रास्ता भटककर कश्मीर पहुंची लड़की बोली- हम डर रहे थे, सेना ने अच्छा बर्ताव किया, खाना भी खिलायाDainik Bhaskar


पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) से सीमा पार कर गलती से कश्मीर में दाखिल होने वाली दो सगी बहनों को भारतीय सेना ने सोमवार को वापस भेज दिया। इन लड़कियों को भारतीय सेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर रविवार को गिरफ्तार किया था। लड़कियों की पहचान 17 साल की लायबा जबैर और 13 साल की सना जबैर के तौर पर हुई थी।

वापस जाने से पहले जारी हुए एक वीडियो में लायबा ने कहा कि जब वे गलती से सीमा पर यहां पहुंचीं, तो वे दोनों काफी डरी हुईं थी। उन्हें लगा कि सेना के जवान उन्हें मारेंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। सेना ने उनके साथ बहुत अच्छा बर्ताव किया। पूछताछ के बाद उन्हें खाना खिलाया और अब उन्हें वापस भी भेज रहे हैं।

पुंछ सेक्टर में सेना की नजर पड़ी थी
पुंछ सेक्टर में LOC पर तैनात सैनिकों ने इन्हें देखा तो वह हैरान रह गए थे। सैनिकों ने पहले दोनों लड़कियों को हिरासत में लिया और पूछताछ की।

लड़कियों को सीमा के बारे में जानकारी नहीं थी
दोनों बहनों का कहना था कि वे घूम रही थीं। उन्हें LOC के बारे में जानकारी नहीं थी और गलती से यहां चली आईं। दोनों POK के कहुटा तहसील के अब्बासपुर गांव की रहने वाली हैं। सेना के PRO ने भी बताया था कि दोनों बहनें अनजाने में भारतीय सीमा में चली आईं।

कई बार भटक कर भारत पहुंचे हैं पाकिस्तान के लोग
ये पहली बार नहीं है, जब भारत-पाकिस्तान सीमा पर आम लोग गलती से एक-दूसरे की सीमा में दाखिल हो जाते हैं। ऐसा कई बार हो चुका है। ऐसी स्थिति में दोनों देशों की सेना आपसी सहमति से एक-दूसरे के नागरिकों को उनके घर भेज देती है। हाल ही में भारत ने 25 पाकिस्तानी मछुआरों को वापस किया है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पुंछ सेक्टर में LOC पर रास्ता भटककर कश्मीर पहुंची दोनों बहनों को सोमवार को चकन दा बाग क्रॉसिंग पॉइंट से वापस उनके घर भेज दिया गया।

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) से सीमा पार कर गलती से कश्मीर में दाखिल होने वाली दो सगी बहनों को भारतीय सेना ने सोमवार को वापस भेज दिया। इन लड़कियों को भारतीय सेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर रविवार को गिरफ्तार किया था। लड़कियों की पहचान 17 साल की लायबा जबैर और 13 साल की सना जबैर के तौर पर हुई थी। वापस जाने से पहले जारी हुए एक वीडियो में लायबा ने कहा कि जब वे गलती से सीमा पर यहां पहुंचीं, तो वे दोनों काफी डरी हुईं थी। उन्हें लगा कि सेना के जवान उन्हें मारेंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। सेना ने उनके साथ बहुत अच्छा बर्ताव किया। पूछताछ के बाद उन्हें खाना खिलाया और अब उन्हें वापस भी भेज रहे हैं। #WATCH | We lost our way & entered Indian territory. We feared that Army personnel will beat us up but they treated us in a very good manner. We had thought that they would not allow us to go back but today we are being sent home. People are very good here: Laiba Zabair https://t.co/u6DXgPEf7C pic.twitter.com/2rkf8hOdxk — ANI (@ANI) December 7, 2020पुंछ सेक्टर में सेना की नजर पड़ी थी पुंछ सेक्टर में LOC पर तैनात सैनिकों ने इन्हें देखा तो वह हैरान रह गए थे। सैनिकों ने पहले दोनों लड़कियों को हिरासत में लिया और पूछताछ की। लड़कियों को सीमा के बारे में जानकारी नहीं थी दोनों बहनों का कहना था कि वे घूम रही थीं। उन्हें LOC के बारे में जानकारी नहीं थी और गलती से यहां चली आईं। दोनों POK के कहुटा तहसील के अब्बासपुर गांव की रहने वाली हैं। सेना के PRO ने भी बताया था कि दोनों बहनें अनजाने में भारतीय सीमा में चली आईं। कई बार भटक कर भारत पहुंचे हैं पाकिस्तान के लोग ये पहली बार नहीं है, जब भारत-पाकिस्तान सीमा पर आम लोग गलती से एक-दूसरे की सीमा में दाखिल हो जाते हैं। ऐसा कई बार हो चुका है। ऐसी स्थिति में दोनों देशों की सेना आपसी सहमति से एक-दूसरे के नागरिकों को उनके घर भेज देती है। हाल ही में भारत ने 25 पाकिस्तानी मछुआरों को वापस किया है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

पुंछ सेक्टर में LOC पर रास्ता भटककर कश्मीर पहुंची दोनों बहनों को सोमवार को चकन दा बाग क्रॉसिंग पॉइंट से वापस उनके घर भेज दिया गया।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *