रांची में मुसलमानों ने पत्थर मारकर तोड़ा शिवलिंग? वीडियो गलत दावे के साथ वायरलDainik Bhaskar


क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर CCTV की एक फुटेज वायरल हो रही है। इसमें मंदिर पर एक युवक पत्थर फेंकता दिख रहा है। वीडियो रांची का बताया जा रहा है और इसे सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक एंगल से शेयर किया जा रहा है।

ऑप इंडिया वेबसाइट की रिपोर्ट में भी हिंदू मंदिर पर अराजक तत्वों के हमले का दावा किया गया है।

और सच क्या है ?

  • वायरल वीडियो के की-फ्रेम को गूगल पर रिवर्स सर्च कर हमने मामले की सच्चाई जांचनी शुरू की। हमें न्यूज लॉन्ड्री वेबसाइट पर 9 नवंबर, 2020 की एक रिपोर्ट मिली।
  • न्यूज लॉन्ड्री की रिपोर्ट के मुताबिक, मंदिर पर पत्थर मारने वाला शख्स मानसिक रूप से विक्षिप्त है। कुछ संगठन जबरन इस मामले में स्थानीय मुस्लिमों पर निशाना साध रहे हैं।
  • गूगल पर अलग-अलग की-वर्ड सर्च कर इस मामले से जुड़ी अन्य रिपोर्ट्स खंगालनी शुरू कीं। हमें दैनिक भास्कर वेबसाइट पर 5 दिन पुरानी रिपोर्ट मिली। जिससे पता चलता है कि मामला, रांची के अपर बाजार की रंगरेज गली में बने शिव मंदिर से जुड़ा है।
  • दैनिक भास्कर संवाददाता से बातचीत में कोतवाली प्रभारी डीएसपी यशोधरा ने बताया कि पत्थर मारने वाला एक विक्षिप्त है। सीसीटीवी के फुटेज में वह मंदिर में पत्थर फेंकते हुए दिखाई दे रहा है। इसके अलावा वह वहां की नालियों के स्लैब को भी उठाकर फेंक रहा था। पुलिस उसकी तलाश में जुट गई है।
  • इस मामले से जुड़ी किसी भी मीडिया रिपोर्ट में पत्थर फेंकने वाले शख्स के नाम का जिक्र नहीं है। साफ है कि पत्थर फेंक रहे शख्स के मुस्लिम समुदाय का होने का दावा मनगढ़ंत है। इस मामले में झूठा दावा कर कुछ लोग साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Muslims broke the Shivling by pelting stone, here’s latest updates

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर CCTV की एक फुटेज वायरल हो रही है। इसमें मंदिर पर एक युवक पत्थर फेंकता दिख रहा है। वीडियो रांची का बताया जा रहा है और इसे सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक एंगल से शेयर किया जा रहा है। झारखंड की राजधानी राँची के अपर बाजार की रंगरेज गली में स्थित मंदिर में अराजक तत्वों ने यहाँ मंदिर में बने शिवलिंग को ही पूरा उखाड़ दिया,मुस्लिम लोग ऐसी घटिया हरकते कर के क्या साबित करना चाहते है ,अगर आज हिन्दू नही जागे तो जिंदगी भर इनके गुलाम बने रहना होगा,#जागो_हिन्दू_जागो pic.twitter.com/yG17BZck6a — 🚩🇮🇳अमिता सोनी🇮🇳🚩 (@AmitaSoni3) November 7, 2020ऑप इंडिया वेबसाइट की रिपोर्ट में भी हिंदू मंदिर पर अराजक तत्वों के हमले का दावा किया गया है। और सच क्या है ? वायरल वीडियो के की-फ्रेम को गूगल पर रिवर्स सर्च कर हमने मामले की सच्चाई जांचनी शुरू की। हमें न्यूज लॉन्ड्री वेबसाइट पर 9 नवंबर, 2020 की एक रिपोर्ट मिली। न्यूज लॉन्ड्री की रिपोर्ट के मुताबिक, मंदिर पर पत्थर मारने वाला शख्स मानसिक रूप से विक्षिप्त है। कुछ संगठन जबरन इस मामले में स्थानीय मुस्लिमों पर निशाना साध रहे हैं। गूगल पर अलग-अलग की-वर्ड सर्च कर इस मामले से जुड़ी अन्य रिपोर्ट्स खंगालनी शुरू कीं। हमें दैनिक भास्कर वेबसाइट पर 5 दिन पुरानी रिपोर्ट मिली। जिससे पता चलता है कि मामला, रांची के अपर बाजार की रंगरेज गली में बने शिव मंदिर से जुड़ा है। दैनिक भास्कर संवाददाता से बातचीत में कोतवाली प्रभारी डीएसपी यशोधरा ने बताया कि पत्थर मारने वाला एक विक्षिप्त है। सीसीटीवी के फुटेज में वह मंदिर में पत्थर फेंकते हुए दिखाई दे रहा है। इसके अलावा वह वहां की नालियों के स्लैब को भी उठाकर फेंक रहा था। पुलिस उसकी तलाश में जुट गई है। इस मामले से जुड़ी किसी भी मीडिया रिपोर्ट में पत्थर फेंकने वाले शख्स के नाम का जिक्र नहीं है। साफ है कि पत्थर फेंक रहे शख्स के मुस्लिम समुदाय का होने का दावा मनगढ़ंत है। इस मामले में झूठा दावा कर कुछ लोग साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Muslims broke the Shivling by pelting stone, here’s latest updatesRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *