जिओ अगले साल के मध्य तक लाएगा 5जी सेवा, नेटवर्क से हार्डवेयर तक स्वदेशीDainik Bhaskar


रिलायंस इंडस्ट्रीज अगले साल यानी 2021 की दूसरी छमाही में 5जी सेवाएं शुरू कर सकती है। यह ऐलान खुद कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने मंगलवार को इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2020 (आईएमसी) को संबोधित करते हुए किया। कोरोना के चलते पहली बार यह कांग्रेस ऑनलाइन हो रही है।

यहां प्रस्तुत है अंबानी का संबोधन…

चार साल में भारतीय मोबाइल कांग्रेस की प्रतिष्ठा और प्रभाव लगातार बढ़ा है। ऐसा भारत की दो अद्वितीय शक्तियों के कारण हुआ है। पहली शक्ति- तीन डी का संगम है। इसमें भारत की ऊर्जावन लोकतंत्र, यहां की युवा आबादी और देश का डिजिटल रूपांतरण शामिल है।

दूसरी- दूरदर्शिता और गतिशीलता से भरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नेतृत्व। कोरोना से जिंदगी दांव पर थी। ऐसे में हाई-स्पीड 4जी नेटवर्क ने भारत की डिजिटल लाइफलाइन साबित हुई। सरकार ने जिस गति और उत्साह के साथ देश को सस्ती वैक्सीन जल्द उपलब्ध कराने का ऐलान किया, वह सराहनीय है। टीके से महामारी निश्चित ही अगले साल पीछे छूट जाएगी।

यहां में चार चीजें बताना चाहता हूं। पहली- देश में कम से कम 30 करोड़ लोग अभी भी 2जी सेवाएं लेने को मजबूर हैं। इसलिए तत्काल नीतिगत कदमों की जरूरत है, ताकि कम आय वाले इन लोगों के पास किफायती स्मार्टफोन हो। दूसरा- भारत आज डिजिटल रूप से जुड़े दुनिया के सबसे अग्रणी देशों में से एक है। यह बढ़त बनाए रखने के लिए 5जी के शुरुआती रोलआउट में तेजी लाने के लिए नीतिगत कदमों की जरूरत है। जिओ 2021 की दूसरी छमाही में भारत में 5जी क्रांति का नेतृत्व करेगा। 5जी नेटवर्क के साथ ही हार्डवेयर और टेक्नोलॉजी भी स्वदेशी होगी। जियो के जरिए हम आत्मनिर्भर भारत का सपना पूरा करेंगे।

तीसरा- विश्वास के साथ कह सकता हूं कि 5जी भारत को न केवल चौथी औद्योगिक क्रांति के लिए मजबूत बनाएगा, बल्कि इसका नेतृत्व भी करेगा। चौथा- जैसे-जैसे देश की अर्थव्यवस्था और समाज में डिजिटलीकरण गति पकड़ेगा, वैसे ही डिजिटल हार्डवेयर की मांग में भारी बढ़ोतरी होगी। ऐसे में देश की जरूरत के लिए महत्वपूर्ण इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर आयात पर भरोसा नहीं कर सकते। इस दिशा में सरकार का शुक्रिया कि उसके प्रयासों से दुनिया की बड़ी कंपनियां प्लांट लगाने के लिए भारत आ रही हैं। भरोसा है कि आने वाले वक्त में भारत अत्याधुनिक सेमी कंडक्टर उद्योग के लिए प्रमुख केंद्र बन जाएगा।’

आने वाले 2 से 3 वर्षों में 5जी तकनीक से भारत को होगा बहुत फायदा: सुनील मित्तल
भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ने कहा कि भारत आने वाले दो-तीन साल में 5जी तकनीक के मानकों और इको सिस्टम का लाभ उठाएगा। क्योंकि उपकरण की कीमतें कम होंगी और डिवाइस बाजार में उपलब्ध होंगे। अंतरिक्ष को लेकर सुनील मित्तल ने कहा है कि यह संचार की अगली सरहद होगी। स्पेस इंडस्ट्री में इसरो और अंतरिक्ष विभाग के साथ प्राइवेट सेक्टर के आने से भारत को बहुत लाभ होगा।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज अगले साल यानी 2021 की दूसरी छमाही में 5जी सेवाएं शुरू कर सकती है। यह ऐलान खुद कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने मंगलवार को इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2020 (आईएमसी) को संबोधित करते हुए किया। कोरोना के चलते पहली बार यह कांग्रेस ऑनलाइन हो रही है। यहां प्रस्तुत है अंबानी का संबोधन… चार साल में भारतीय मोबाइल कांग्रेस की प्रतिष्ठा और प्रभाव लगातार बढ़ा है। ऐसा भारत की दो अद्वितीय शक्तियों के कारण हुआ है। पहली शक्ति- तीन डी का संगम है। इसमें भारत की ऊर्जावन लोकतंत्र, यहां की युवा आबादी और देश का डिजिटल रूपांतरण शामिल है। दूसरी- दूरदर्शिता और गतिशीलता से भरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नेतृत्व। कोरोना से जिंदगी दांव पर थी। ऐसे में हाई-स्पीड 4जी नेटवर्क ने भारत की डिजिटल लाइफलाइन साबित हुई। सरकार ने जिस गति और उत्साह के साथ देश को सस्ती वैक्सीन जल्द उपलब्ध कराने का ऐलान किया, वह सराहनीय है। टीके से महामारी निश्चित ही अगले साल पीछे छूट जाएगी। यहां में चार चीजें बताना चाहता हूं। पहली- देश में कम से कम 30 करोड़ लोग अभी भी 2जी सेवाएं लेने को मजबूर हैं। इसलिए तत्काल नीतिगत कदमों की जरूरत है, ताकि कम आय वाले इन लोगों के पास किफायती स्मार्टफोन हो। दूसरा- भारत आज डिजिटल रूप से जुड़े दुनिया के सबसे अग्रणी देशों में से एक है। यह बढ़त बनाए रखने के लिए 5जी के शुरुआती रोलआउट में तेजी लाने के लिए नीतिगत कदमों की जरूरत है। जिओ 2021 की दूसरी छमाही में भारत में 5जी क्रांति का नेतृत्व करेगा। 5जी नेटवर्क के साथ ही हार्डवेयर और टेक्नोलॉजी भी स्वदेशी होगी। जियो के जरिए हम आत्मनिर्भर भारत का सपना पूरा करेंगे। तीसरा- विश्वास के साथ कह सकता हूं कि 5जी भारत को न केवल चौथी औद्योगिक क्रांति के लिए मजबूत बनाएगा, बल्कि इसका नेतृत्व भी करेगा। चौथा- जैसे-जैसे देश की अर्थव्यवस्था और समाज में डिजिटलीकरण गति पकड़ेगा, वैसे ही डिजिटल हार्डवेयर की मांग में भारी बढ़ोतरी होगी। ऐसे में देश की जरूरत के लिए महत्वपूर्ण इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर आयात पर भरोसा नहीं कर सकते। इस दिशा में सरकार का शुक्रिया कि उसके प्रयासों से दुनिया की बड़ी कंपनियां प्लांट लगाने के लिए भारत आ रही हैं। भरोसा है कि आने वाले वक्त में भारत अत्याधुनिक सेमी कंडक्टर उद्योग के लिए प्रमुख केंद्र बन जाएगा।’ आने वाले 2 से 3 वर्षों में 5जी तकनीक से भारत को होगा बहुत फायदा: सुनील मित्तल भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ने कहा कि भारत आने वाले दो-तीन साल में 5जी तकनीक के मानकों और इको सिस्टम का लाभ उठाएगा। क्योंकि उपकरण की कीमतें कम होंगी और डिवाइस बाजार में उपलब्ध होंगे। अंतरिक्ष को लेकर सुनील मित्तल ने कहा है कि यह संचार की अगली सरहद होगी। स्पेस इंडस्ट्री में इसरो और अंतरिक्ष विभाग के साथ प्राइवेट सेक्टर के आने से भारत को बहुत लाभ होगा। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानीRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *