मुंबई हमलों के आरोपी हाफिज और उसके 4 साथियों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चार्जशीट दायर, हवाला के जरिए भारत में फंड भेजते थेDainik Bhaskar


प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरुवार को लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चार्जशीट दायर की। इसमें हाफिज के साथी शाहिद महमूद, मोहम्मद सलमान, दुबई में फंड मैनेजर का काम करने वाले मोहम्मद कामरान और दिल्ली के हवाला ऑपरेटर मोहम्मद सलीम उर्फ मामा का नाम शामिल है। सभी पर हाफिज के संगठन फलाह-ए-इंसानियत (एफआईएफ) फाउंडेशन के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल होने का आरोप है।

ईडी ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की ओर से सभी आरोपियों के खिलाफ दायर चार्जशीट के आधार पर 2018 में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। अधिकारियों के मुताबिक, जांच में यह पाया गया कि पहले फंड पाकिस्तान से दुबई के रास्ते भारत पैसे भेजे जाते थे। इसके लिए हवाला नेटवर्क का इस्तेमाल होता था।

रुपए के गैर कानूनी लेने-देन से जुड़े दस्तावेज मिले थे

ईडी के मुताबिक, सलमान को कामरान और उसके साथी अब्दुल अजीज बेहलमी और आरिफ गुलाम बशीर धर्मापुरिया दुबई से रुपए भेजा करते थे। ईडी को सलमान के घर से रुपए के लेन-देन में शामिल होने से जुड़े कई दस्तावेज भी मिले थे। इसके साथ एक ईमेल भी मिला था, जिसमें हवाला के जरिए पैसे भेजने की बात कही गई थी। सलमान विदेशों से आए पैसों का इस्तेमाल हरियाणा के उट्‌टावर में मस्जिदें बनवाने और गरीब लड़कियों की शादी करवाने में खर्च करता था।

ईडी ने आरोपी की संपत्तियां जब्त की

ईडी ने हवाला के जरिए जुटाई गई 4.69 करोड़ रुपए की संपत्ति का भी पता लगाया है। इसके साथ ही आरोपी सलमान की नई दिल्ली में तीन अचल संपत्तियां होने का भी पता चला है। इन अचल संपत्तियों की कीमत करीब 73.12 लाख रु. है, जिन्हें ईडी ने जब्त कर लिया है। सलमान और सलीम फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


ईडी ने गुरुवार को आतंकी हाफिज सईद और उसके फाउंडेशन के जरिए भारत में गैर कानूनी ढंग से फंड भेजने के मामले में चार्जशीट दायर की।- फाइल फोटो

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरुवार को लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चार्जशीट दायर की। इसमें हाफिज के साथी शाहिद महमूद, मोहम्मद सलमान, दुबई में फंड मैनेजर का काम करने वाले मोहम्मद कामरान और दिल्ली के हवाला ऑपरेटर मोहम्मद सलीम उर्फ मामा का नाम शामिल है। सभी पर हाफिज के संगठन फलाह-ए-इंसानियत (एफआईएफ) फाउंडेशन के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल होने का आरोप है। ईडी ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की ओर से सभी आरोपियों के खिलाफ दायर चार्जशीट के आधार पर 2018 में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। अधिकारियों के मुताबिक, जांच में यह पाया गया कि पहले फंड पाकिस्तान से दुबई के रास्ते भारत पैसे भेजे जाते थे। इसके लिए हवाला नेटवर्क का इस्तेमाल होता था। रुपए के गैर कानूनी लेने-देन से जुड़े दस्तावेज मिले थे ईडी के मुताबिक, सलमान को कामरान और उसके साथी अब्दुल अजीज बेहलमी और आरिफ गुलाम बशीर धर्मापुरिया दुबई से रुपए भेजा करते थे। ईडी को सलमान के घर से रुपए के लेन-देन में शामिल होने से जुड़े कई दस्तावेज भी मिले थे। इसके साथ एक ईमेल भी मिला था, जिसमें हवाला के जरिए पैसे भेजने की बात कही गई थी। सलमान विदेशों से आए पैसों का इस्तेमाल हरियाणा के उट्‌टावर में मस्जिदें बनवाने और गरीब लड़कियों की शादी करवाने में खर्च करता था। ईडी ने आरोपी की संपत्तियां जब्त की ईडी ने हवाला के जरिए जुटाई गई 4.69 करोड़ रुपए की संपत्ति का भी पता लगाया है। इसके साथ ही आरोपी सलमान की नई दिल्ली में तीन अचल संपत्तियां होने का भी पता चला है। इन अचल संपत्तियों की कीमत करीब 73.12 लाख रु. है, जिन्हें ईडी ने जब्त कर लिया है। सलमान और सलीम फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

ईडी ने गुरुवार को आतंकी हाफिज सईद और उसके फाउंडेशन के जरिए भारत में गैर कानूनी ढंग से फंड भेजने के मामले में चार्जशीट दायर की।- फाइल फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *