मंत्री मेवालाल की पत्नी की मौत पर थानेदार से सवाल किए, 22 मिनट बाद पीए का फोन आ गयाDainik Bhaskar


बिहार के नए मंत्री मेवालाल चौधरी की पत्नी की मौत के मामले से जुड़ा एक खत भास्कर के हाथ लगा है। खत VRS ले चुके IPS अमिताभ कुमार दास ने लिखा है। ये खत बिहार के DGP एसके सिंघल को लिखा गया है और मांग की गई है कि मेवालाल की पत्नी की झुलसकर मौत के मामले में SIT जांच कराई जाए।

भास्कर के हाथ जब ये खत लगा, तो हमने इस मामले से जुड़े थानेदार को फोन लगाया, कुछ सवाल पूछे। दिलचस्प बात ये है कि मंत्री मेवालाल के पीए को इसकी खबर लग गई। थानेदार से बातचीत के ठीक 22 मिनट बाद उन्होंने भास्कर रिपोर्टर को फोन किया और पूछा- मंत्रीजी के बारे में कुछ इन्क्वॉयरी कर रहे थे?

VRS ले चुके IPS अमिताभ कुमार दास की ओर से DGP एसके सिंघल को लिखा गया पत्र।

2020 में एक केस दर्ज है 2015 में एक भी केस नहीं था

दोपहर 12.03 बजे थानेदार से बात: भास्कर ने मुंगेर के तारापुर थाने को फोन किया तो थानेदार ने बताया कि 27 मई 2019 को मेवालाल की पत्नी नीता चौधरी किचन में थीं। इसी दौरान आग लगने से वो बुरी तरह झुलस गईं। 2 जून को उनकी मौत हो गई। पत्नी को बचाने के चक्कर में मेवालाल का हाथ भी बुरी तरह झुलस गया था।

थानेदार ने बताया कि नीता दूध उबालने गई थीं। गैस का पाइप रिसने से आग लग गई। घटना रात 8 से 9 बजे के बीच हुई थी। थाने ने अननैचुरल डेथ (UD) का केस दर्ज किया।

दोपहर 12.27 बजे पीए का फोन: भास्कर रिपोर्टर को फोन करने वाले ने खुद को मंत्री का पीए बताया। कहने लगा कि मंत्रीजी के बारे में क्या पूछताछ कर रहे थे। हमने पूछा कि आपको कैसे खबर लगी? तो जवाब मिला- ‘बस मिल गई खबर।’ यानी थानेदार से उनकी बातचीत हुई। ये बात थाने से ही मंत्रीजी के पीए को बताई गई। हमने भी इस मौत के मामले में पीए से सवाल किए तो थानेदार के जवाब से उनका जवाब मैच नहीं हुआ। थानेदार ने यह घटना 8 से 9 बजे के बीच बताई थी, जबकि पीए साहब बोले की मामला रात करीब 11 बजे का है। गैस पूरे घर में फैल चुकी थी और मैडम को पता ही नहीं लगा।

IPS ने खत में साजिश का दावा किया
मंत्री मेवालाल चौधरी जब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के कुलपति थे, तो उन पर भर्ती घोटाले का आरोप लगा था। DGP को लिखे खत में अमिताभ दास ने नीता की मौत के मामले में मेवालाल पर सवाल उठाया है। उन्होंने लिखा कि नीता की मौत के पीछे बड़ी राजनीतिक साजिश है। हो सकता है कि इस मौत का कनेक्शन एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में हुए भर्ती घोटाले से हो। अमिताभ ने मांग की है कि सुशांत के मामले की तरह इस मामले में भी फुर्ती दिखाई जाए और SIT का गठन कर जांच हो। पूछताछ मंत्री मेवालाल से भी की जाए।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


डॉ. मेवालाल चौधरी तारापुर से जदयू विधायक हैं और नीतीश सरकार में मंत्री बने हैं। इनकी पत्नी की आग से झुलसने से मौत हो गई थी। इसी मामले पर पूर्व IPS ने बिहार के DGP को पत्र लिखा है।

बिहार के नए मंत्री मेवालाल चौधरी की पत्नी की मौत के मामले से जुड़ा एक खत भास्कर के हाथ लगा है। खत VRS ले चुके IPS अमिताभ कुमार दास ने लिखा है। ये खत बिहार के DGP एसके सिंघल को लिखा गया है और मांग की गई है कि मेवालाल की पत्नी की झुलसकर मौत के मामले में SIT जांच कराई जाए। भास्कर के हाथ जब ये खत लगा, तो हमने इस मामले से जुड़े थानेदार को फोन लगाया, कुछ सवाल पूछे। दिलचस्प बात ये है कि मंत्री मेवालाल के पीए को इसकी खबर लग गई। थानेदार से बातचीत के ठीक 22 मिनट बाद उन्होंने भास्कर रिपोर्टर को फोन किया और पूछा- मंत्रीजी के बारे में कुछ इन्क्वॉयरी कर रहे थे? VRS ले चुके IPS अमिताभ कुमार दास की ओर से DGP एसके सिंघल को लिखा गया पत्र।2020 में एक केस दर्ज है 2015 में एक भी केस नहीं था दोपहर 12.03 बजे थानेदार से बात: भास्कर ने मुंगेर के तारापुर थाने को फोन किया तो थानेदार ने बताया कि 27 मई 2019 को मेवालाल की पत्नी नीता चौधरी किचन में थीं। इसी दौरान आग लगने से वो बुरी तरह झुलस गईं। 2 जून को उनकी मौत हो गई। पत्नी को बचाने के चक्कर में मेवालाल का हाथ भी बुरी तरह झुलस गया था। थानेदार ने बताया कि नीता दूध उबालने गई थीं। गैस का पाइप रिसने से आग लग गई। घटना रात 8 से 9 बजे के बीच हुई थी। थाने ने अननैचुरल डेथ (UD) का केस दर्ज किया। दोपहर 12.27 बजे पीए का फोन: भास्कर रिपोर्टर को फोन करने वाले ने खुद को मंत्री का पीए बताया। कहने लगा कि मंत्रीजी के बारे में क्या पूछताछ कर रहे थे। हमने पूछा कि आपको कैसे खबर लगी? तो जवाब मिला- ‘बस मिल गई खबर।’ यानी थानेदार से उनकी बातचीत हुई। ये बात थाने से ही मंत्रीजी के पीए को बताई गई। हमने भी इस मौत के मामले में पीए से सवाल किए तो थानेदार के जवाब से उनका जवाब मैच नहीं हुआ। थानेदार ने यह घटना 8 से 9 बजे के बीच बताई थी, जबकि पीए साहब बोले की मामला रात करीब 11 बजे का है। गैस पूरे घर में फैल चुकी थी और मैडम को पता ही नहीं लगा। IPS ने खत में साजिश का दावा किया मंत्री मेवालाल चौधरी जब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के कुलपति थे, तो उन पर भर्ती घोटाले का आरोप लगा था। DGP को लिखे खत में अमिताभ दास ने नीता की मौत के मामले में मेवालाल पर सवाल उठाया है। उन्होंने लिखा कि नीता की मौत के पीछे बड़ी राजनीतिक साजिश है। हो सकता है कि इस मौत का कनेक्शन एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में हुए भर्ती घोटाले से हो। अमिताभ ने मांग की है कि सुशांत के मामले की तरह इस मामले में भी फुर्ती दिखाई जाए और SIT का गठन कर जांच हो। पूछताछ मंत्री मेवालाल से भी की जाए। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

डॉ. मेवालाल चौधरी तारापुर से जदयू विधायक हैं और नीतीश सरकार में मंत्री बने हैं। इनकी पत्नी की आग से झुलसने से मौत हो गई थी। इसी मामले पर पूर्व IPS ने बिहार के DGP को पत्र लिखा है।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *