कश्मीर समेत पहाड़ी राज्यों में दूसरी बार हो सकती है बर्फबारी, मनाली में देशभर से पहुंचने लगे पर्यटकDainik Bhaskar


श्रीनगर/नई दिल्ली. कश्मीर से पश्चिमी विक्षोभ गुजर चुका है। अब अफगानिस्तान की ओर से अगला पश्चिमी विक्षोभ दिसंबर के पहले हफ्ते में आ सकता है। इससे कश्मीर समेत पहाड़ी राज्यों में अगली बर्फबारी हो सकती है। फिलहाल, पहाड़ों से आने वाली हवाओं के कारण अगले दो दिन तक पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान में तापमान में सामान्य से 3 से 4 डिग्री तक गिरावट आएगी।

श्रीनगर में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री रहा। कश्मीर में पिछले एक महीने में तीन बार बर्फबारी हुई। इनका कारण भी पश्चिमी विक्षोभ है। इससे नवंबर के शुरू में कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल, उत्तराखंड में बर्फबारी हुई थी। जबकि 15 से 17 नवंबर तक कम ऊंचाई वाले इलाकों और 24 नवंबर तक कश्मीर के उन इलाकों में बर्फबारी हुई, जो समुद्रतल से 2 हजार मीटर से भी कम की ऊंचाई में हैं। सामान्य रूप से इन इलाकों में दिसंबर में बर्फबारी होती है।

लगातार पांचवें दिन श्रीनगर- लेह हाइवे बंद

जोजिला पास, सोनमर्ग, जीरो पॉइंट, मीनमर्ग और द्रास में भारी बर्फबारी के कारण लगातार पांचवें दिन यह 434 किमी लंबा हाइवे बंद रहा। सीमा सड़क संगठन ने करगिल से जीरो पॉइंट तक बर्फ हट दी है।

मनाली में जबरदस्त बर्फबारी, पर्यटक पहुंचे

शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला और मनाली पर्यटनों स्थलों में जबरदस्त बर्फबारी हुई है। आमतौर पर इन दिनों पर्यटक देशभर से हिमाचल प्रदेश के शिमला और मनाली में बहुत बड़ी संख्या में जाते थे। लोग इस बार भी पहुंचे हैं, लेकिन अभी संख्या कम है।

छत्तीसगढ़ में सबसे ठंडा अंबिकापुर

प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बदली छाई रही, कई जगह बूंदाबांदी हुई। बिलासपुर और सरगुजा में तापमान में गिरावट हुई। प्रदेश में सबसे कम तापमान अंबिकापुर में 12.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और सबसे अधिक माना में 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बिलासपुर के कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। अगले एक दो दिन में भी बूंदाबांदी की संभावनाएं हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


तस्वीर श्रीनगर- लेह हाइवे की है। (फोटो : आबिद भट)

श्रीनगर/नई दिल्ली. कश्मीर से पश्चिमी विक्षोभ गुजर चुका है। अब अफगानिस्तान की ओर से अगला पश्चिमी विक्षोभ दिसंबर के पहले हफ्ते में आ सकता है। इससे कश्मीर समेत पहाड़ी राज्यों में अगली बर्फबारी हो सकती है। फिलहाल, पहाड़ों से आने वाली हवाओं के कारण अगले दो दिन तक पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान में तापमान में सामान्य से 3 से 4 डिग्री तक गिरावट आएगी। श्रीनगर में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री रहा। कश्मीर में पिछले एक महीने में तीन बार बर्फबारी हुई। इनका कारण भी पश्चिमी विक्षोभ है। इससे नवंबर के शुरू में कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल, उत्तराखंड में बर्फबारी हुई थी। जबकि 15 से 17 नवंबर तक कम ऊंचाई वाले इलाकों और 24 नवंबर तक कश्मीर के उन इलाकों में बर्फबारी हुई, जो समुद्रतल से 2 हजार मीटर से भी कम की ऊंचाई में हैं। सामान्य रूप से इन इलाकों में दिसंबर में बर्फबारी होती है। लगातार पांचवें दिन श्रीनगर- लेह हाइवे बंद जोजिला पास, सोनमर्ग, जीरो पॉइंट, मीनमर्ग और द्रास में भारी बर्फबारी के कारण लगातार पांचवें दिन यह 434 किमी लंबा हाइवे बंद रहा। सीमा सड़क संगठन ने करगिल से जीरो पॉइंट तक बर्फ हट दी है। मनाली में जबरदस्त बर्फबारी, पर्यटक पहुंचे शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला और मनाली पर्यटनों स्थलों में जबरदस्त बर्फबारी हुई है। आमतौर पर इन दिनों पर्यटक देशभर से हिमाचल प्रदेश के शिमला और मनाली में बहुत बड़ी संख्या में जाते थे। लोग इस बार भी पहुंचे हैं, लेकिन अभी संख्या कम है। छत्तीसगढ़ में सबसे ठंडा अंबिकापुर प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बदली छाई रही, कई जगह बूंदाबांदी हुई। बिलासपुर और सरगुजा में तापमान में गिरावट हुई। प्रदेश में सबसे कम तापमान अंबिकापुर में 12.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और सबसे अधिक माना में 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बिलासपुर के कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। अगले एक दो दिन में भी बूंदाबांदी की संभावनाएं हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

तस्वीर श्रीनगर- लेह हाइवे की है। (फोटो : आबिद भट)Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *