पढ़िए, द न्यूयॉर्क टाइम्स की इस हफ्ते की चुनिंदा स्टोरीज सिर्फ एक क्लिक परDainik Bhaskar


1. भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति बनी हैं। जानिए, अश्वेतों और बाहरी लोगों के अधिकारों की आवाज बनी कमला हैरिस के राजनीतिक सफर के बारे में…

कमला हैरिस ने हमेशा अपने पूर्वजों का जिक्र किया; अश्वेतों और बाहरी लोगों से अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई

2. राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प आसानी से हार मानने के लिए तैयार नहीं हैं। ट्रम्प ने कहा कि सोमवार से हम अदालत में अपना मामला आगे बढ़ाएंगे। जानिए, क्या कहना है इस मामले में ट्रम्प के सलाहकारों और विशेषज्ञों का…

ट्रम्प ने एक बार फिर कोर्ट में जाने का इरादा जताया

3. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में 24 लोगों की बम हमलों में मौत हो गई है। इस माह 212 लोगों की मौत हो चुकी है। पढ़िए, कौन है इसका जिम्मेदार और क्या है पूरा मामला इस लेख में..

काबुल में आतंकवादी हमलों से दहशत, लोगों में सरकार के खिलाफ असंतोष और गुस्से का माहौल

4. पेरिस के सीन नदी के किनारे छह किलोमीटर में फैले पुस्तक बाजार में सन्नाटा पसरा हुआ है। कोरोनावायरस महामारी से लगी बंदिशों ने कारोबार पर खासा असर डाला है। क्या सदियों पुराने इस बाजार का यह अंतिम अध्याय है? पढ़िए, इस लेख में…

पेरिस में मीलों लंबे पुस्तक बाजार की रौनक फीकी पड़ी

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Read this week’s select stories from The New York Times with just one click

1. भारतीय मूल की कमला हैरिस अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति बनी हैं। जानिए, अश्वेतों और बाहरी लोगों के अधिकारों की आवाज बनी कमला हैरिस के राजनीतिक सफर के बारे में… कमला हैरिस ने हमेशा अपने पूर्वजों का जिक्र किया; अश्वेतों और बाहरी लोगों से अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई 2. राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प आसानी से हार मानने के लिए तैयार नहीं हैं। ट्रम्प ने कहा कि सोमवार से हम अदालत में अपना मामला आगे बढ़ाएंगे। जानिए, क्या कहना है इस मामले में ट्रम्प के सलाहकारों और विशेषज्ञों का… ट्रम्प ने एक बार फिर कोर्ट में जाने का इरादा जताया 3. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में 24 लोगों की बम हमलों में मौत हो गई है। इस माह 212 लोगों की मौत हो चुकी है। पढ़िए, कौन है इसका जिम्मेदार और क्या है पूरा मामला इस लेख में.. काबुल में आतंकवादी हमलों से दहशत, लोगों में सरकार के खिलाफ असंतोष और गुस्से का माहौल 4. पेरिस के सीन नदी के किनारे छह किलोमीटर में फैले पुस्तक बाजार में सन्नाटा पसरा हुआ है। कोरोनावायरस महामारी से लगी बंदिशों ने कारोबार पर खासा असर डाला है। क्या सदियों पुराने इस बाजार का यह अंतिम अध्याय है? पढ़िए, इस लेख में… पेरिस में मीलों लंबे पुस्तक बाजार की रौनक फीकी पड़ी आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Read this week’s select stories from The New York Times with just one clickRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *