संसद पर आतंकी हमले की 19वीं बरसी, PM मोदी बोले- उस दिन को देश कभी नहीं भूलेगाDainik Bhaskar


उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, स्पीकर ओम बिरला के साथ कई मंत्रियों और विपक्षी नेताओं ने रविवार को संसद हमले में शहीद हुए जवानों को याद किया। संसद भवन परिसर में हुए कार्यक्रम में सभी ने शहीदों की तस्वीरों पर फूल चढ़ाए।

इस दौरान राज्यसभा के डिप्टी चेयरपर्सन हरिवंश, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद, राजीव शुक्ला और समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव भी मौजूद रहे।

इससे पहले, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि देश उन बहादुर शहीदों को याद करता है जिन्होंने 2001 में संसद का बचाव करते हुए खुद को न्योछावर कर दिया था। उन्होंने कहा कि शहीदों के बलिदान को याद करते वक्त हमें आतंकी ताकतों को हराने का संकल्प और मजबूत करना है।

वहीं, PM मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि भारत संसद पर हुए कायरतापूर्ण हमले को कभी नहीं भूलेगा। हम उन लोगों की बहादुरी और बलिदान को याद करते हैं जिन्होंने हमारी संसद की रक्षा करते हुए अपनी जान गंवाई। भारत हमेशा उनका शुक्रगुजार रहेगा।

19 साल पहले हुआ था आतंकी हमला

19 साल पहले 13 दिसंबर को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने संसद परिसर पर हमला कर दिया था। इसमें दिल्ली पुलिस के पांच जवान, CRPF की एक महिला सिपाही राज्यसभा के 2 कर्मचारी और एक माली ने जान गंवाई थी। एक फोटो जर्नलिस्ट की भी मौत हुई थी। जवाबी कार्रवाई में सिक्योरिटी फोर्स ने सभी पांच आतंकवादियों को मार गिराया था।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


संसद भवन के कैंपस में हुए प्रोगाम में PM नरेंद्र मोदी ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, स्पीकर ओम बिरला के साथ कई मंत्रियों और विपक्षी नेताओं ने रविवार को संसद हमले में शहीद हुए जवानों को याद किया। संसद भवन परिसर में हुए कार्यक्रम में सभी ने शहीदों की तस्वीरों पर फूल चढ़ाए। इस दौरान राज्यसभा के डिप्टी चेयरपर्सन हरिवंश, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद, राजीव शुक्ला और समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव भी मौजूद रहे। इससे पहले, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि देश उन बहादुर शहीदों को याद करता है जिन्होंने 2001 में संसद का बचाव करते हुए खुद को न्योछावर कर दिया था। उन्होंने कहा कि शहीदों के बलिदान को याद करते वक्त हमें आतंकी ताकतों को हराने का संकल्प और मजबूत करना है। The nation gratefully remembers the brave martyrs who laid down their lives defending the Parliament on this day in 2001. While commemorating the great sacrifice of those defenders of the temple of our democracy, we strengthen our resolve to defeat the forces of terror. — President of India (@rashtrapatibhvn) December 13, 2020 वहीं, PM मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि भारत संसद पर हुए कायरतापूर्ण हमले को कभी नहीं भूलेगा। हम उन लोगों की बहादुरी और बलिदान को याद करते हैं जिन्होंने हमारी संसद की रक्षा करते हुए अपनी जान गंवाई। भारत हमेशा उनका शुक्रगुजार रहेगा। We will never forget the cowardly attack on our Parliament on this day in 2001. We recall the valour and sacrifice of those who lost their lives protecting our Parliament. India will always be thankful to them. — Narendra Modi (@narendramodi) December 13, 2020 19 साल पहले हुआ था आतंकी हमला 19 साल पहले 13 दिसंबर को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने संसद परिसर पर हमला कर दिया था। इसमें दिल्ली पुलिस के पांच जवान, CRPF की एक महिला सिपाही राज्यसभा के 2 कर्मचारी और एक माली ने जान गंवाई थी। एक फोटो जर्नलिस्ट की भी मौत हुई थी। जवाबी कार्रवाई में सिक्योरिटी फोर्स ने सभी पांच आतंकवादियों को मार गिराया था। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

संसद भवन के कैंपस में हुए प्रोगाम में PM नरेंद्र मोदी ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *