कड़ी सुरक्षा के बीच पीड़ित परिवार लखनऊ पहुंचा; सीबीआई आज बुलगढ़ी गांव जाएगी, कल हुआ था मुख्य आरोपी संदीप पर केस दर्जDainik Bhaskar


उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की दलित युवती से कथित बलात्कार और उसकी मौत मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में अहम सुनवाई शुरू हो गई है। यह मामला गरिमापूर्ण तरीके से अंतिम संस्कार टाइटल के तहत सूचीबद्ध है। पीड़ित परिवार सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच लखनऊ पहुंच गया है। एक अक्टूबर को कोर्ट ने मामले को खुद नोटिस में लिया था।

कोर्ट ने प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, डीजीपी एचसी अवस्थी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के अलावा हाथरस के डीएम और एसपी को तलब किया है। पीड़ित परिवार को भी कोर्ट में गवाही के लिए हाजिर रहना है। हाईकोर्ट में सरकार की तरफ से विनोद शाही पैरवी करेंगे, जबकि कोर्ट ने वरिष्ठ वकील जेएन माथुर को एमिकस क्यूरी (न्याय मित्र) बनाया है।

पीड़ित परिवार को लखनऊ छह गाड़ियों से एस्कार्ट कर ले जाया जा रहा है।

परिवार के पांच लोग कोर्ट में देंगे गवाही
पीड़ित परिवार सुबह 5 बजे हाथरस से निकला। पीड़ित के माता-पिता, दो भाई और एक भाभी लखनऊ पहुंचीं। सभी को हाईकोर्ट के पास स्थित उत्तराखंड भवन में ठहराया गया। एसडीएम अंजलि गंगवार और सीओ शैलेंद्र बाजपेयी ने सुरक्षा व्यवस्था की कमान संभाल रखी है। दो गाड़ियों में पीड़ित परिवार था, जबकि छह गाड़ियां उनके एस्कॉर्ट के लिए हैं। भाई ने कहा कि जो भी घटना हुई है, उसके बारे में कोर्ट को बताएंगे। जो घटना के वक्त मौजूद था, वह अपनी बात कोर्ट में रखेगा। इससे पहले उन्होंने रविवार रात लखनऊ जाने से मना कर दिया था। पीड़ित के भाई ने कहा कि रात में हमारे साथ कुछ भी हो सकता है। हमें प्रशासन पर भरोसा नहीं है।

सादी वर्दी में महिला पुलिस अधिकारी सुरक्षा में तैनात हैं।

सीबीआई आज घटनास्थल की जांच करेगी
उधर, केस दर्ज करने के बाद सीबीआई की एंटी करप्शन ब्रांच ने हाथरस पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। जांच महिला डिप्टी एसपी सीमा पाहुजा कर रही हैं। सीबीआई ने रविवार को ही पुलिस से एफआईआर व दस्तावेज लिए हैं। सूत्रों की मानें तो आज सीबीआई टीम जांच करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचेगी। टीम के साथ फोरेंसिक टीम भी मौजूद रहेगी और घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद सबूतों को इकट्ठा करेगी। जांच अधिकारियों से भी वार्ता करेगी। सीबीआई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, पूर्व में फॉरेंसिक टीम द्वारा लिए गए जांच सैंपल और सभी संबंधित सबूतों को जुटाएगी।

क्या है पूरा मामला?

हाथरस में 14 सितंबर को 4 लोगों ने कथित रूप से 19 साल की लड़की के साथ गैंगरेप किया था। यह भी आरोप है कि उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी और जीभ भी काट दी थी। दिल्ली में इलाज के दौरान 29 सितंबर को पीड़ित की मौत हो गई। चारों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। हालांकि, पुलिस का दावा है कि दुष्कर्म नहीं हुआ था।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


फोटो हाथरस के पीड़ित परिवार की है। परिवार के 5 सदस्य सोमवार सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच लखनऊ रवाना हुए।

उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 साल की दलित युवती से कथित बलात्कार और उसकी मौत मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में अहम सुनवाई शुरू हो गई है। यह मामला गरिमापूर्ण तरीके से अंतिम संस्कार टाइटल के तहत सूचीबद्ध है। पीड़ित परिवार सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच लखनऊ पहुंच गया है। एक अक्टूबर को कोर्ट ने मामले को खुद नोटिस में लिया था। कोर्ट ने प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, डीजीपी एचसी अवस्थी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के अलावा हाथरस के डीएम और एसपी को तलब किया है। पीड़ित परिवार को भी कोर्ट में गवाही के लिए हाजिर रहना है। हाईकोर्ट में सरकार की तरफ से विनोद शाही पैरवी करेंगे, जबकि कोर्ट ने वरिष्ठ वकील जेएन माथुर को एमिकस क्यूरी (न्याय मित्र) बनाया है। पीड़ित परिवार को लखनऊ छह गाड़ियों से एस्कार्ट कर ले जाया जा रहा है।परिवार के पांच लोग कोर्ट में देंगे गवाही पीड़ित परिवार सुबह 5 बजे हाथरस से निकला। पीड़ित के माता-पिता, दो भाई और एक भाभी लखनऊ पहुंचीं। सभी को हाईकोर्ट के पास स्थित उत्तराखंड भवन में ठहराया गया। एसडीएम अंजलि गंगवार और सीओ शैलेंद्र बाजपेयी ने सुरक्षा व्यवस्था की कमान संभाल रखी है। दो गाड़ियों में पीड़ित परिवार था, जबकि छह गाड़ियां उनके एस्कॉर्ट के लिए हैं। भाई ने कहा कि जो भी घटना हुई है, उसके बारे में कोर्ट को बताएंगे। जो घटना के वक्त मौजूद था, वह अपनी बात कोर्ट में रखेगा। इससे पहले उन्होंने रविवार रात लखनऊ जाने से मना कर दिया था। पीड़ित के भाई ने कहा कि रात में हमारे साथ कुछ भी हो सकता है। हमें प्रशासन पर भरोसा नहीं है। सादी वर्दी में महिला पुलिस अधिकारी सुरक्षा में तैनात हैं।सीबीआई आज घटनास्थल की जांच करेगी उधर, केस दर्ज करने के बाद सीबीआई की एंटी करप्शन ब्रांच ने हाथरस पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। जांच महिला डिप्टी एसपी सीमा पाहुजा कर रही हैं। सीबीआई ने रविवार को ही पुलिस से एफआईआर व दस्तावेज लिए हैं। सूत्रों की मानें तो आज सीबीआई टीम जांच करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचेगी। टीम के साथ फोरेंसिक टीम भी मौजूद रहेगी और घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद सबूतों को इकट्ठा करेगी। जांच अधिकारियों से भी वार्ता करेगी। सीबीआई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, पूर्व में फॉरेंसिक टीम द्वारा लिए गए जांच सैंपल और सभी संबंधित सबूतों को जुटाएगी। क्या है पूरा मामला? हाथरस में 14 सितंबर को 4 लोगों ने कथित रूप से 19 साल की लड़की के साथ गैंगरेप किया था। यह भी आरोप है कि उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी और जीभ भी काट दी थी। दिल्ली में इलाज के दौरान 29 सितंबर को पीड़ित की मौत हो गई। चारों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। हालांकि, पुलिस का दावा है कि दुष्कर्म नहीं हुआ था। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

फोटो हाथरस के पीड़ित परिवार की है। परिवार के 5 सदस्य सोमवार सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच लखनऊ रवाना हुए।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *