पब्लिक पॉलिसी की हेड अंखी दास ने कंपनी छोड़ी, हेट स्पीच को बढ़ावा देने का आरोप लगा थाDainik Bhaskar


फेसबुक की पब्लिक पॉलिसी की हेड अंखी दास ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। अंखी पर आरोप लगे थे कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हेट कंटेंट को रोकने में वो पक्षपात कर रही हैं। फेसबुक इंडिया के MD अजित मोहन ने इस बात की जानकारी दी और कहा कि अंखी अब पब्लिक सर्विस के लिए काम करेंगी। भारत में कंपनी के लिए काम करने वाली शुरुआती नागरिकों में से एक हैं। उन्होंने 9 साल में कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए अहम रोल निभाया है।

अंखी भारत के साथ-साथ फेसबुक के दक्षिण और मध्य एशिया की भी डायरेक्टर थीं। यह इस्तीफा ऐसे समय में उन्होंने दिया है, जब हाल में सरकार ने फेसबुक, ट्विटर और अमेजन को तलब किया था। हाल में हेट स्पीच के मामले में अंखी संसद की संयुक्त संसदीय समिति (JPC) के सामने पेश हुई थीं। माना जा रहा है कि इस पूछताछ और विवादों में घसीटे जाने से पहले ही अंखी ने इस्तीफा दे दिया।

संसदीय समिति के सामने पेश हुई थीं अंखी

अंखी दास डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की जिस संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं, उसकी अध्यक्षता भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी कर रही हैं। बीते दिनों में फेसबुक पर हेट स्पीच को बढ़ावा देने और राजनीतिक झुकाव के आरोप लगे। इन आरोपों पर फेसबुक ने कहा था कि वे हेट स्पीच के मामले में कार्रवाई को लेकर सजग है। फेसबुक ने कहा था कि वह अपनी पॉलिसी के हिसाब से किसी भी पार्टी या धर्म को नहीं देखता है और निष्पक्षता के साथ काम करता है।

भाजपा और हिंदुत्व का पक्ष लेने का आरोप लगा था

अंखी उस वक्त चर्चा में आई थीं जब ‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ की एक रिपोर्ट में उनका नाम लिखा गया था। रिपोर्ट में स्पष्ट लिखा गया था कि अंखी बीजेपी और हिंदुत्व समूहों से जुड़े नेताओं की नफरत वाली पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने देतीं। ‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ की रिपोर्ट के अनुसार, अंखी की भूमिका उस टीम की निगरानी करने की थी, जो यह तय करती है कि फेसबुक पर किस कंटेंट की मंजूरी दी जाए और किसकी नहीं।

‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ के मुताबिक, फेसबुक के कर्मचारियों ने टी. राजा सिंह द्वारा भड़काऊ पोस्ट का मामला उठाया था। राजा सिंह तेलंगाना में बीजेपी के विधायक हैं और वह अक्सर भड़काऊ बयान देने के लिए सुर्खियों में रहे हैं। इस मामले में कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी ने भी आरोप लगाया था कि फेसबुक इस तरह के हेट स्पीच को नहीं हटा रहा है। इस आरोप से भाजपा और कांग्रेस आमने- सामने आ गई थीं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


फेसबुक ने कहा कि अंखी दास 9 साल से कंपनी में जुड़ीं। वे भारत में कंपनी के शुरुआती इम्प्लॉई में से एक थीं और कंपनी के विकास के लिए अहम रोल निभाया।

फेसबुक की पब्लिक पॉलिसी की हेड अंखी दास ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। अंखी पर आरोप लगे थे कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हेट कंटेंट को रोकने में वो पक्षपात कर रही हैं। फेसबुक इंडिया के MD अजित मोहन ने इस बात की जानकारी दी और कहा कि अंखी अब पब्लिक सर्विस के लिए काम करेंगी। भारत में कंपनी के लिए काम करने वाली शुरुआती नागरिकों में से एक हैं। उन्होंने 9 साल में कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए अहम रोल निभाया है। अंखी भारत के साथ-साथ फेसबुक के दक्षिण और मध्य एशिया की भी डायरेक्टर थीं। यह इस्तीफा ऐसे समय में उन्होंने दिया है, जब हाल में सरकार ने फेसबुक, ट्विटर और अमेजन को तलब किया था। हाल में हेट स्पीच के मामले में अंखी संसद की संयुक्त संसदीय समिति (JPC) के सामने पेश हुई थीं। माना जा रहा है कि इस पूछताछ और विवादों में घसीटे जाने से पहले ही अंखी ने इस्तीफा दे दिया। संसदीय समिति के सामने पेश हुई थीं अंखी अंखी दास डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की जिस संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं, उसकी अध्यक्षता भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी कर रही हैं। बीते दिनों में फेसबुक पर हेट स्पीच को बढ़ावा देने और राजनीतिक झुकाव के आरोप लगे। इन आरोपों पर फेसबुक ने कहा था कि वे हेट स्पीच के मामले में कार्रवाई को लेकर सजग है। फेसबुक ने कहा था कि वह अपनी पॉलिसी के हिसाब से किसी भी पार्टी या धर्म को नहीं देखता है और निष्पक्षता के साथ काम करता है। भाजपा और हिंदुत्व का पक्ष लेने का आरोप लगा था अंखी उस वक्त चर्चा में आई थीं जब ‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ की एक रिपोर्ट में उनका नाम लिखा गया था। रिपोर्ट में स्पष्ट लिखा गया था कि अंखी बीजेपी और हिंदुत्व समूहों से जुड़े नेताओं की नफरत वाली पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने देतीं। ‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ की रिपोर्ट के अनुसार, अंखी की भूमिका उस टीम की निगरानी करने की थी, जो यह तय करती है कि फेसबुक पर किस कंटेंट की मंजूरी दी जाए और किसकी नहीं। ‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ के मुताबिक, फेसबुक के कर्मचारियों ने टी. राजा सिंह द्वारा भड़काऊ पोस्ट का मामला उठाया था। राजा सिंह तेलंगाना में बीजेपी के विधायक हैं और वह अक्सर भड़काऊ बयान देने के लिए सुर्खियों में रहे हैं। इस मामले में कांग्रेस के सांसद राहुल गांधी ने भी आरोप लगाया था कि फेसबुक इस तरह के हेट स्पीच को नहीं हटा रहा है। इस आरोप से भाजपा और कांग्रेस आमने- सामने आ गई थीं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

फेसबुक ने कहा कि अंखी दास 9 साल से कंपनी में जुड़ीं। वे भारत में कंपनी के शुरुआती इम्प्लॉई में से एक थीं और कंपनी के विकास के लिए अहम रोल निभाया।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *