तूफान देर शाम या रात में तमिलनाडु-पुडुचेरी को पार करेगा; 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैंDainik Bhaskar


बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान निवार (Cyclone Nivar) ने तेजी पकड़ ली है। चेन्नई में पिछले 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। हालत ये है कि कई इलाकों में पानी भर गया है। पूर्व सीएम करुणानिधि के घर में भी पानी भर गया है और इसका वीडियो अब वायरल हो रहा है। मौसम विभाग (IMD) ने इसके खतरनाक साइक्लोन में तब्दील होने का अनुमान लगाया है।

चेन्नई के साइक्लोन वॉर्निंग सेंटर के मुताबिक, निवार साइक्लोन फिलहाल चेन्नई से 350 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में है। यह उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ रहा है। यह देर शाम या रात में कराईकल (आंध्र प्रदेश) और महाबलीपुरम (तमिलनाडु) को पार करेगा। यहां से गुजरते वक्त 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान से निपटने के लिए तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में 1200 रेस्क्यू ट्रूपर्स तैनात किए गए हैं। ऐसे 800 ट्रूपर्स स्टैंडबाई रखे गए हैं। रेलवे ने 12 जोड़ी ट्रेनें रद्द कर दी हैं। कई ट्रेनों को तूफान प्रभावित स्टेशनों से पहले ही खत्म करने का फैसला लिया गया है।

प्रधानमंत्री ने पुडुचेरी और तमिलनाडु के CM से चर्चा की
निवार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की। मोदी ने निचले इलाकों को खाली कराने और लोगों को सुरक्षित इलाकों में पहुंचाने पर जोर दिया। पीएम ने दोनों सीएम को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

अरब सागर से उठे तूफान के असर से तमिलनाडु और पुडुचेरी में मौसम बदला। IMD ने कई जगह भारी बारिश की चेतावनी दी है।

तमिलनाडु-पुडुचेरी के कई हिस्सों में बारिश
तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु के चेंबरमबक्कम समेत बड़े बांधों पर लगातार नजर रखी जा रही है। निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है। मंगलवार को तूफान पुडुचेरी से 410 और तमिलनाडु से 450 किलोमीटर की दूरी पर था। तूफान आने से पहले ही तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है। मौसम विभाग ने बुधवार को कई जगह भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है।

अपडेट्स

  • IMD दिल्ली के वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहा- निवार चक्रवात बुधवार शाम 5 बजे पुडुचेरी के तट से टकराएगा। इसमें और तेजी आने के आसार हैं।
  • IMD ने कहा है कि बुधवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराते वक्त निवार के असर से 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।
  • तट पर तूफान के टकराने के दौरान दोनों ही जगह समुद्र में बहुत ऊंची लहरें उठने के आसार हैं। उत्तरी तट पर स्थित जिलों के निचले इलाकों में पानी घुसने का अंदेशा जताया गया है। मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी जारी की गई है।
  • IMD चेन्नई के वैज्ञानिक एस बालाचंद्रन ने कहा- चक्रवाती तूफान निवार बुधवार शाम तक पुडुचेरी के करईकल और ममल्लापुरम पहुंचेगा। तूफान के असर से तमिलनाडु में 27 नवंबर तक बारिश जारी रहेगी।

कोस्ट गार्ड के 8 शिप, 2 एयरक्राफ्ट तैनात
तूफान को देखते हुए बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में तमिलनाडु और पुडुचेरी तट के करीब कोस्ट गार्ड के 8 शिप और 2 एयरक्राफ्ट तैनात किए हैं। इनके जरिए मर्चेंट शिप और मछली पकड़ने वाली नावों को तूफान की चेतावनी दी जा रही है। NDRF की टीमें लोगों को खराब मौसम से बचाव के उपाय भी बता रही हैं।

तमिलनाडु के तूफान से प्रभावित होने वाले जिलों में रिलीफ एंड रेस्क्यू टीम की तैयारी।

राहत-बचाव के लिए NDRF की 30 टीमें तैयार
नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF) के डीजी एसएन प्रधान ने सोमवार शाम को बताया कि निवार तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में 12 टीमें तैनात की गई हैं। इन राज्यों में 18 टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया है।

निवार से निपटने के लिए NDRF पूरी तरह तैयार।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Cyclone Nivar likely to turn very severe, to cross Tamil Nadu, Puducherry coasts during late evening today

बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान निवार (Cyclone Nivar) ने तेजी पकड़ ली है। चेन्नई में पिछले 24 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। हालत ये है कि कई इलाकों में पानी भर गया है। पूर्व सीएम करुणानिधि के घर में भी पानी भर गया है और इसका वीडियो अब वायरल हो रहा है। मौसम विभाग (IMD) ने इसके खतरनाक साइक्लोन में तब्दील होने का अनुमान लगाया है। चेन्नई के साइक्लोन वॉर्निंग सेंटर के मुताबिक, निवार साइक्लोन फिलहाल चेन्नई से 350 किमी दूर दक्षिण-पूर्व में है। यह उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ रहा है। यह देर शाम या रात में कराईकल (आंध्र प्रदेश) और महाबलीपुरम (तमिलनाडु) को पार करेगा। यहां से गुजरते वक्त 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान से निपटने के लिए तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में 1200 रेस्क्यू ट्रूपर्स तैनात किए गए हैं। ऐसे 800 ट्रूपर्स स्टैंडबाई रखे गए हैं। रेलवे ने 12 जोड़ी ट्रेनें रद्द कर दी हैं। कई ट्रेनों को तूफान प्रभावित स्टेशनों से पहले ही खत्म करने का फैसला लिया गया है। #CycloneNivar #Bulletin2SR 12 pairs of trains services fully cancelled on 25th November 2020 (tomorrow) pic.twitter.com/EDDIOp7NjA — Southern Railway (@GMSRailway) November 24, 2020प्रधानमंत्री ने पुडुचेरी और तमिलनाडु के CM से चर्चा की निवार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की। मोदी ने निचले इलाकों को खाली कराने और लोगों को सुरक्षित इलाकों में पहुंचाने पर जोर दिया। पीएम ने दोनों सीएम को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। अरब सागर से उठे तूफान के असर से तमिलनाडु और पुडुचेरी में मौसम बदला। IMD ने कई जगह भारी बारिश की चेतावनी दी है।तमिलनाडु-पुडुचेरी के कई हिस्सों में बारिश तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु के चेंबरमबक्कम समेत बड़े बांधों पर लगातार नजर रखी जा रही है। निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है। मंगलवार को तूफान पुडुचेरी से 410 और तमिलनाडु से 450 किलोमीटर की दूरी पर था। तूफान आने से पहले ही तमिलनाडु और पुडुचेरी के कई हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है। मौसम विभाग ने बुधवार को कई जगह भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है। The Severe Cyclonic Storm NIVAR over southwest Bay of Bengal moved west-northwestwards with a speed of 06 kmph during past six hours and lay centred at 0230 hrs IST of 25th November, 2020 over southwest Bay of Bengal @ndmaindia @rajeevan61 pic.twitter.com/B7MXWImDso — India Meteorological Department (@Indiametdept) November 25, 2020 अपडेट्स IMD दिल्ली के वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहा- निवार चक्रवात बुधवार शाम 5 बजे पुडुचेरी के तट से टकराएगा। इसमें और तेजी आने के आसार हैं।IMD ने कहा है कि बुधवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराते वक्त निवार के असर से 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।तट पर तूफान के टकराने के दौरान दोनों ही जगह समुद्र में बहुत ऊंची लहरें उठने के आसार हैं। उत्तरी तट पर स्थित जिलों के निचले इलाकों में पानी घुसने का अंदेशा जताया गया है। मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की चेतावनी जारी की गई है।IMD चेन्नई के वैज्ञानिक एस बालाचंद्रन ने कहा- चक्रवाती तूफान निवार बुधवार शाम तक पुडुचेरी के करईकल और ममल्लापुरम पहुंचेगा। तूफान के असर से तमिलनाडु में 27 नवंबर तक बारिश जारी रहेगी। कोस्ट गार्ड के 8 शिप, 2 एयरक्राफ्ट तैनात तूफान को देखते हुए बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में तमिलनाडु और पुडुचेरी तट के करीब कोस्ट गार्ड के 8 शिप और 2 एयरक्राफ्ट तैनात किए हैं। इनके जरिए मर्चेंट शिप और मछली पकड़ने वाली नावों को तूफान की चेतावनी दी जा रही है। NDRF की टीमें लोगों को खराब मौसम से बचाव के उपाय भी बता रही हैं। तमिलनाडु के तूफान से प्रभावित होने वाले जिलों में रिलीफ एंड रेस्क्यू टीम की तैयारी।राहत-बचाव के लिए NDRF की 30 टीमें तैयार नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF) के डीजी एसएन प्रधान ने सोमवार शाम को बताया कि निवार तूफान के मद्देनजर तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में 12 टीमें तैनात की गई हैं। इन राज्यों में 18 टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया है। निवार से निपटने के लिए NDRF पूरी तरह तैयार।आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Cyclone Nivar likely to turn very severe, to cross Tamil Nadu, Puducherry coasts during late evening todayRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *