कंगना ने कहा- शिवसेना को मजबूरी में वोट दिया; सच ये कि जिस सीट पर कंगना का वोट पड़ता है, वहां शिवसेना लड़ी ही नहींDainik Bhaskar


कंगना रनोट ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मुझे मुंबई के चुनावों में गठबंधन की वजह से मजबूरी में शिवसेना को वोट देना पड़ा। मैं भाजपा समर्थक हूं और जब मैं वोटिंग मशीन में भाजपा का बटन खोज रही थी तो मुझसे कहा गया कि शिवसेना का बटन दबाना होगा। पर भास्कर ने जब कंगना के बयान पर पड़ताल की तो पता चला कि उनका बयान झूठा है।

कंगना ने क्या कहा?
टाइम्स नाऊ चैनल से इंटरव्यू में कंगना ने कहा- मैं बांद्रा में वोट डालने गई और वोटिंग मशीन के सामने खड़ी थी। मैं भाजपा सपोर्टर हूं और मैं वोटिंग मशीन में खोज रही थी कि भाजपा का बटन कहां है। तब मुझे कहा गया कि मुझे शिवसेना का बटन दबाना होगा। मैं राजनीति नहीं समझती हूं, मुझे ऐसा लगा कि जब मैं बीजेपी को पसंद करती हूं तो शिवसेना का बटन क्यों दबाऊं? मुझे नहीं पता था कि यह ग्रुप कैसे बना, लेकिन मुझे शिवसेना के बटन को दबाने का दबाव बनाया गया। वहां भाजपा का कोई नहीं था। गठबंधन के रूप में सिर्फ शिवसेना का ऑप्शन था। मैंने उनके लिए वोट किया और देखिए उनकी ओर से कैसा ट्रीटमेंट मुझे मिला है।

बयान झूठा कैसे?
1.
कंगना विधानसभा चुनाव में बांद्रा वेस्ट और लोकसभा चुनाव में नॉर्थ-सेंट्रल मुंबई सीट के लिए वोट डालती हैं। 2009 से 2019 तक महाराष्ट्र में 3 लोकसभा और 3 विधानसभा चुनाव हुए यानी 6 चुनाव। इनमें से 5 चुनाव भाजपा और शिवसेना ने मिलकर लड़े। केवल 2014 के विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां आमने-सामने थीं।

2. गठबंधन के तहत विधानसभा और लोकसभा में बांद्रा वेस्ट और मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट भाजपा के खाते में आई। यानी, 5 चुनाव में शिवसेना का कैंडिडेट उतरा ही नहीं। ऐसे में कंगना के सामने दबाव में शिवसेना को वोट देने की मजबूरी कैसे हो सकती है?

3. 2014 के विधानसभा चुनाव में शिवसेना और भाजपा के कैंिडडेट आमने-सामने थे। ऐसे में वोट देने के लिए कंगना के सामने भाजपा का विकल्प भी था, सिर्फ शिवसेना को वोट देने की मजबूरी नहीं।

2009 से 2019 तक हुए चुनावों में भाजपा और शिवसेना ने किसे उतारा

विधानसभा चुनाव (बांद्रा वेस्ट सीट) भाजपा उम्मीदवार शिवसेना उम्मीदवार
2009 आशीष शेलार कोई नहीं
2014 आशीष शेलार विलास चावरी
2019 आशीष शेलार कोई नहीं
लोकसभा चुनाव (मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट) भाजपा उम्मीदवार शिवसेना उम्मीदवार
2009 महेश राम जेठमलानी कोई नहीं
2014 पूनम महाजन कोई नहीं
2019 पूनम महाजन कोई नहीं

बयान के झूठा साबित होने पर कंगना ने कैसे रिएक्ट किया?
भास्कर की खबर पर कंगना ने रिप्लाई दिया कि उन्होंने खार वेस्ट के बीपीएम स्कूल में शिवसेना नेता को वोट दिया। फेक न्यूज फैलाना बंद करें।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


यह तस्वीर अप्रैल 2019 की है जब अभिनेत्री कंगना रनोट बांद्रा के एक स्कूल में वोट डालकर बाहर निकली थीं।

कंगना रनोट ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मुझे मुंबई के चुनावों में गठबंधन की वजह से मजबूरी में शिवसेना को वोट देना पड़ा। मैं भाजपा समर्थक हूं और जब मैं वोटिंग मशीन में भाजपा का बटन खोज रही थी तो मुझसे कहा गया कि शिवसेना का बटन दबाना होगा। पर भास्कर ने जब कंगना के बयान पर पड़ताल की तो पता चला कि उनका बयान झूठा है। कंगना ने क्या कहा? टाइम्स नाऊ चैनल से इंटरव्यू में कंगना ने कहा- मैं बांद्रा में वोट डालने गई और वोटिंग मशीन के सामने खड़ी थी। मैं भाजपा सपोर्टर हूं और मैं वोटिंग मशीन में खोज रही थी कि भाजपा का बटन कहां है। तब मुझे कहा गया कि मुझे शिवसेना का बटन दबाना होगा। मैं राजनीति नहीं समझती हूं, मुझे ऐसा लगा कि जब मैं बीजेपी को पसंद करती हूं तो शिवसेना का बटन क्यों दबाऊं? मुझे नहीं पता था कि यह ग्रुप कैसे बना, लेकिन मुझे शिवसेना के बटन को दबाने का दबाव बनाया गया। वहां भाजपा का कोई नहीं था। गठबंधन के रूप में सिर्फ शिवसेना का ऑप्शन था। मैंने उनके लिए वोट किया और देखिए उनकी ओर से कैसा ट्रीटमेंट मुझे मिला है। I voted for Sena though I support BJP. But I was ‘forced’ to vote due to their alliance: Kangana Ranaut (@KanganaTeam), Actor tells Navika Kumar on #FranklySpeakingWithKangana. pic.twitter.com/XlFh0ngmxI — TIMES NOW (@TimesNow) September 16, 2020बयान झूठा कैसे? 1. कंगना विधानसभा चुनाव में बांद्रा वेस्ट और लोकसभा चुनाव में नॉर्थ-सेंट्रल मुंबई सीट के लिए वोट डालती हैं। 2009 से 2019 तक महाराष्ट्र में 3 लोकसभा और 3 विधानसभा चुनाव हुए यानी 6 चुनाव। इनमें से 5 चुनाव भाजपा और शिवसेना ने मिलकर लड़े। केवल 2014 के विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां आमने-सामने थीं। 2. गठबंधन के तहत विधानसभा और लोकसभा में बांद्रा वेस्ट और मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट भाजपा के खाते में आई। यानी, 5 चुनाव में शिवसेना का कैंडिडेट उतरा ही नहीं। ऐसे में कंगना के सामने दबाव में शिवसेना को वोट देने की मजबूरी कैसे हो सकती है? 3. 2014 के विधानसभा चुनाव में शिवसेना और भाजपा के कैंिडडेट आमने-सामने थे। ऐसे में वोट देने के लिए कंगना के सामने भाजपा का विकल्प भी था, सिर्फ शिवसेना को वोट देने की मजबूरी नहीं। 2009 से 2019 तक हुए चुनावों में भाजपा और शिवसेना ने किसे उतारा विधानसभा चुनाव (बांद्रा वेस्ट सीट) भाजपा उम्मीदवार शिवसेना उम्मीदवार 2009 आशीष शेलार कोई नहीं 2014 आशीष शेलार विलास चावरी 2019 आशीष शेलार कोई नहीं लोकसभा चुनाव (मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट) भाजपा उम्मीदवार शिवसेना उम्मीदवार 2009 महेश राम जेठमलानी कोई नहीं 2014 पूनम महाजन कोई नहीं 2019 पूनम महाजन कोई नहीं बयान के झूठा साबित होने पर कंगना ने कैसे रिएक्ट किया? भास्कर की खबर पर कंगना ने रिप्लाई दिया कि उन्होंने खार वेस्ट के बीपीएम स्कूल में शिवसेना नेता को वोट दिया। फेक न्यूज फैलाना बंद करें। Khar west voted in BPM school … for Shiv Sena politician, stop spreading fake news. — Kangana Ranaut (@KanganaTeam) September 17, 2020आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

यह तस्वीर अप्रैल 2019 की है जब अभिनेत्री कंगना रनोट बांद्रा के एक स्कूल में वोट डालकर बाहर निकली थीं।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *