लश्कर कमांडर समेत दो आतंकी ढेर, डीजीपी ने कहा- उन परिवारों को सुकून मिला होगा, जिनके लड़कों को इस आतंकी ने गुमराह कियाDainik Bhaskar


जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों ने पुलवामा जिले के संबूरा में मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने सोमवार को बताया कि मारे गए आतंकियों में से एक आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर था। वह बुरहान वानी के समय से ही कश्मीर में एक्टिव था। उन परिवारों को सुकून मिला होगा, जिनके लड़कों को इस आतंकी ने गुमराह किया होगा।

सिंह ने कहा- रविवार की रात सुरक्षाबल खुफिया जानकारी मिलने के बाद जाइंट ऑपरेशन शुरू किया गया। यह ऑपरेशन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), जम्मू कश्मीर पुलिस और इंडियन आर्मी ने साथ मिलकर चलाया। सुरक्षाबलों को देखते हुए आतंकियों ने ग्रेनेड फेंकना शुरू कर दिया। हमारी ओर से भी जवाबी कार्रवाई। सारी रात मुठभेड़ चलने के बाद हमने दोनों आतंकियों को मार गिराया।

संबूरा से हथियार बरामद

जम्मू कश्मीर पुलिस ने सोमवार को संबूरा, अवंतिपोरा और पुलवामा में सर्च ऑपरेशन चलाकर हथियारों की खेप बरामद की। पुलिस के मुताबिक, बरामद हथियारों में दो एके-47 राइफल, चार मैगजीन और 10 राउंड बुलेट शामिल थे। इसके साथ निजी सामान के साथ दो पाउच भी बरामद हुए।

इस साल 177 आतंकवादी मारे गए

जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक, दक्षिण और उत्तरी कश्मीर के अन्य जिलों के आतंकी सुरक्षा बलों पर हमले करने के लिए श्रीनगर आते रहते हैं। हालांकि, 2019 की तुलना में 2020 सुरक्षाबलों के लिए बेहतर रहा है। इस साल अब तक 72 ऑपरेशन किए गए हैं, जिनमें जम्मू में 12 समेत 177 आतंकवादी मारे गए हैं। 177 आतंकियों में 22 पाकिस्तानी हैं। इससे पता चलता है कि आतंकी गतिविधियों में पाकिस्तान की सीधी भागीदारी है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


जम्मू-कश्मीर में इस साल अब तक सेना ने 72 ऑपरेशन किए हैं, जिनमें जम्मू में 12 समेत 177 आतंकवादी मारे गए हैं। -फाइल फोटो

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों ने पुलवामा जिले के संबूरा में मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने सोमवार को बताया कि मारे गए आतंकियों में से एक आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर था। वह बुरहान वानी के समय से ही कश्मीर में एक्टिव था। उन परिवारों को सुकून मिला होगा, जिनके लड़कों को इस आतंकी ने गुमराह किया होगा। सिंह ने कहा- रविवार की रात सुरक्षाबल खुफिया जानकारी मिलने के बाद जाइंट ऑपरेशन शुरू किया गया। यह ऑपरेशन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), जम्मू कश्मीर पुलिस और इंडियन आर्मी ने साथ मिलकर चलाया। सुरक्षाबलों को देखते हुए आतंकियों ने ग्रेनेड फेंकना शुरू कर दिया। हमारी ओर से भी जवाबी कार्रवाई। सारी रात मुठभेड़ चलने के बाद हमने दोनों आतंकियों को मार गिराया। संबूरा से हथियार बरामद जम्मू कश्मीर पुलिस ने सोमवार को संबूरा, अवंतिपोरा और पुलवामा में सर्च ऑपरेशन चलाकर हथियारों की खेप बरामद की। पुलिस के मुताबिक, बरामद हथियारों में दो एके-47 राइफल, चार मैगजीन और 10 राउंड बुलेट शामिल थे। इसके साथ निजी सामान के साथ दो पाउच भी बरामद हुए। इस साल 177 आतंकवादी मारे गए जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक, दक्षिण और उत्तरी कश्मीर के अन्य जिलों के आतंकी सुरक्षा बलों पर हमले करने के लिए श्रीनगर आते रहते हैं। हालांकि, 2019 की तुलना में 2020 सुरक्षाबलों के लिए बेहतर रहा है। इस साल अब तक 72 ऑपरेशन किए गए हैं, जिनमें जम्मू में 12 समेत 177 आतंकवादी मारे गए हैं। 177 आतंकियों में 22 पाकिस्तानी हैं। इससे पता चलता है कि आतंकी गतिविधियों में पाकिस्तान की सीधी भागीदारी है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

जम्मू-कश्मीर में इस साल अब तक सेना ने 72 ऑपरेशन किए हैं, जिनमें जम्मू में 12 समेत 177 आतंकवादी मारे गए हैं। -फाइल फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *