कोरोना को हराने वाले देश के सबसे बुजुर्ग सर्वाइवर की मौत; 93 साल की उम्र में पत्नी-बच्चों के साथ रिकवर हुए थेDainik Bhaskar


93 साल की उम्र में कोरोना को मात देकर दुनियाभर की सुर्खियों में आए थॉमस अब्राहम की गुरुवार को मौत हो गई। डॉक्टर्स के मुताबिक, उम्र से संबंधित समस्याओं के चलते उनकी मौत हुई है। उनका अंतिम संस्कार केरल के पथानामथिट्टा जिले स्थित उनके पैतृक गांव में शुक्रवार को होगा।

थॉमस अपनी 88 साल की पत्नी और तीन बच्चों के साथ कोरोना को मात देकर घर लौटे थे। वह देश के पहले सबसे अधिक उम्र के कोरोना संक्रमित थे जो 25 दिन तक इलाज के बाद कोरोना से रिकवर हुए थे। कोरोना को हराने के 8 महीने बाद उनकी मौत हुई है।

बेटे और बहू के संपर्क में आने से संक्रमित हुए थे
93 साल के थॉमस अब्राहम और उनकी 88 साल की पत्नी मरियम्मा मार्च में इटली से लौटे बेटे, बहू और पोते के संपर्क में आने की वजह से संक्रमित हुए थे। तब देश में कोरोना का शुरूआती चरण था। जांच में थॉमस, मरियम्मा समेत परिवार के पांचों सदस्य संक्रमित पाए गए थे। करीब 25 दिन के इलाज के बाद थॉमस और उनकी पत्नी ने कोरोना को मात दे दी। 3 अप्रैल को दोनों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था। उनके बेटे, बहू और पोते पहले ही ठीक हो गए थे।

बिना जिम गए 6 पैक बॉडी बनाई थी
थॉमस के पोते रिजो मोनसी ने बताते हैं कि 93 साल के उनके दादा ने बिना जिम गए सिक्स पैक बॉडी बनाई। उन्होंने कभी शराब या सिगरेट को हाथ तक नहीं लगाया। आइसोलेशन में रहने के दौरान भी उनके दादा-दादी ने हमेशा सादे और पौष्टिक खाने पर ध्यान दिया। दादा पझनखानजी (चावल से बनी डिश) खाना पसंद करते थे। यह केरल का प्रसिद्ध भोजन है। यह दलिया और चावल को मिलाकर बनता है। इसके अलावा फल और कटहल की सब्जी खाते थे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


थॉमस अब्राहम और उनकी 88 साल की पत्नी मरियम्मा दोनों ने कोरोना को मात दी थी। (फाइल फोटो)

93 साल की उम्र में कोरोना को मात देकर दुनियाभर की सुर्खियों में आए थॉमस अब्राहम की गुरुवार को मौत हो गई। डॉक्टर्स के मुताबिक, उम्र से संबंधित समस्याओं के चलते उनकी मौत हुई है। उनका अंतिम संस्कार केरल के पथानामथिट्टा जिले स्थित उनके पैतृक गांव में शुक्रवार को होगा। थॉमस अपनी 88 साल की पत्नी और तीन बच्चों के साथ कोरोना को मात देकर घर लौटे थे। वह देश के पहले सबसे अधिक उम्र के कोरोना संक्रमित थे जो 25 दिन तक इलाज के बाद कोरोना से रिकवर हुए थे। कोरोना को हराने के 8 महीने बाद उनकी मौत हुई है। बेटे और बहू के संपर्क में आने से संक्रमित हुए थे 93 साल के थॉमस अब्राहम और उनकी 88 साल की पत्नी मरियम्मा मार्च में इटली से लौटे बेटे, बहू और पोते के संपर्क में आने की वजह से संक्रमित हुए थे। तब देश में कोरोना का शुरूआती चरण था। जांच में थॉमस, मरियम्मा समेत परिवार के पांचों सदस्य संक्रमित पाए गए थे। करीब 25 दिन के इलाज के बाद थॉमस और उनकी पत्नी ने कोरोना को मात दे दी। 3 अप्रैल को दोनों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था। उनके बेटे, बहू और पोते पहले ही ठीक हो गए थे। बिना जिम गए 6 पैक बॉडी बनाई थी थॉमस के पोते रिजो मोनसी ने बताते हैं कि 93 साल के उनके दादा ने बिना जिम गए सिक्स पैक बॉडी बनाई। उन्होंने कभी शराब या सिगरेट को हाथ तक नहीं लगाया। आइसोलेशन में रहने के दौरान भी उनके दादा-दादी ने हमेशा सादे और पौष्टिक खाने पर ध्यान दिया। दादा पझनखानजी (चावल से बनी डिश) खाना पसंद करते थे। यह केरल का प्रसिद्ध भोजन है। यह दलिया और चावल को मिलाकर बनता है। इसके अलावा फल और कटहल की सब्जी खाते थे। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

थॉमस अब्राहम और उनकी 88 साल की पत्नी मरियम्मा दोनों ने कोरोना को मात दी थी। (फाइल फोटो)Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *