जया बच्चन ने संसद में रविकिशन से कहा- जिस थाली में खाते हैं, उसमें छेद नहीं कर सकते; कंगना बोलीं- आपका बेटा फंदे पर लटका होता, तब भी यही कहतीं?Dainik Bhaskar


बॉलीवुड में ड्रग्स विवाद पर अब समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन और भाजपा सांसद रवि किशन व एक्ट्रेस कंगना रनोट आमने सामने आ गए है। मानसून सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को राज्यसभा में जया बच्चन ने किसी का भी नाम लिए बिना कहा, ‘फिल्म इंडस्ट्री में नाम कमाने वाले उसी को गटर कह रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि सरकार ऐसे लोगों से कहे कि वे इस तरह की भाषा का इस्तेमाल नहीं करें।’ इस पर कंगना ने कहा कि आपका बेटा फंदे पर झूला होता तो भी क्या आप यही बयान देतीं। रवि किशन ने कहा कि जयाजी से ऐसी उम्मीद नहीं थी।

जया बच्चन ने कहा, ‘कुछ लोगों की वजह से आप पूरे इंडस्ट्री की छवि को धूमिल नहीं कर सकते। मुझे शर्म आती है कि कल लोकसभा में हमारे एक सदस्य, जो फिल्म उद्योग से हैं, उन्होंने इसके खिलाफ बोला। यह शर्मनाक है। आप जिस थाली में खाते हैं उसमें छेद नहीं कर सकते हैं।’ दरअसल, जया का यह बयान सुशांत की मौत के बाद बॉलीवुड के साथ कंगना रनोट का विवाद और भाजपा सांसद रवि किशन के लोकसभा में दिए गए बयान से जोड़ कर देखा जा रहा है।

कंगना ने जया के भाषण के साथ ट्वीट किया
‘जया जी क्या ये बात आप तब कह पातीं, जब मेरी जगह आपकी बेटी श्वेता को पीटा जाता, ड्रग्स दी जाती और युवावस्था में शोषण होता। क्या ये बात आप तब कह पातीं, यदि अभिषेक ने लगातार हैरेसमेंट की बात की होती और आप उन्हें एक दिन लटका पातीं। हमारे साथ सहानुभूति रखिए।’

कंगना ने कहा- गरीब को रोटी के साथ सम्मान और प्यार चाहिए
कंगना ने एक और ट्वीट किया, ‘ये मानसिकता कि गरीब को रोटी मिल गई, बस यही काफी है, इसे बदलना चाहिए। गरीब को रोटी के साथ सम्मान और प्यार चाहिए। मेरे पास ऐसे सुधारों की पूरी लिस्ट है। मैं चाहती हूं कि केंद्र सरकार कर्मचारियों और जूनियर आर्टिस्ट्स की बात सुने। किसी दिन मैं प्रधानमंत्री से मिलकर इस बारे में चर्चा करूंगी।’

रवि किशन ने कहा- आज इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है
जया बच्चन के बयान पर रवि किशन ने मंगलवार को कहा, मुझे उम्मीद थी कि जयाजी मेरा समर्थन करेंगी। इंडस्ट्री में सभी ड्रग्स नहीं लेते, लेकिन जो लोग लेते हैं, वे दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री को खत्म करने की योजना का हिस्सा हैं। जब मैंने और जयाजी फिल्म इंडस्ट्री को ज्वाइन किया था तब हालात ऐसे नहीं थे, लेकिन आज इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है।

रवि किशन ने लोकसभा में क्या कहा था?
दरअसल, सोमवार को भाजपा सांसद रवि किशन ने लोकसभा में ड्रग्स और बॉलीवुड कनेक्शन का मुद्दा उठाया था। उन्होंने शून्यकाल के दौरान कहा था कि पाकिस्तान और चीन से ड्रग्स की तस्करी हो रही है। यह देश की युवा पीढ़ी को बर्बाद करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि हमारे फिल्म उद्योग में इसकी पैठ हो चुकी है और एनसीबी इसकी जांच कर रही है। उन्होंने कहा कि मेरी मांग है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाए।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


ये फोटो 2016 में 63वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की है। उस दौरान कंगना ने अवॉर्ड सेरेमनी में मौजूद जया बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन से मुलाकात की थी।

बॉलीवुड में ड्रग्स विवाद पर अब समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन और भाजपा सांसद रवि किशन व एक्ट्रेस कंगना रनोट आमने सामने आ गए है। मानसून सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को राज्यसभा में जया बच्चन ने किसी का भी नाम लिए बिना कहा, ‘फिल्म इंडस्ट्री में नाम कमाने वाले उसी को गटर कह रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि सरकार ऐसे लोगों से कहे कि वे इस तरह की भाषा का इस्तेमाल नहीं करें।’ इस पर कंगना ने कहा कि आपका बेटा फंदे पर झूला होता तो भी क्या आप यही बयान देतीं। रवि किशन ने कहा कि जयाजी से ऐसी उम्मीद नहीं थी। जया बच्चन ने कहा, ‘कुछ लोगों की वजह से आप पूरे इंडस्ट्री की छवि को धूमिल नहीं कर सकते। मुझे शर्म आती है कि कल लोकसभा में हमारे एक सदस्य, जो फिल्म उद्योग से हैं, उन्होंने इसके खिलाफ बोला। यह शर्मनाक है। आप जिस थाली में खाते हैं उसमें छेद नहीं कर सकते हैं।’ दरअसल, जया का यह बयान सुशांत की मौत के बाद बॉलीवुड के साथ कंगना रनोट का विवाद और भाजपा सांसद रवि किशन के लोकसभा में दिए गए बयान से जोड़ कर देखा जा रहा है। कंगना ने जया के भाषण के साथ ट्वीट किया ‘जया जी क्या ये बात आप तब कह पातीं, जब मेरी जगह आपकी बेटी श्वेता को पीटा जाता, ड्रग्स दी जाती और युवावस्था में शोषण होता। क्या ये बात आप तब कह पातीं, यदि अभिषेक ने लगातार हैरेसमेंट की बात की होती और आप उन्हें एक दिन लटका पातीं। हमारे साथ सहानुभूति रखिए।’ Jaya ji would you say the same thing if in my place it was your daughter Shweta beaten, drugged and molested as a teenage, would you say the same thing if Abhieshek complained about bullying and harassment constantly and found hanging one day? Show compassion for us also 🙏 https://t.co/gazngMu2bA — Kangana Ranaut (@KanganaTeam) September 15, 2020कंगना ने कहा- गरीब को रोटी के साथ सम्मान और प्यार चाहिए कंगना ने एक और ट्वीट किया, ‘ये मानसिकता कि गरीब को रोटी मिल गई, बस यही काफी है, इसे बदलना चाहिए। गरीब को रोटी के साथ सम्मान और प्यार चाहिए। मेरे पास ऐसे सुधारों की पूरी लिस्ट है। मैं चाहती हूं कि केंद्र सरकार कर्मचारियों और जूनियर आर्टिस्ट्स की बात सुने। किसी दिन मैं प्रधानमंत्री से मिलकर इस बारे में चर्चा करूंगी।’ Like a famous choreographer once said “ रेप किया तो क्या हुआ रोटी तो दी ना” is that what you implying? There are no proper HR departments in production houses where women can complain, no safety or insurances for those who risk their lives every day,no 8 hours shift regulations. — Kangana Ranaut (@KanganaTeam) September 15, 2020रवि किशन ने कहा- आज इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है जया बच्चन के बयान पर रवि किशन ने मंगलवार को कहा, मुझे उम्मीद थी कि जयाजी मेरा समर्थन करेंगी। इंडस्ट्री में सभी ड्रग्स नहीं लेते, लेकिन जो लोग लेते हैं, वे दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री को खत्म करने की योजना का हिस्सा हैं। जब मैंने और जयाजी फिल्म इंडस्ट्री को ज्वाइन किया था तब हालात ऐसे नहीं थे, लेकिन आज इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है। रवि किशन ने लोकसभा में क्या कहा था? दरअसल, सोमवार को भाजपा सांसद रवि किशन ने लोकसभा में ड्रग्स और बॉलीवुड कनेक्शन का मुद्दा उठाया था। उन्होंने शून्यकाल के दौरान कहा था कि पाकिस्तान और चीन से ड्रग्स की तस्करी हो रही है। यह देश की युवा पीढ़ी को बर्बाद करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि हमारे फिल्म उद्योग में इसकी पैठ हो चुकी है और एनसीबी इसकी जांच कर रही है। उन्होंने कहा कि मेरी मांग है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाए। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

ये फोटो 2016 में 63वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की है। उस दौरान कंगना ने अवॉर्ड सेरेमनी में मौजूद जया बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन से मुलाकात की थी।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *