ब्रिटेन से आने वालों का RT-PCR जरूरी, रिपोर्ट के लिए 8 घंटे एयरपोर्ट पर फंसे रहे 500 पैसेंजर्सDainik Bhaskar


ब्रिटेन से आने वाले लोगों के लिए बनाए गए सख्त नियमों के चलते मंगलवार रात को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (IGI) पर हालात बिगड़ गए। सरकार ने ब्रिटेन से आए सभी यात्रियों के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया है। ऐसे में मुसाफिरों को टेस्ट रिपोर्ट के लिए आठ घंटे तक इंतजार करना पड़ा। 6,700 किलोमीटर का सफर करके आ रहे लोगों को एयरपोर्ट पर इतना लंबा वक्त काटना भारी पड़ गया।

केंद्र सरकार ने 22 दिसंबर की आधी रात से ब्रिटेन की उड़ानों को सस्पेंड कर दिया है। वहां से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट से बाहर तभी जाने दिया जाएगा, जब उनकी कोरोना रिपोर्ट आ जाएगी। वायरस के नए स्ट्रेन को रोकने के लिए बनाया गया यही नियम पैसेंजर्स के लिए मुसीबत बन गया।

कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने में देर लगी

ब्रिटेन से पहुंचे पैसेंजर्स की संख्या काफी ज्यादा होने से सभी के सैंपल लेने और रिपोर्ट आने में देर लगी। रिपोर्ट आने तक वे एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकल पाए। एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया कि एडमिनिस्ट्रेशन की ओर से लागू की गई SOP के मुताबिक, ब्रिटेन से आए सभी पैसेंजर्स का सैंपल लिया जा रहा है। इसी वजह से पैसेंजर्स को देर तक रुकना पड़ रहा है।

ब्रिटेन से आए छह और यात्री पॉजिटिव मिले

ब्रिटेन से मंगलवार रात दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड करने वाले छह और यात्रियों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ये सभी दो फ्लाइट से आए थे। एयरपोर्ट के अधिकारियों ने बताया कि अब तक 11 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस सभी को छतरपुर में बने सरदार कोविड केयर सेंटर में भेजा जाएगा।

इसके अलावा 50 दूसरे यात्रियों को भी क्वारैंटाइन किया गया है। ये संक्रमित मिले लोगों के पास बैठे थे। हालांकि, इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स का टेस्ट जरूरी

सरकार ने ब्रिटेन से आई फ्लाइट के सभी पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स का RT-PCR टेस्ट जरूरी कर दिया है। IGI पर ही इसके लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं। एक महिला यात्री ने कहा- हम पिछली रात से एयरपोर्ट पर हैं। आठ घंटे से ज्यादा बीत चुके हैं, लेकिन हमें एयरपोर्ट से बाहर जाने की इजाजत नहीं दी गई है। एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं हो रहा है।

31 दिसंबर तक उड़ानें सस्पेंड

मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन ने सोमवार को ऐलान किया था कि ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स 23 से 31 दिसंबर तक सस्पेंड रहेंगी। वहां कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सरकार ने ब्रिटेन से आए सभी यात्रियों के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया है। ऐसे में मुसाफिरों को टेस्ट रिपोर्ट के लिए एयरपोर्ट पर ही रुकना पड़ा। – फाइल फोटो

ब्रिटेन से आने वाले लोगों के लिए बनाए गए सख्त नियमों के चलते मंगलवार रात को दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (IGI) पर हालात बिगड़ गए। सरकार ने ब्रिटेन से आए सभी यात्रियों के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया है। ऐसे में मुसाफिरों को टेस्ट रिपोर्ट के लिए आठ घंटे तक इंतजार करना पड़ा। 6,700 किलोमीटर का सफर करके आ रहे लोगों को एयरपोर्ट पर इतना लंबा वक्त काटना भारी पड़ गया। केंद्र सरकार ने 22 दिसंबर की आधी रात से ब्रिटेन की उड़ानों को सस्पेंड कर दिया है। वहां से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट से बाहर तभी जाने दिया जाएगा, जब उनकी कोरोना रिपोर्ट आ जाएगी। वायरस के नए स्ट्रेन को रोकने के लिए बनाया गया यही नियम पैसेंजर्स के लिए मुसीबत बन गया। कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने में देर लगी ब्रिटेन से पहुंचे पैसेंजर्स की संख्या काफी ज्यादा होने से सभी के सैंपल लेने और रिपोर्ट आने में देर लगी। रिपोर्ट आने तक वे एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकल पाए। एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया कि एडमिनिस्ट्रेशन की ओर से लागू की गई SOP के मुताबिक, ब्रिटेन से आए सभी पैसेंजर्स का सैंपल लिया जा रहा है। इसी वजह से पैसेंजर्स को देर तक रुकना पड़ रहा है। ब्रिटेन से आए छह और यात्री पॉजिटिव मिले ब्रिटेन से मंगलवार रात दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड करने वाले छह और यात्रियों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ये सभी दो फ्लाइट से आए थे। एयरपोर्ट के अधिकारियों ने बताया कि अब तक 11 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस सभी को छतरपुर में बने सरदार कोविड केयर सेंटर में भेजा जाएगा। इसके अलावा 50 दूसरे यात्रियों को भी क्वारैंटाइन किया गया है। ये संक्रमित मिले लोगों के पास बैठे थे। हालांकि, इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स का टेस्ट जरूरी सरकार ने ब्रिटेन से आई फ्लाइट के सभी पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स का RT-PCR टेस्ट जरूरी कर दिया है। IGI पर ही इसके लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं। एक महिला यात्री ने कहा- हम पिछली रात से एयरपोर्ट पर हैं। आठ घंटे से ज्यादा बीत चुके हैं, लेकिन हमें एयरपोर्ट से बाहर जाने की इजाजत नहीं दी गई है। एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं हो रहा है। 31 दिसंबर तक उड़ानें सस्पेंड मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन ने सोमवार को ऐलान किया था कि ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स 23 से 31 दिसंबर तक सस्पेंड रहेंगी। वहां कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

सरकार ने ब्रिटेन से आए सभी यात्रियों के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी कर दिया है। ऐसे में मुसाफिरों को टेस्ट रिपोर्ट के लिए एयरपोर्ट पर ही रुकना पड़ा। – फाइल फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *