महागठबंधन ने राज्यसभा उपचुनाव के लिए कैंडिडेट नहीं उतारा, सुशील मोदी निर्विरोध रह गएDainik Bhaskar


सुशील कुमार मोदी राज्यसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे, लेकिन विपक्ष ने उन्हें वॉकआउट दे दिया। राज्यसभा चुनाव के नॉमिनेशन के पहले दिन बुधवार को सुशील मोदी ने, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में नामांकन भरा था। लेकिन, राजद ने महागठबंधन की ओर से सुशील कुमार मोदी के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने की घोषणा की है।

विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में करारी शिकस्त और बड़े उलटफेर की कोई संभावना नहीं देख महागठबंधन के किसी दल के किसी नेता ने राज्यसभा चुनाव में हार का सर्टिफिकेट लेने की हिम्मत नहीं दिखाई और मोदी निर्विरोध रह गए। अब चुनाव अधिकारी नामांकन का समय खत्म होने के बाद सुशील कुमार मोदी को राज्यसभा चुनाव में जीत का सर्टिफिकेट सौंप देंगे।

राजद ने कहा- मोदी से मुक्ति चाहते हैं
राजद के प्रवक्ता चितरंजन गगन ने गुरुवार सुबह भास्कर से फोन पर बातचीत में कहा कि बिहार सुशील कुमार मोदी से मुक्ति चाहता है और महागठबंधन इस मुक्ति की राह में रोड़ा नहीं बनना चाहता, इसलिए राज्यसभा चुनाव में उनके खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने का फैसला लिया है।

भास्कर ने सबसे पहले बताया था- मोदी राज्यसभा जाएंगे
भास्कर ने विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद सबसे पहले यह जानकारी दे दी थी कि सुशील मोदी बिहार के डिप्टी CM नहीं रहेंगे और राज्यसभा के रास्ते केंद्र में मंत्री बनेंगे। राज्यसभा चुनाव में उनके खिलाफ विपक्ष ने पूर्व मंत्री श्याम रजक, शिवचंद्र राम से लेकर कांग्रेस के प्रेमचंद्र मिश्रा तक को उतरने का न्योता दिया था, लेकिन हार तय देखते हुए इसके लिए किसी ने हामी नहीं भरी।

बिहार के बाद देश का खजाना संभालना चाहेंगे छोटे मोदी

भास्कर एक्सक्लूसिव:सुशील मोदी राज्यसभा जाएंगे

भास्कर ने 12 दिन पहले ही दे दी थी यह खबर

केंद्र का रास्ता खुला, पर दिल में बिहार

पैसा नहीं, अनाज ही मिलेगा केंद्र में मोदी को
बिहार में वित्त विभाग के अनुभव को देखते हुए सुशील कुमार मोदी की चाहत केंद्र में इसी मंत्रालय को संभालने की है, लेकिन लगभग तय है कि उन्हें कृषि या खाद्य आपूर्ति मंत्री बनाया जाएगा।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सुशील मोदी बुधवार को नॉमिनेशन फाइल कर चुके। गुरूवार को नॉमिनेशन का वक्त खत्म होने के बाद चुनाव अधिकारी मोदी को जीत का सर्टिफिकेट दे देंगे।- फाइल फोटो।

सुशील कुमार मोदी राज्यसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे, लेकिन विपक्ष ने उन्हें वॉकआउट दे दिया। राज्यसभा चुनाव के नॉमिनेशन के पहले दिन बुधवार को सुशील मोदी ने, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में नामांकन भरा था। लेकिन, राजद ने महागठबंधन की ओर से सुशील कुमार मोदी के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने की घोषणा की है। विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में करारी शिकस्त और बड़े उलटफेर की कोई संभावना नहीं देख महागठबंधन के किसी दल के किसी नेता ने राज्यसभा चुनाव में हार का सर्टिफिकेट लेने की हिम्मत नहीं दिखाई और मोदी निर्विरोध रह गए। अब चुनाव अधिकारी नामांकन का समय खत्म होने के बाद सुशील कुमार मोदी को राज्यसभा चुनाव में जीत का सर्टिफिकेट सौंप देंगे। राजद ने कहा- मोदी से मुक्ति चाहते हैं राजद के प्रवक्ता चितरंजन गगन ने गुरुवार सुबह भास्कर से फोन पर बातचीत में कहा कि बिहार सुशील कुमार मोदी से मुक्ति चाहता है और महागठबंधन इस मुक्ति की राह में रोड़ा नहीं बनना चाहता, इसलिए राज्यसभा चुनाव में उनके खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारने का फैसला लिया है। भास्कर ने सबसे पहले बताया था- मोदी राज्यसभा जाएंगे भास्कर ने विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद सबसे पहले यह जानकारी दे दी थी कि सुशील मोदी बिहार के डिप्टी CM नहीं रहेंगे और राज्यसभा के रास्ते केंद्र में मंत्री बनेंगे। राज्यसभा चुनाव में उनके खिलाफ विपक्ष ने पूर्व मंत्री श्याम रजक, शिवचंद्र राम से लेकर कांग्रेस के प्रेमचंद्र मिश्रा तक को उतरने का न्योता दिया था, लेकिन हार तय देखते हुए इसके लिए किसी ने हामी नहीं भरी। बिहार के बाद देश का खजाना संभालना चाहेंगे छोटे मोदी भास्कर एक्सक्लूसिव:सुशील मोदी राज्यसभा जाएंगे भास्कर ने 12 दिन पहले ही दे दी थी यह खबर केंद्र का रास्ता खुला, पर दिल में बिहार पैसा नहीं, अनाज ही मिलेगा केंद्र में मोदी को बिहार में वित्त विभाग के अनुभव को देखते हुए सुशील कुमार मोदी की चाहत केंद्र में इसी मंत्रालय को संभालने की है, लेकिन लगभग तय है कि उन्हें कृषि या खाद्य आपूर्ति मंत्री बनाया जाएगा। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

सुशील मोदी बुधवार को नॉमिनेशन फाइल कर चुके। गुरूवार को नॉमिनेशन का वक्त खत्म होने के बाद चुनाव अधिकारी मोदी को जीत का सर्टिफिकेट दे देंगे।- फाइल फोटो।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *