तेवतिया, क्रुणाल, शिवम और शंकर हैं ऑप्शन; कोहली के छठवें बॉलर की कमी भी पूरी हो सकती हैDainik Bhaskar


टीम इंडिया को बेहतरीन ऑलराउंडर्स की तलाश है। खासकर सीमित ओवर्स (वनडे और टी-20) में टीम को इनकी कमी ज्यादा खल रही है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर वनडे सीरीज में हार का एक बड़ा कारण छठवें बॉलिंग ऑप्शन का नहीं होना रहा है। टीम में हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा दो ऑलराउंडर हैं, लेकिन पंड्या कमर की चोट के कारण बॉलिंग नहीं कर रहे हैं।

ऑलराउंडर्स की कमी को लेकर भारतीय कप्तान विराट कोहली भी कई बार बयान दे चुके हैं। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहला वनडे हारने के बाद कोहली ने छठवें बॉलर की कमी की बात कही थी। तब उन्होंने कहा था- दुर्भाग्य से हार्दिक पंड्या अभी बॉलिंग करने के लिए पूरी तरह फिट नहीं हैं और हमारे पास मार्कस स्टोइनिस और ग्लेन मैक्सवेल जैसा कोई दूसरा ऑलराउंड ऑप्शन नहीं है।

आने वाली सीरीज के लिए टीम इंडिया में छठवें बॉलिंग ऑलराउंडर की रेस में वॉशिंगटन सुंदर, राहुल तेवतिया, क्रुणाल पंड्या सबसे आगे हैं। इनके अलावा विजय शंकर, शिवम दुबे भी विकल्प हो सकते हैं। इनका IPL में भी शानदार प्रदर्शन रहा है।

क्रुणाल को वनडे और टेस्ट में डेब्यू का इंतजार
क्रुणाल पंड्या ने टीम इंडिया के लिए अब तक 18 टी-20 खेले हैं। उन्हें वनडे और टेस्ट में डेब्यू का इंतजार है। टी-20 में उन्होंने गेंदबाजी में 8.11 के इकोनॉमी रेट से रन देकर 14 विकेट लिए हैं। IPL में उन्होंने 71 मैच में 46 विकेट हासिल किए। क्रुणाल छठवें बॉलर के तौर पर बेहतरीन विकल्प हैं। हाल ही में कप्तान कोहली ने भी कहा था- टीम में छठवें गेंदबाजी विकल्प की कमी है। मुझे लगता है कि पंड्या ब्रदर्स ही इसे पूरी कर सकते हैं।

वॉशिंगटन के नाम 25 टी-20 में 21 विकेट
हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले वॉशिंगटन सुंदर भी छठवें बॉलिंग ऑप्शन हो सकते हैं। उन्होंने 3 टी-20 में 2 विकेट लिए थे। वॉशिंगटन ने ज्यादातर मौकों पर ओपनिंग बॉलर की भूमिका भी निभाई है।

तेवतिया को इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू का इंतजार
राहुल तेवतिया ने IPL के 13वें सीजन में बेहतरीन प्रदर्शन कर सभी का ध्यान खींचा है। हालांकि, वे इंटरनेशनल क्रिकेट में अब तक डेब्यू नहीं कर सके हैं। तेवतिया ने IPL 2020 में राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हुए 14 मैच में 232 रन बनाए। उन्होंने 10 विकेट भी लिए।

शंकर 9 टी-20 और 12 वनडे खेल चुके
विजय शंकर अब भी टेस्ट में मौका मिलने का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि, वे टीम इंडिया के लिए 9 टी-20 और 12 वनडे खेल चुके हैं। कई मौकों पर वे टीम के लिए चेज करते हुए नाबाद रहे और मैच भी जिताया है। बॉलिंग में उन्होंने जरूरत पड़ने पर टीम को विकेट भी दिलाया है।

शिवम ने पहला IPL खेलने के बाद टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया
शिवम दुबे ने 2019 में अपना पहला IPL सीजन खेला था। तब उन्हें 4 मैच में कोई विकेट नहीं मिला था। इस दौरान उन्होंने 40 रन बनाए थे। इसके बाद उन्हें टीम इंडिया के लिए वनडे और टी-20 में डेब्यू का मौका भी मिला। लेकिन, वे अपनी छाप नहीं छोड़ सके। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के प्लेयर ने इस IPL सीजन में 11 मैच खेले और 4 विकेट लिए। फिलहाल, उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम में जगह नहीं मिल सकी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Indian All Rounders Sixth Bowling Option; Rahul Teotia Krunal Pandya In Race, Shivam Dubey Vijay Shankar May Be Better Option

टीम इंडिया को बेहतरीन ऑलराउंडर्स की तलाश है। खासकर सीमित ओवर्स (वनडे और टी-20) में टीम को इनकी कमी ज्यादा खल रही है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर वनडे सीरीज में हार का एक बड़ा कारण छठवें बॉलिंग ऑप्शन का नहीं होना रहा है। टीम में हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा दो ऑलराउंडर हैं, लेकिन पंड्या कमर की चोट के कारण बॉलिंग नहीं कर रहे हैं। ऑलराउंडर्स की कमी को लेकर भारतीय कप्तान विराट कोहली भी कई बार बयान दे चुके हैं। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहला वनडे हारने के बाद कोहली ने छठवें बॉलर की कमी की बात कही थी। तब उन्होंने कहा था- दुर्भाग्य से हार्दिक पंड्या अभी बॉलिंग करने के लिए पूरी तरह फिट नहीं हैं और हमारे पास मार्कस स्टोइनिस और ग्लेन मैक्सवेल जैसा कोई दूसरा ऑलराउंड ऑप्शन नहीं है। आने वाली सीरीज के लिए टीम इंडिया में छठवें बॉलिंग ऑलराउंडर की रेस में वॉशिंगटन सुंदर, राहुल तेवतिया, क्रुणाल पंड्या सबसे आगे हैं। इनके अलावा विजय शंकर, शिवम दुबे भी विकल्प हो सकते हैं। इनका IPL में भी शानदार प्रदर्शन रहा है। क्रुणाल को वनडे और टेस्ट में डेब्यू का इंतजार क्रुणाल पंड्या ने टीम इंडिया के लिए अब तक 18 टी-20 खेले हैं। उन्हें वनडे और टेस्ट में डेब्यू का इंतजार है। टी-20 में उन्होंने गेंदबाजी में 8.11 के इकोनॉमी रेट से रन देकर 14 विकेट लिए हैं। IPL में उन्होंने 71 मैच में 46 विकेट हासिल किए। क्रुणाल छठवें बॉलर के तौर पर बेहतरीन विकल्प हैं। हाल ही में कप्तान कोहली ने भी कहा था- टीम में छठवें गेंदबाजी विकल्प की कमी है। मुझे लगता है कि पंड्या ब्रदर्स ही इसे पूरी कर सकते हैं। वॉशिंगटन के नाम 25 टी-20 में 21 विकेट हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले वॉशिंगटन सुंदर भी छठवें बॉलिंग ऑप्शन हो सकते हैं। उन्होंने 3 टी-20 में 2 विकेट लिए थे। वॉशिंगटन ने ज्यादातर मौकों पर ओपनिंग बॉलर की भूमिका भी निभाई है। तेवतिया को इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू का इंतजार राहुल तेवतिया ने IPL के 13वें सीजन में बेहतरीन प्रदर्शन कर सभी का ध्यान खींचा है। हालांकि, वे इंटरनेशनल क्रिकेट में अब तक डेब्यू नहीं कर सके हैं। तेवतिया ने IPL 2020 में राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हुए 14 मैच में 232 रन बनाए। उन्होंने 10 विकेट भी लिए। शंकर 9 टी-20 और 12 वनडे खेल चुके विजय शंकर अब भी टेस्ट में मौका मिलने का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि, वे टीम इंडिया के लिए 9 टी-20 और 12 वनडे खेल चुके हैं। कई मौकों पर वे टीम के लिए चेज करते हुए नाबाद रहे और मैच भी जिताया है। बॉलिंग में उन्होंने जरूरत पड़ने पर टीम को विकेट भी दिलाया है। शिवम ने पहला IPL खेलने के बाद टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया शिवम दुबे ने 2019 में अपना पहला IPL सीजन खेला था। तब उन्हें 4 मैच में कोई विकेट नहीं मिला था। इस दौरान उन्होंने 40 रन बनाए थे। इसके बाद उन्हें टीम इंडिया के लिए वनडे और टी-20 में डेब्यू का मौका भी मिला। लेकिन, वे अपनी छाप नहीं छोड़ सके। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के प्लेयर ने इस IPL सीजन में 11 मैच खेले और 4 विकेट लिए। फिलहाल, उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम में जगह नहीं मिल सकी। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Indian All Rounders Sixth Bowling Option; Rahul Teotia Krunal Pandya In Race, Shivam Dubey Vijay Shankar May Be Better OptionRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *