प्रशांत भूषण ने 21 अक्टूबर को किया था ट्वीट, ट्वीट में हुई ‘गलती’ पर जताया खेदDainik Bhaskar


सीनियर वकील और एक्टिविस्ट प्रशांत भूषण ने एक बार फिर ट्विटर पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एस.ए. बोबडे की आलोचना की। हालांकि, इस बार उन्होंने खुद अपनी गलती स्वीकार करते हुए ट्वीट को लेकर बुधवार को खेद जताया। बता दें कि भूषण ने यह ट्वीट 21 अक्टूबर को किया था। इसमें उन्होंने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा CJI को स्पेशल हेलिकॉप्टर मुहैया कराए जाने के मामले में आलोचना की थी।

ट्वीट में क्या लिखा था

वकील भूषण ने लिखा था, ‘CJI एस.ए. बोबडे ने कान्हा नेशनल पार्क की यात्रा के लिए स्पेशल हेलिकॉप्टर की सेवा ऐसे वक्त ली, जब उनके सामने मध्यप्रदेश के विधायकों की अयोग्यता वाला मुकदमा लंबित है। मध्यप्रदेश सरकार का रहना या न रहना इसी मुकदमे पर निर्भर है।’

बाद में भूषण ने ट्वीट पर खेद जताया

प्रशांत भूषण ने बुधवार को इस ट्वीट पर खेद जताया। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस छोड़कर शिवराज सरकार में मंत्री बनने वाले नेताओं की सीटों पर मतदान हुआ। शिवराज सरकार रहेगी या जाएगी, यह इस बात पर निर्भर है कि इन सीटों पर कौन जीतेगा। न कि CJI के कोर्ट में विधायकी को चैलेंज करने वाले लंबित याचिकाओं पर। मैं अपने ट्वीट में हुई गलती पर खेद प्रकट करता हूं।’

इससे पहले भी किया था विवादित ट्वीट

इससे पहले भी ऐसे ही एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सीनियर वकील प्रशांत भूषण को अवमानना का दोषी करार दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त को उन पर 1 रुपए का जुर्माना भी लगाया था। भूषण को इससे पहले भी न्यायपालिका के खिलाफ दो ट्वीट के लिए दोषी ठहराया जा चुका है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


प्रशांत भूषण ने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा CJI को स्पेशल हेलिकॉप्टर मुहैया कराए जाने की आलोचना की थी। -फाइल फोटो

सीनियर वकील और एक्टिविस्ट प्रशांत भूषण ने एक बार फिर ट्विटर पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एस.ए. बोबडे की आलोचना की। हालांकि, इस बार उन्होंने खुद अपनी गलती स्वीकार करते हुए ट्वीट को लेकर बुधवार को खेद जताया। बता दें कि भूषण ने यह ट्वीट 21 अक्टूबर को किया था। इसमें उन्होंने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा CJI को स्पेशल हेलिकॉप्टर मुहैया कराए जाने के मामले में आलोचना की थी। ट्वीट में क्या लिखा था वकील भूषण ने लिखा था, ‘CJI एस.ए. बोबडे ने कान्हा नेशनल पार्क की यात्रा के लिए स्पेशल हेलिकॉप्टर की सेवा ऐसे वक्त ली, जब उनके सामने मध्यप्रदेश के विधायकों की अयोग्यता वाला मुकदमा लंबित है। मध्यप्रदेश सरकार का रहना या न रहना इसी मुकदमे पर निर्भर है।’ बाद में भूषण ने ट्वीट पर खेद जताया प्रशांत भूषण ने बुधवार को इस ट्वीट पर खेद जताया। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस छोड़कर शिवराज सरकार में मंत्री बनने वाले नेताओं की सीटों पर मतदान हुआ। शिवराज सरकार रहेगी या जाएगी, यह इस बात पर निर्भर है कि इन सीटों पर कौन जीतेगा। न कि CJI के कोर्ट में विधायकी को चैलेंज करने वाले लंबित याचिकाओं पर। मैं अपने ट्वीट में हुई गलती पर खेद प्रकट करता हूं।’ इससे पहले भी किया था विवादित ट्वीट इससे पहले भी ऐसे ही एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सीनियर वकील प्रशांत भूषण को अवमानना का दोषी करार दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त को उन पर 1 रुपए का जुर्माना भी लगाया था। भूषण को इससे पहले भी न्यायपालिका के खिलाफ दो ट्वीट के लिए दोषी ठहराया जा चुका है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

प्रशांत भूषण ने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा CJI को स्पेशल हेलिकॉप्टर मुहैया कराए जाने की आलोचना की थी। -फाइल फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *