आसाराम ने जिस शहर की बेटी से रेप किया, वहीं की जेल में उसकी फोटो लगाकर कंबल बांटे गएDainik Bhaskar


उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जेल प्रशासन विवादों में घिर गया है। दरअसल, यहां रेप के दोषी आसाराम की फोटो लगाकर कैदियों को कंबल बांटे गए। इसी शहर की लड़की के साथ रेप करने का आसाराम पर आरोप है। पीड़ित के पिता ने इस घटना पर कड़ी आपत्ति जताई है और जांच की मांग की है। उधर, जेल प्रशासन ने चुप्पी साध ली है।

कैदियों को कंबल जेल प्रशासन की मौजूदगी में बांटे गए।

गवाह की हत्या के आरोपियों ने कंबल बांटे
जेल प्रशासन ने प्रेस नोट जारी करके इसे सरकारी कार्यक्रम बना दिया। इसमें बताया गया कि लखनऊ स्थित आसाराम बापू आश्रम की तरफ से कंबल भेजे गए हैं। अर्जुन और नारायण पांडेय की ओर से कंबल बांटे गए। हैरानी की बात है कि अर्जुन और पुष्पेंद्र आसाराम केस में गवाह की हत्या के आरोपी हैं। वे इसी जेल में बंद रहे हैं और फिलहाल जमानत पर हैं। सोमवार देर शाम प्रेस नोट और फोटो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ा तो सोशल मीडिया से फोटो डिलीट कर दी गई।

कंबल बांटने के इस कार्यक्रम को शाहजहांपुर जेल ने सरकारी कार्यक्रम बना दिया। इसके लिए बाकायदा प्रेस नोट जारी किया गया।

आसाराम उम्रकैद की सजा काट रहा
आसाराम ने 2013 में शाहजहांपुर की ही एक छात्रा से रेप किया था। 2018 में राजस्थान की जोधपुर कोर्ट ने इस मामले में उसे उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


यह फोटो शाहजहांपुर जेल की है। यहां सोमवार को दुष्कर्म के दोषी आसाराम की फोटो लगाकर कैदियों को कंबल बांटे गए।

उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जेल प्रशासन विवादों में घिर गया है। दरअसल, यहां रेप के दोषी आसाराम की फोटो लगाकर कैदियों को कंबल बांटे गए। इसी शहर की लड़की के साथ रेप करने का आसाराम पर आरोप है। पीड़ित के पिता ने इस घटना पर कड़ी आपत्ति जताई है और जांच की मांग की है। उधर, जेल प्रशासन ने चुप्पी साध ली है। कैदियों को कंबल जेल प्रशासन की मौजूदगी में बांटे गए।गवाह की हत्या के आरोपियों ने कंबल बांटे जेल प्रशासन ने प्रेस नोट जारी करके इसे सरकारी कार्यक्रम बना दिया। इसमें बताया गया कि लखनऊ स्थित आसाराम बापू आश्रम की तरफ से कंबल भेजे गए हैं। अर्जुन और नारायण पांडेय की ओर से कंबल बांटे गए। हैरानी की बात है कि अर्जुन और पुष्पेंद्र आसाराम केस में गवाह की हत्या के आरोपी हैं। वे इसी जेल में बंद रहे हैं और फिलहाल जमानत पर हैं। सोमवार देर शाम प्रेस नोट और फोटो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ा तो सोशल मीडिया से फोटो डिलीट कर दी गई। कंबल बांटने के इस कार्यक्रम को शाहजहांपुर जेल ने सरकारी कार्यक्रम बना दिया। इसके लिए बाकायदा प्रेस नोट जारी किया गया।आसाराम उम्रकैद की सजा काट रहा आसाराम ने 2013 में शाहजहांपुर की ही एक छात्रा से रेप किया था। 2018 में राजस्थान की जोधपुर कोर्ट ने इस मामले में उसे उम्रकैद की सजा सुनाई थी। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

यह फोटो शाहजहांपुर जेल की है। यहां सोमवार को दुष्कर्म के दोषी आसाराम की फोटो लगाकर कैदियों को कंबल बांटे गए।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *