कोरोना काल में पहली बार एक दिन में 13 हजार श्रद्धालु पहुंचे; नए साल में संख्या और बढ़ सकती हैDainik Bhaskar


देश में कोरोना का वैक्सीनेशन जल्द शुरू हाेना है। इसके साथ ही धार्मिक पर्यटन भी रफ्तार पकड़ने लगा है। कोरोनाकाल के नौ महीनों में पहली बार माता वैष्णो देवी का दरबार श्रद्धालुओं से गुलजार हुआ है। बाजारों में चहल-पहल दिख रही है। यहां बेस कैंप के रजिस्ट्रेशन काउंटर पर तीन दिन में श्रद्धालुओं की संख्या में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

23 दिसंबर को 6500 से ज्यादा श्रद्धालुओं ने विशेष पूजा की। 25 दिसंबर की शाम यह आंकड़ा 10 हजार पार कर गया। 27 दिसंबर को तो कोरोनाकाल में सबसे ज्यादा 13 हजार श्रद्धालु दर्शनों के लिए पहुंचे। श्रद्धालुओं की संख्या देख टूर ऑपरेटर और होटल इंडस्ट्री को आस बंधी है कि जल्द पहले जैसी रौनक होगी।

अंतरराज्यीय बसें शुरू नहीं होने से पर्यटक नहीं पहुंच पा रहे
कोविड-19 की पाबंदियों के चलते पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से ही यात्रा की इजाजत थी। 1 नवंबर से रोज 15 हजार लोगों की लिमिट तय की गई। श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ते देख श्राइन बोर्ड स्पॉट रजिस्ट्रेशन करने लगा। हालांकि, अंतरराज्यीय बस सेवा शुरू न होने और सीमित ट्रेनें होने से श्रद्धालु नहीं आ पा रहे हैं। कटरा होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट राकेश वजीर ने प्रशासन से अपील की है कि श्रद्धालुओं की लिमिट हटा दी जाए।

नए साल में रेलवे 5 ट्रेनें शुरू करेगा
हालांकि, नियमित ट्रेन सर्विस शुरू होने से भी श्रद्धालु बढ़ने की उम्मीद है। रेलवे नए साल में पांच और ट्रेनें शुरू करने जा रहा है। राकेश वजीर ने बताया कि फिलहाल श्रद्धालु उसी दिन लौट रहे हैं। कुछ लोग ही होटल में रुक रहे हैं। एक होटल में सुपरवाइजर अंकुश कुमार बताते हैं, ‘रोज ग्राहकों के फोन आ रहे हैं। वे आना चाहते हैं, लेकिन बस सेवा नहीं होने से अटके हैं।’

उधर, श्राइन बोर्ड के सीईओ रमेश कुमार ने बताया कि नए साल पर विशेष पूजा के लिए औसतन 50 हजार श्रद्धालु पहुंचते थे। घर बैठे आरती के लाइव दर्शन के लिए मोबाइल ऐप और प्रसाद की होम डिलीवरी की व्यवस्था की गई थी। अब तक प्रसाद के 15 हजार पैकेट डिलीवर किए जा चुके हैं।

त्रिकूट पर्वत पर मौसम की पहली बर्फबारी
इधर, त्रिकूट पर्वत पर रविवार को मौसम की पहली बर्फबारी हुई। शाम 5.30 बजे से शुरू हुई बर्फबारी आधे घंटे तक जारी रही। हालांकि, इससे दर्शन व्यवस्था पर असर नहीं पड़ा।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


वैष्णोदेवी में रविवार शाम मौसम की पहली बर्फबारी हुई। इसके बाद रास्तों में बर्फ की मोटी परत जम गई।

देश में कोरोना का वैक्सीनेशन जल्द शुरू हाेना है। इसके साथ ही धार्मिक पर्यटन भी रफ्तार पकड़ने लगा है। कोरोनाकाल के नौ महीनों में पहली बार माता वैष्णो देवी का दरबार श्रद्धालुओं से गुलजार हुआ है। बाजारों में चहल-पहल दिख रही है। यहां बेस कैंप के रजिस्ट्रेशन काउंटर पर तीन दिन में श्रद्धालुओं की संख्या में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 23 दिसंबर को 6500 से ज्यादा श्रद्धालुओं ने विशेष पूजा की। 25 दिसंबर की शाम यह आंकड़ा 10 हजार पार कर गया। 27 दिसंबर को तो कोरोनाकाल में सबसे ज्यादा 13 हजार श्रद्धालु दर्शनों के लिए पहुंचे। श्रद्धालुओं की संख्या देख टूर ऑपरेटर और होटल इंडस्ट्री को आस बंधी है कि जल्द पहले जैसी रौनक होगी। अंतरराज्यीय बसें शुरू नहीं होने से पर्यटक नहीं पहुंच पा रहे कोविड-19 की पाबंदियों के चलते पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से ही यात्रा की इजाजत थी। 1 नवंबर से रोज 15 हजार लोगों की लिमिट तय की गई। श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ते देख श्राइन बोर्ड स्पॉट रजिस्ट्रेशन करने लगा। हालांकि, अंतरराज्यीय बस सेवा शुरू न होने और सीमित ट्रेनें होने से श्रद्धालु नहीं आ पा रहे हैं। कटरा होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट राकेश वजीर ने प्रशासन से अपील की है कि श्रद्धालुओं की लिमिट हटा दी जाए। नए साल में रेलवे 5 ट्रेनें शुरू करेगा हालांकि, नियमित ट्रेन सर्विस शुरू होने से भी श्रद्धालु बढ़ने की उम्मीद है। रेलवे नए साल में पांच और ट्रेनें शुरू करने जा रहा है। राकेश वजीर ने बताया कि फिलहाल श्रद्धालु उसी दिन लौट रहे हैं। कुछ लोग ही होटल में रुक रहे हैं। एक होटल में सुपरवाइजर अंकुश कुमार बताते हैं, ‘रोज ग्राहकों के फोन आ रहे हैं। वे आना चाहते हैं, लेकिन बस सेवा नहीं होने से अटके हैं।’ उधर, श्राइन बोर्ड के सीईओ रमेश कुमार ने बताया कि नए साल पर विशेष पूजा के लिए औसतन 50 हजार श्रद्धालु पहुंचते थे। घर बैठे आरती के लाइव दर्शन के लिए मोबाइल ऐप और प्रसाद की होम डिलीवरी की व्यवस्था की गई थी। अब तक प्रसाद के 15 हजार पैकेट डिलीवर किए जा चुके हैं। त्रिकूट पर्वत पर मौसम की पहली बर्फबारी इधर, त्रिकूट पर्वत पर रविवार को मौसम की पहली बर्फबारी हुई। शाम 5.30 बजे से शुरू हुई बर्फबारी आधे घंटे तक जारी रही। हालांकि, इससे दर्शन व्यवस्था पर असर नहीं पड़ा। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

वैष्णोदेवी में रविवार शाम मौसम की पहली बर्फबारी हुई। इसके बाद रास्तों में बर्फ की मोटी परत जम गई।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *