फारूक बोले- जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान के साथ जाना होता तो 1947 में ही चला जाताDainik Bhaskar


जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा वापस दिलाने के लिए लड़ाई लड़ रहे नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला भाजपा पर लगातार हमलावर बने हुए हैं। शुक्रवार को 84 साल के अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान के साथ जाना होता तो 1947 में ही चला जाता। कोई भी ऐसा होने से नहीं रोक सकता था, लेकिन हमारा देश महात्मा गांधी वाला भारत है। भाजपा का भारत नहीं।

उन्होंने जम्मू में कार्यकर्ताओं के बीच कहा कि वह तब तक नहीं मरेंगे, जब तक कि राज्य के लोगों के संवैधानिक अधिकारों को बहाल नहीं किया जाता। मैं यहां लोगों के लिए कुछ करने के लिए हूं। जिस दिन मैं अपना काम पूरा करूंगा, इस दुनिया को छोड़ दूंगा। यह कार्यक्रम शनिवार को पीपुल्स अलायंस की बैठक से पहले शेर-ए-कश्मीर भवन में किया गया। आर्टिकल-370 हटने के बाद से जम्मू में अब्दुल्ला की यह पहली राजनीतिक बैठक थी।

हथियार उठाने के लिए मजबूर हुए नौजवान

कार्यक्रम में उमर अब्दुल्ला ने दावा किया कि केंद्र के हालिया गलत कदम ने घाटी के युवाओं को फिर से हथियार उठाने के लिए मजबूर किया है। 2012 से 2014 तक बमुश्किल कुछ नौजवान हथियार उठा रहे थे। पिछले 12-13 साल में जितने युवा आतंकवादी संगठनों में शामिल हुए, उतनी संख्या अब कुछ महीनों में हो जा रही है।

उन्होंने आर्टिकल-370 और 35-A हटने से कश्मीर में विकास होने के दावे पर सवाल उठाया। उन्होंने पूछा कि विकास कहां है? 1 साल 3 महीने प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए काफी हैं। हम हमेशा कहेंगे कि आर्टिकल-370 और 35-A सभी समस्याओं को हल करेगा। इन्हें हटाना जम्मू-कश्मीर के लिए सबसे बड़ा गलत कदम है। हम अपनी जमीन पर सुरक्षित नहीं हैं।

उमर ने कहा कि वे कहते हैं कि आर्टिकल 370 और 35-A हटाने से भारतीय प्रशासन से कटे लोग देश के बाकी हिस्सों से जुड़ जाएंगे। मैं विश्वास के साथ कहना चाहूंगा कि इससे ये लोग पहले से भी ज्यादा अलग-थलग हो गए हैं।

महबूबा बोलीं- कश्मीर को प्रेशर कुकर जैसा बना दिया

पीपुल्स अलायंस की बैठक के लिए जम्मू पहुंची महबूबा मुफ्ती ने कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर की हालत प्रेशर कुकर जैसी बना दी है। उन्होंने (केंद्र) लोगों की आवाज को दबा दिया है। उन्हें बात करने की इजाजत नहीं दे रहे हैं। यह स्थिति प्रेशर कुकर की तरह है, लेकिन जब प्रेशर कुकर में विस्फोट होता है तो इससे पूरा घर जल जाता है।

पीपुल्स अलायंस बनाकर खोला है मोर्चा

जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 की बहाली के लिए पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत कुछ लोकल पार्टियों ने पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन बनाया है। फारूक अब्दुल्ला इस गठबंधन के अध्यक्ष और महबूबा मुफ्ती उपाध्यक्ष हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 की बहाली के लिए पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कुछ लोकल पार्टियों के साथ पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन बनाया है।

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा वापस दिलाने के लिए लड़ाई लड़ रहे नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला भाजपा पर लगातार हमलावर बने हुए हैं। शुक्रवार को 84 साल के अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान के साथ जाना होता तो 1947 में ही चला जाता। कोई भी ऐसा होने से नहीं रोक सकता था, लेकिन हमारा देश महात्मा गांधी वाला भारत है। भाजपा का भारत नहीं। उन्होंने जम्मू में कार्यकर्ताओं के बीच कहा कि वह तब तक नहीं मरेंगे, जब तक कि राज्य के लोगों के संवैधानिक अधिकारों को बहाल नहीं किया जाता। मैं यहां लोगों के लिए कुछ करने के लिए हूं। जिस दिन मैं अपना काम पूरा करूंगा, इस दुनिया को छोड़ दूंगा। यह कार्यक्रम शनिवार को पीपुल्स अलायंस की बैठक से पहले शेर-ए-कश्मीर भवन में किया गया। आर्टिकल-370 हटने के बाद से जम्मू में अब्दुल्ला की यह पहली राजनीतिक बैठक थी। हथियार उठाने के लिए मजबूर हुए नौजवान कार्यक्रम में उमर अब्दुल्ला ने दावा किया कि केंद्र के हालिया गलत कदम ने घाटी के युवाओं को फिर से हथियार उठाने के लिए मजबूर किया है। 2012 से 2014 तक बमुश्किल कुछ नौजवान हथियार उठा रहे थे। पिछले 12-13 साल में जितने युवा आतंकवादी संगठनों में शामिल हुए, उतनी संख्या अब कुछ महीनों में हो जा रही है। उन्होंने आर्टिकल-370 और 35-A हटने से कश्मीर में विकास होने के दावे पर सवाल उठाया। उन्होंने पूछा कि विकास कहां है? 1 साल 3 महीने प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए काफी हैं। हम हमेशा कहेंगे कि आर्टिकल-370 और 35-A सभी समस्याओं को हल करेगा। इन्हें हटाना जम्मू-कश्मीर के लिए सबसे बड़ा गलत कदम है। हम अपनी जमीन पर सुरक्षित नहीं हैं। उमर ने कहा कि वे कहते हैं कि आर्टिकल 370 और 35-A हटाने से भारतीय प्रशासन से कटे लोग देश के बाकी हिस्सों से जुड़ जाएंगे। मैं विश्वास के साथ कहना चाहूंगा कि इससे ये लोग पहले से भी ज्यादा अलग-थलग हो गए हैं। महबूबा बोलीं- कश्मीर को प्रेशर कुकर जैसा बना दिया पीपुल्स अलायंस की बैठक के लिए जम्मू पहुंची महबूबा मुफ्ती ने कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर की हालत प्रेशर कुकर जैसी बना दी है। उन्होंने (केंद्र) लोगों की आवाज को दबा दिया है। उन्हें बात करने की इजाजत नहीं दे रहे हैं। यह स्थिति प्रेशर कुकर की तरह है, लेकिन जब प्रेशर कुकर में विस्फोट होता है तो इससे पूरा घर जल जाता है। पीपुल्स अलायंस बनाकर खोला है मोर्चा जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 की बहाली के लिए पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत कुछ लोकल पार्टियों ने पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन बनाया है। फारूक अब्दुल्ला इस गठबंधन के अध्यक्ष और महबूबा मुफ्ती उपाध्यक्ष हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 की बहाली के लिए पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कुछ लोकल पार्टियों के साथ पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन बनाया है।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *