PM मोदी शांति निकेतन में शताब्दी समारोह को संबोधित करेंगे, राज्यपाल और शिक्षा मंत्री भी रहेंगे मौजूदDainik Bhaskar


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को पश्चिम बंगाल के शांति निकेतन में विश्वभारती यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह को संबोधित करेंगे। वे समारोह में वर्चुअली जुड़ेंगे। इस दौरान राज्य के राज्यपाल जगदीप धनकड़ और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल भी मौजूद रहेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘शिक्षा के हमारे प्रीमियम सेंटर्स में से एक विश्वभारती यूनिवर्सिटी, शांति निकेतन के शताब्दी समारोह को संबोधित करुंगा। इसका गुरुदेव टैगोर के साथ भी करीबी रिश्ता रहा है।’

1921 में हुई थी स्थापना
1921 में गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा स्थापित विश्वभारती देश का सबसे पुराना केंद्रीय विश्वविद्यालय है। मई 1951 में इसे एक केंद्रीय विश्वविद्यालय और इंस्टीट्यूशन ऑफ नेशनल इंपॉरटेंस घोषित किया गया था।

मोदी युवाओं को और युवा उन्हें पसंद
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने न्यूज एजेंसी को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी युवाओं को और युवा उन्हें पसंद करते हैं। 2013 में दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में हुए चर्चित कार्यक्रम के जरिए उन्होंने अपने इरादे साफ कर दिए थे कि उनके एजेंडे पर युवा हैं। पिछले तीन महीनों में प्रधानमंत्री मोदी ने कई विश्वविद्यालयों के कार्यक्रम में भाग लिया है।

PM पिछले 2 महीने में 5 यूनिवर्सिटीज में कर चुके हैं शिरकत

  • 19 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी ने मैसूर यूनिवर्सिटी के शताब्दी दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया। वर्ष 1916 में स्थापित इस पुराने यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में वर्चुअल भाग लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं को शिक्षा और दीक्षा का सही मतलब समझाया था।
  • 12 नवंबर को प्रधानमंत्री ने सबसे ज्यादा सुर्खियों और विवादों में रहने वाले JNU के एक कार्यक्रम में भाग लिया। स्वामी विवेकानंद की मूर्ति अनावरण समारोह में भाग लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने नेशन फर्स्ट का नारा देते हुए युवाओं को संदेश दिया कि विचारधारा बाद में है, देश पहले है।
  • 21 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने गांधीनगर के दीनदयाल पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी के आठवें दीक्षांत समारोह में 2600 छात्रों को डिग्री और डिप्लोमा प्रदान करते हुए उन्हें देश के विकास में योगदान देने की अपील की।
  • 25 नवंबर को उत्तर प्रदेश की राजधानी में स्थित लखनऊ यूनिवर्सिटी के 100 साल पूरे होने वाले कार्यक्रम में भाग लेते हुए युवाओं को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी।
  • 22 दिसंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने सीएए के खिलाफ आंदोलन के लिए चर्चित रहे उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में भाग लेते हुए जहां एजूकेशन सेक्टर में किए गए कार्यों को गिनाया, वहीं यह भी बताया कि सरकार बिना मत और मजहब का भेदभाव किए सभी योजनाओं का लाभ पहुंचा रही है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


22 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में हिस्सा लिया था। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को पश्चिम बंगाल के शांति निकेतन में विश्वभारती यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह को संबोधित करेंगे। वे समारोह में वर्चुअली जुड़ेंगे। इस दौरान राज्य के राज्यपाल जगदीप धनकड़ और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल भी मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘शिक्षा के हमारे प्रीमियम सेंटर्स में से एक विश्वभारती यूनिवर्सिटी, शांति निकेतन के शताब्दी समारोह को संबोधित करुंगा। इसका गुरुदेव टैगोर के साथ भी करीबी रिश्ता रहा है।’ Looking forward to addressing the centenary celebrations of the iconic #VisvaBharati University, Shantiniketan, among our premium centres of learning which is closely associated with Gurudev Tagore. Do tune in tomorrow, 24th December at 11 AM. pic.twitter.com/d4ZAcA9IUe — Narendra Modi (@narendramodi) December 23, 20201921 में हुई थी स्थापना 1921 में गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा स्थापित विश्वभारती देश का सबसे पुराना केंद्रीय विश्वविद्यालय है। मई 1951 में इसे एक केंद्रीय विश्वविद्यालय और इंस्टीट्यूशन ऑफ नेशनल इंपॉरटेंस घोषित किया गया था। मोदी युवाओं को और युवा उन्हें पसंद भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने न्यूज एजेंसी को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी युवाओं को और युवा उन्हें पसंद करते हैं। 2013 में दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में हुए चर्चित कार्यक्रम के जरिए उन्होंने अपने इरादे साफ कर दिए थे कि उनके एजेंडे पर युवा हैं। पिछले तीन महीनों में प्रधानमंत्री मोदी ने कई विश्वविद्यालयों के कार्यक्रम में भाग लिया है। PM पिछले 2 महीने में 5 यूनिवर्सिटीज में कर चुके हैं शिरकत 19 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी ने मैसूर यूनिवर्सिटी के शताब्दी दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया। वर्ष 1916 में स्थापित इस पुराने यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में वर्चुअल भाग लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं को शिक्षा और दीक्षा का सही मतलब समझाया था।12 नवंबर को प्रधानमंत्री ने सबसे ज्यादा सुर्खियों और विवादों में रहने वाले JNU के एक कार्यक्रम में भाग लिया। स्वामी विवेकानंद की मूर्ति अनावरण समारोह में भाग लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने नेशन फर्स्ट का नारा देते हुए युवाओं को संदेश दिया कि विचारधारा बाद में है, देश पहले है।21 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने गांधीनगर के दीनदयाल पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी के आठवें दीक्षांत समारोह में 2600 छात्रों को डिग्री और डिप्लोमा प्रदान करते हुए उन्हें देश के विकास में योगदान देने की अपील की।25 नवंबर को उत्तर प्रदेश की राजधानी में स्थित लखनऊ यूनिवर्सिटी के 100 साल पूरे होने वाले कार्यक्रम में भाग लेते हुए युवाओं को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी।22 दिसंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने सीएए के खिलाफ आंदोलन के लिए चर्चित रहे उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में भाग लेते हुए जहां एजूकेशन सेक्टर में किए गए कार्यों को गिनाया, वहीं यह भी बताया कि सरकार बिना मत और मजहब का भेदभाव किए सभी योजनाओं का लाभ पहुंचा रही है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

22 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में हिस्सा लिया था। (फाइल फोटो)Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *