो हमने पड़ताल के अगले चरण में यह पता लगाना शुरू किया कि आखिर लिस्ट में शामिल दवाएं कितनी कारगर हैं। इसके लिए हमने डायबेटोलॉजिस्ट डॉ. राजेश अग्रवाल से संपर्क किया।डॉ. राजेश अग्रवाल ने लिस्ट में दी गई हर एक दवा के उपयोग के बारे में बताया। साथ ही यह भी बताया कि इनका कोविड-19 के इलाज से कितना संबंध है।वायरल लिस्ट में सबसे पहले हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट को सभी के लिए खाना अनिवार्य बताया गया है। जबकि इस टैबलेट को खाने के बाद उल्टी होना, एसिडिटी और चक्कर आने जैसे साइड इफेक्ट सामने आ चुके हैं। लिहाजा इसे बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए। लिस्ट में दूसरे नंबर पर नाम है विटामिन सी, विटामिन डी और जिंक टैबलेट का। यह तीनों इम्युनिटी बढ़ाने या फिर विटामिन की कमी होने पर दी जाने वाली सामान्य टैबलेट हैं। अगर इनके लेने से कोई खास फायदा नहीं है तो कोई नुकसान भी नहीं है। बुखार, गले में खराश और खांसी के लिए दी गई दवाएं सही हैं। इन दवाओं के कोई गंभीर साइड इफेक्ट भी नहीं हैं। सांस लेने की तकलीफ होने पर लिस्ट में DEXONA टैबलेट लेने की सलाह दी गई है। यह सांस की तकलीफ के लिए ली जाने वाली कारगर दावा है। लेकिन, इसे बिना एंटीबायोटिक कवर के लेना हानिकारक हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति के लीवर में इंफेक्शन है और उसे सांस लेने में तकलीफ भी हो रही है। इस लिस्ट को पढ़कर अगर उसे बिना एंटीबायोटिक कवर के DEXONA टैबलेट दे दी जाती है तो सांस लेने में राहत मिल जाएगी पर इंफेक्शन बढ़ता रहेगा। नतीजा यह होगा कि मरीज की हालत 2-3 दिन बाद बहुत ज्यादा क्रिटिकल हो जाएगी। इस दवा को बिना एंटीबायोटिक कवर के लेना जानलेवा भी हो सकता है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Fact Check: List of drugs getting viral for curing covid-19, expert said – taking them without doctor’s advice can also be fatal.Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *