मंत्री चव्हाण बोले- कांग्रेस शासित नगर निगमों को उद्धव फंड नहीं देते, दिल्ली के नेता शिवसेना के साथ जाना नहीं चाहते थेDainik Bhaskar


महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार यानी महाराष्ट्र विकास अघाड़ी में बड़ी फूट नजर आ रही है। कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र सरकार में लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री उद्धव कांग्रेस शासित नगर निगमों को फंड नहीं देते हैं। शुक्रवार शाम को मराठवाड़ा में भारी बारिश से हुए नुकसान की समीक्षा के लिए पूर्व सीएम अशोक चव्हाण परभणी पहुंचे थे। यहां एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने यह बात कही हैं।

चव्हाण ने कहा, “कांग्रेस शासित नगर निगमों को मुख्यमंत्री से पैसा नहीं मिलता। इसलिए नांदेड़ को भी फंड नहीं मिला। हालांकि, लोक निर्माण विभाग ने अपने प्रयास से इसे धन मुहैया करवाया है।”

‘हम मराठवाड़ा के लिए और अधिक फंड लेने का प्रयास करेंगे’
चव्हाण ने आगे कहा, “मेरा मानना है कि सत्ता में रहते हुए क्षेत्र का विकास होना चाहिए। दुर्भाग्य से हमारे क्षेत्र (नांदेड़) में कोरोना के लिए तय की गई राशि का सिर्फ 30% ही मिला। हम चाहते हैं कि मराठवाड़ा के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा मिले।”

पढ़ें: मुस्लिम वोटर्स को साधने में जुटी शिवसेना, कांग्रेस के बड़े नेता अब्दुल सत्तार को पार्टी में किया शामिल

‘दिल्ली कांग्रेस के नेता नहीं चाहते थे शिवसेना संग गठबंधन’
अशोक चव्हाण ने यह भी खुलासा किया कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के बाद दिल्ली के कांग्रेस नेता, शिवसेना के साथ गठबंधन करके सरकार बनाने के पक्ष में नहीं थे। लेकिन, महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं की जिद के कारण महाराष्ट्र विकास अघाड़ी गठबंधन बना और उद्धव को मुख्यमंत्री चुना गया।”

पढ़ें: महाराष्ट्र में मंदिर खोलने पर विवाद:भाजपा नेता शेलार ने कहा- कसाब को बिरयानी खिलाने वाले के साथ शिवसेना ने शादी रचाई, इसलिए सीएम को राज्यपाल से लेना होगा हिंदुत्व का पाठ

उन्होंने कहा,”दिल्ली में कांग्रेस के नेता दुविधा में थे कि शिवसेना के साथ गठबंधन करें या नहीं। लेकिन, राज्य में कांग्रेस के नेताओं की राय थी कि उन्हें भाजपा को रोकने के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन करना चाहिए। भाजपा ने कांग्रेस को खत्म करने के लिए काम करना शुरू कर दिया था, इसलिए कांग्रेस पार्टी शिवसेना के साथ आने के लिए तैयार हुई।” महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के गठबंधन वाली सरकार सत्ता में है।

शिवसेना नेता राउत बोले- यह ठीक नहीं
अशोक चव्हाण के आरोप पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, ‘‘अशोक चव्हाण ने सीएम उद्धव ठाकरे के लिए जो बात कही है वह ठीक नहीं है। मुझे लगता है अशोक चव्हाण जिसके बारे में बोल रहे हैं वे सीएम से संबंधित ही नहीं है। महानगरपालिका की निधि के मसले को बातचीत से सुलझाया जा सकता है। दशहरे के भाषण में सीएम उद्धव ने कहा था कि किसी के साथ अन्याय नहीं होगा।’’

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


अशोक चव्हाण परभणी जिले के दौरे पर थे और इसी दौरान उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा।

महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार यानी महाराष्ट्र विकास अघाड़ी में बड़ी फूट नजर आ रही है। कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र सरकार में लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री उद्धव कांग्रेस शासित नगर निगमों को फंड नहीं देते हैं। शुक्रवार शाम को मराठवाड़ा में भारी बारिश से हुए नुकसान की समीक्षा के लिए पूर्व सीएम अशोक चव्हाण परभणी पहुंचे थे। यहां एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने यह बात कही हैं। चव्हाण ने कहा, “कांग्रेस शासित नगर निगमों को मुख्यमंत्री से पैसा नहीं मिलता। इसलिए नांदेड़ को भी फंड नहीं मिला। हालांकि, लोक निर्माण विभाग ने अपने प्रयास से इसे धन मुहैया करवाया है।” ‘हम मराठवाड़ा के लिए और अधिक फंड लेने का प्रयास करेंगे’ चव्हाण ने आगे कहा, “मेरा मानना है कि सत्ता में रहते हुए क्षेत्र का विकास होना चाहिए। दुर्भाग्य से हमारे क्षेत्र (नांदेड़) में कोरोना के लिए तय की गई राशि का सिर्फ 30% ही मिला। हम चाहते हैं कि मराठवाड़ा के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा मिले।” पढ़ें: मुस्लिम वोटर्स को साधने में जुटी शिवसेना, कांग्रेस के बड़े नेता अब्दुल सत्तार को पार्टी में किया शामिल ‘दिल्ली कांग्रेस के नेता नहीं चाहते थे शिवसेना संग गठबंधन’ अशोक चव्हाण ने यह भी खुलासा किया कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के बाद दिल्ली के कांग्रेस नेता, शिवसेना के साथ गठबंधन करके सरकार बनाने के पक्ष में नहीं थे। लेकिन, महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं की जिद के कारण महाराष्ट्र विकास अघाड़ी गठबंधन बना और उद्धव को मुख्यमंत्री चुना गया।” पढ़ें: महाराष्ट्र में मंदिर खोलने पर विवाद:भाजपा नेता शेलार ने कहा- कसाब को बिरयानी खिलाने वाले के साथ शिवसेना ने शादी रचाई, इसलिए सीएम को राज्यपाल से लेना होगा हिंदुत्व का पाठ उन्होंने कहा,”दिल्ली में कांग्रेस के नेता दुविधा में थे कि शिवसेना के साथ गठबंधन करें या नहीं। लेकिन, राज्य में कांग्रेस के नेताओं की राय थी कि उन्हें भाजपा को रोकने के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन करना चाहिए। भाजपा ने कांग्रेस को खत्म करने के लिए काम करना शुरू कर दिया था, इसलिए कांग्रेस पार्टी शिवसेना के साथ आने के लिए तैयार हुई।” महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के गठबंधन वाली सरकार सत्ता में है। शिवसेना नेता राउत बोले- यह ठीक नहीं अशोक चव्हाण के आरोप पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, ‘‘अशोक चव्हाण ने सीएम उद्धव ठाकरे के लिए जो बात कही है वह ठीक नहीं है। मुझे लगता है अशोक चव्हाण जिसके बारे में बोल रहे हैं वे सीएम से संबंधित ही नहीं है। महानगरपालिका की निधि के मसले को बातचीत से सुलझाया जा सकता है। दशहरे के भाषण में सीएम उद्धव ने कहा था कि किसी के साथ अन्याय नहीं होगा।’’ आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

अशोक चव्हाण परभणी जिले के दौरे पर थे और इसी दौरान उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *