रक्षा मंत्री आज राज्यसभा में भी चीन के मुद्दे पर बोलेंगे; प्रवासियों की सुरक्षा पर सरकार बोली- फेक न्यूज की वजह से भगदड़ मची थीDainik Bhaskar


कोरोना के बीच संसद के पहले सत्र (मानसून) का आज तीसरा दिन है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज राज्यसभा में भारत-चीन सीमा विवाद पर बयान देंगे। इससे पहले मंगलवार को राजनाथ ने लोकसभा में भी इसी मुद्दे पर अपनी बात रखी थी। उधर, प्रवासियों के मुद्दे पर सरकार ने कहा कि लॉकडाउन में फेक न्यूज की वजह से मजदूरों में भगदड़ मची थी।

मानसून सत्र के दूसरे दिन क्या-क्या हुआ?

रक्षा मंत्री ने कहा- चीन ने एलएसी पर गोला-बारूद जमा किया, हम भी तैयार
राजनाथ ने लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चल रहे तनाव के बारे में लोकसभा में जानकारी दी। उन्होंने कहा, “अभी की स्थिति के मुताबिक, चीन ने एलएसी और अरुणाचल से लगे अंदरुनी इलाकों में बड़ी संख्या में सैनिक और गोला-बारूद जमा कर रखे हैं। पूर्वी लद्दाख के गोगरा, कोंगका ला, पैंगॉन्ग सो झील के उत्तरी और दक्षिणी किनारे पर तनाव वाले कई इलाके हैं। इन इलाकों में हमारी सेना भी जवाबी कार्रवाई के लिए पूरी तैयारी के साथ तैनात है।”

हालांकि, विपक्ष सीमा विवाद के मुद्दे पर बहस की मांग कर रहा है। कांग्रेस ने बोलने का मौका नहीं दिए जाने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को लोकसभा से वॉकआउट भी किया था। चीन की घुसपैठ के मुद्दे पर राज्यसभा में चर्चा के लिए कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने शॉर्ट ड्यूरेशन नोटिस भी दिया है।

गृह मंत्रालय ने कहा- अफवाहों की वजह से प्रवासियों में भगदड़ मची थी
मानसून सत्र के पहले दिन यानी सोमवार को एक सवाल के जवाब में सरकार ने कहा था कि लॉकडाउन में घर लौटते वक्त हादसों में कितने प्रवासी मजदूर मारे गए, इसका कोई आंकड़ा नहीं है। प्रवासियों से ही जुड़े एक दूसरे सवाल के जवाब में मंगलवार को कहा कि मार्च में लॉकडाउन के वक्त फेक न्यूज के चलते बड़ी संख्या में प्रवासियों का मूवमेंट हुआ था।

तृणमूल कांग्रेस की सांसद माला रॉय ने लोकसभा में लिखित में सवाल पूछा था कि 25 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा से पहले सरकार ने प्रवासियों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए और हजारों मजदूर घरों को लौटने को मजबूर क्यों हुए? इस पर गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने जवाब दिया कि फेक न्यूज के चलते लोगों के मन में खाने-पाने की चीजों की सप्लाई और दूसरी जरूरी सुविधाओं को लेकर चिंता थी, इसलिए भगदड़ मची थी।

बॉलीवुड का ड्रग्स विवाद भी संसद पहुंचा
अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से बॉलीवुड में उठा ड्रग्स विवाद अब संसद में भी बड़ी बहस में बदलता दिखाई दे रहा है। भाजपा सांसद रवि किशन ने सोमवार को लोकसभा में कहा था कि फिल्म इंडस्ट्री में ड्रग्स का शिकंजा कस चुका है। इस पर राज्यसभा में सपा सांसद जया बच्चन ने मंगलवार को कहा, “बॉलीवुड से जुड़े कुछ लोगों को उस थाली में छेद नहीं करना चाहिए, जिससे उनका पेट भरता है।”

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


चीन के मुद्दे पर विपक्ष बहस करना चाहता है। इस मांग की तख्ती लिए कांग्रेस सांसद ने संसद के बाहर प्रदर्शन किया। कांग्रेस ने मंगलवार को लोकसभा से वॉकआउट भी किया था।

कोरोना के बीच संसद के पहले सत्र (मानसून) का आज तीसरा दिन है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज राज्यसभा में भारत-चीन सीमा विवाद पर बयान देंगे। इससे पहले मंगलवार को राजनाथ ने लोकसभा में भी इसी मुद्दे पर अपनी बात रखी थी। उधर, प्रवासियों के मुद्दे पर सरकार ने कहा कि लॉकडाउन में फेक न्यूज की वजह से मजदूरों में भगदड़ मची थी। मानसून सत्र के दूसरे दिन क्या-क्या हुआ? रक्षा मंत्री ने कहा- चीन ने एलएसी पर गोला-बारूद जमा किया, हम भी तैयार राजनाथ ने लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चल रहे तनाव के बारे में लोकसभा में जानकारी दी। उन्होंने कहा, “अभी की स्थिति के मुताबिक, चीन ने एलएसी और अरुणाचल से लगे अंदरुनी इलाकों में बड़ी संख्या में सैनिक और गोला-बारूद जमा कर रखे हैं। पूर्वी लद्दाख के गोगरा, कोंगका ला, पैंगॉन्ग सो झील के उत्तरी और दक्षिणी किनारे पर तनाव वाले कई इलाके हैं। इन इलाकों में हमारी सेना भी जवाबी कार्रवाई के लिए पूरी तैयारी के साथ तैनात है।” हालांकि, विपक्ष सीमा विवाद के मुद्दे पर बहस की मांग कर रहा है। कांग्रेस ने बोलने का मौका नहीं दिए जाने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को लोकसभा से वॉकआउट भी किया था। चीन की घुसपैठ के मुद्दे पर राज्यसभा में चर्चा के लिए कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने शॉर्ट ड्यूरेशन नोटिस भी दिया है। गृह मंत्रालय ने कहा- अफवाहों की वजह से प्रवासियों में भगदड़ मची थी मानसून सत्र के पहले दिन यानी सोमवार को एक सवाल के जवाब में सरकार ने कहा था कि लॉकडाउन में घर लौटते वक्त हादसों में कितने प्रवासी मजदूर मारे गए, इसका कोई आंकड़ा नहीं है। प्रवासियों से ही जुड़े एक दूसरे सवाल के जवाब में मंगलवार को कहा कि मार्च में लॉकडाउन के वक्त फेक न्यूज के चलते बड़ी संख्या में प्रवासियों का मूवमेंट हुआ था। तृणमूल कांग्रेस की सांसद माला रॉय ने लोकसभा में लिखित में सवाल पूछा था कि 25 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा से पहले सरकार ने प्रवासियों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए और हजारों मजदूर घरों को लौटने को मजबूर क्यों हुए? इस पर गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने जवाब दिया कि फेक न्यूज के चलते लोगों के मन में खाने-पाने की चीजों की सप्लाई और दूसरी जरूरी सुविधाओं को लेकर चिंता थी, इसलिए भगदड़ मची थी। बॉलीवुड का ड्रग्स विवाद भी संसद पहुंचा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से बॉलीवुड में उठा ड्रग्स विवाद अब संसद में भी बड़ी बहस में बदलता दिखाई दे रहा है। भाजपा सांसद रवि किशन ने सोमवार को लोकसभा में कहा था कि फिल्म इंडस्ट्री में ड्रग्स का शिकंजा कस चुका है। इस पर राज्यसभा में सपा सांसद जया बच्चन ने मंगलवार को कहा, “बॉलीवुड से जुड़े कुछ लोगों को उस थाली में छेद नहीं करना चाहिए, जिससे उनका पेट भरता है।” आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

चीन के मुद्दे पर विपक्ष बहस करना चाहता है। इस मांग की तख्ती लिए कांग्रेस सांसद ने संसद के बाहर प्रदर्शन किया। कांग्रेस ने मंगलवार को लोकसभा से वॉकआउट भी किया था।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *