इंदिरा, राजीव से लेकर सोनिया गांधी तक के करीबी और सबसे भरोसेमंद रहे अहमद पटेलDainik Bhaskar


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गुजरात से राज्यसभा सांसद अहमद पटेल का 71 साल की उम्र में बुधवार सुबह निधन हो गया। अहमद पटेल 1 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित हो गए थे। वह गांधी परिवार के सबसे ज्यादा भरोसेमंद नेता थे। अपने राजनीतिक करियर के करीब 4 दशकों में वे इंदिरा गांधी से लेकर राजीव गांधी और इसके बाद सोनिया गांधी के भी करीब रहे।

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी के साथ अहमद पटेल।

पिता से सीखी सियासत की बारीकियां
मोहम्मद ईशाजी पटेल और हवाबेन मोहम्मद की संतान अहमद पटेल का जन्म भरूच के पिरामण गांव में 1949 को हुआ था। पिता भरूच तहसील की पंचायत के सदस्य और चर्चित नेता थे। इसी कारण शुरुआत से ही अहमद पटेल की राजनीति में रुचि रही। पिता ने भी राजनीतिक करियर बनाने में उनकी खूब मदद की।

भरूच शहर और जिला कांग्रेस समिति की ओर से की गई रैली में अहमद पटेल।

28 साल में सांसद बन गए थे
पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था। वे 3 बार लोकसभा सांसद (1977 से 1989) और 4 बार राज्यसभा सांसद (1993 से 2020) रहे। उन्होंने पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा और 62 हजार 879 वोटों से जीते भी। तब उनकी उम्र सिर्फ 28 साल थी। 1980 में पटेल ने भरूच से ही 82 हजार 844 वोटों से और 1984 में 1 लाख 23 हजार 69 वोटों से जीत दर्ज की थी।

क्रिकेट के शौकीन अहमद पटेल।
अमिताभ बच्चन के साथ एक फोटो।
टेक्नोक्रेट सैम पित्रोदा के साथ।
सोनिया गांधी के साथ।
पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी के साथ।
अहमद पटेल ग्राउंड लेवल पर भी काफी एक्टिव रहे।
माधवराव सिंधिया के साथ।
लोकसभा सांसद बनने के बाद विजयी रैली के दौरान।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के साथ।
पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के साथ।
पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ।
डॉ. अंबेडकर की याद में आयोजित एक जनसभा के दौरान।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के साथ अहमद पटेल।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गुजरात से राज्यसभा सांसद अहमद पटेल का 71 साल की उम्र में बुधवार सुबह निधन हो गया। अहमद पटेल 1 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित हो गए थे। वह गांधी परिवार के सबसे ज्यादा भरोसेमंद नेता थे। अपने राजनीतिक करियर के करीब 4 दशकों में वे इंदिरा गांधी से लेकर राजीव गांधी और इसके बाद सोनिया गांधी के भी करीब रहे। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी के साथ अहमद पटेल।पिता से सीखी सियासत की बारीकियां मोहम्मद ईशाजी पटेल और हवाबेन मोहम्मद की संतान अहमद पटेल का जन्म भरूच के पिरामण गांव में 1949 को हुआ था। पिता भरूच तहसील की पंचायत के सदस्य और चर्चित नेता थे। इसी कारण शुरुआत से ही अहमद पटेल की राजनीति में रुचि रही। पिता ने भी राजनीतिक करियर बनाने में उनकी खूब मदद की। भरूच शहर और जिला कांग्रेस समिति की ओर से की गई रैली में अहमद पटेल।28 साल में सांसद बन गए थे पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था। वे 3 बार लोकसभा सांसद (1977 से 1989) और 4 बार राज्यसभा सांसद (1993 से 2020) रहे। उन्होंने पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा और 62 हजार 879 वोटों से जीते भी। तब उनकी उम्र सिर्फ 28 साल थी। 1980 में पटेल ने भरूच से ही 82 हजार 844 वोटों से और 1984 में 1 लाख 23 हजार 69 वोटों से जीत दर्ज की थी। क्रिकेट के शौकीन अहमद पटेल।अमिताभ बच्चन के साथ एक फोटो।टेक्नोक्रेट सैम पित्रोदा के साथ।सोनिया गांधी के साथ।पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी के साथ।अहमद पटेल ग्राउंड लेवल पर भी काफी एक्टिव रहे।माधवराव सिंधिया के साथ।लोकसभा सांसद बनने के बाद विजयी रैली के दौरान।मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के साथ।पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के साथ।पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ।डॉ. अंबेडकर की याद में आयोजित एक जनसभा के दौरान।आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के साथ अहमद पटेल।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *