राजस्थान के 5 शहरों में तापमान माइनस में; हिमाचल में भारी बर्फबारी से 330 सड़कें बंद; यहां 7 शहरों में शीत का प्रकोपDainik Bhaskar


जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के कई इलाके घने काेहरे में हैं। इन राज्यों में अगले 5 दिन घना से बहुत घना कोहरा पड़ेगा। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले दाे दिनों यानी आज 30 और 31 दिसंबर को उत्तर-पश्चिमी भारत में न्यूनतम तापमान 3-5 डिग्री सेल्सियस गिर सकता है।

ठंड का आलम ये है कि राजस्थान के 3 शहरों में तापमान माइनस में चला गया है। इसके अलावा 12 शहर ऐसे हैं जहां 5 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान है। हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी ने हालात खराब कर दिया है। सड़कों पर बर्फ की मोटी लेयर जम चुकी है। इसके चलते 330 सड़कें अभी भी बंद पड़ी हैं।

राजस्थान में ठंड का कहर
लगातार दाे दिन से चल रही सर्द हवाओं से राजस्थान में सर्दी के तेवर और तीखे हो गए हैं। मंगलवार को पारे ने सर्दी का ऐसा पंच लगाया कि 5 शहरों में तापमान माइनस में पहुंच गया। माउंट आबू में सीजन की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई और पारा माइनस 4.0 डिग्री पहुंच गया।

इसके अलावा फतेहपुर में माइनस 3.2, जाेबनेर में माइनस 1.8, सीकर में माइनस 0.5 और चूरू में माइनस 0.4 डिग्री पारा रहा। यह इस सीजन में पहली बार है जब 5 शहराें में तापमान माइनस में गया है।

इसके अलावा 12 शहरों का पारा भी 5 डिग्री से नीचे रहा। इन शहरों में भीलवाड़ा, वनस्थली, अलवर, पिलानी, राजसमंद, चिताैड़गढ़, डबाेक, जैसलमेर, जाेधपुर, बीकानेर और श्रीगंगानगर में तापमान पांच डिग्री से कम रहा।

जयपुर में भी सीजन की सबसे सर्द रात रही और पारा पहली बार 5.6 डिग्री दर्ज किया गया। इससे पहले दिन यहां पारा 5.7 डिग्री दर्ज किया गया था। छह शहरों को छोड़कर सभी जगह तापमान पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकाॅर्ड हुआ। मौसम विभाग के अनुसार इसमें अभी और गिरावट होने के आसार हैं।

हिमाचल में हालात बदतर हुए

बर्फबारी के बाद हिमाचल प्रदेश पूरी तरह से शीतलहर की चपेट में आ गया है। सात शहरों का न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु और उससे नीचे चला गया है। नाहन काे छाेड़ शेष सभी शहराें का न्यूनतम तापमान एक और दाे डिग्री के पास पहुंच गया है। नाहन का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है।

साेलन और भुंतर की रातें शिमला से भी ज्यादा सर्द चल रही हैं। यहां का पारा माइनस एक डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया है जबकि शिमला का न्यूनतम तापमान एक डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। बिलासपुर और हमीरपुर में तीन-तीन, कांगड़ा का एक, मंडी का दाे और कुफरी का न्यूनतम तापमान माइनस शून्य डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया है।

माैसम विभाग ने बुधवार और वीरवार को प्रदेश के मैदानी क्षेत्राें में शीतलहर चलेगी। माैसम विभाग ने अगले पांच दिनाें तक प्रदेश में सभी जगह माैसम के खराब रहने का पूर्वानुमान जारी किया है। हालांकि माैसम विभाग ने मैदानी क्षेत्राें में इस बीच शीतलहर चलने की चेतावनी भी जारी की है।

हरिपुरधार-कुपवी मार्ग पर बर्फबारी से दूसरे दिन भी नहीं चल पाए वाहन।

बंद सड़काें काे बहाल करने के लिए काम में जुटे

बर्फबारी के बाद प्रदेश में जनजीवन अभी भी प्रभावित है। यहां पर तीन एनएच सहित 330 सड़कें अभी भी यातायात की आवाजाही के लिए पूरी तरह से बंद है। शिमला में 60, लाहाैल स्पीति में 76, कल्लू में 35, चंबा में 69 और कांगड़ा उपमंडल में 10 सड़काें पर यातायात अभी भी ठप है। बर्फबारी के कारण बंद सड़काें काे बहाल करने के लिए लाेक निर्माण द्वारा युद्ध स्तर पर प्रयास किए जा रहे है। बंद सड़काें काे खाेलने के लिए अभी कुछ दिन का समय और लग सकता है।

बर्फबारी के बाद लक्कड़ बाजार स्थित आइस स्केटिंग रिंक में फिर से स्केटिंग शुरू हाे गई है।

सैलानियों की मौज

बर्फबारी के बाद लक्कड़ बाजार स्थित आइस स्केटिंग रिंक में फिर से स्केटिंग शुरू हाे गई है। ऐसे में दाे दिन तक स्केटिंग बंद रहने के बाद मंगलवार काे फिर से स्केटिंग करने के लिए स्केटर पहुंचे। सुबह और शाम के दोनों सेशन हुए। शहर में बर्फबारी के बाद माैसम साफ रहा, इसके बावजूद भी ठंड का प्रकोप जारी है। शिमला शहर का न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री और अधिकतम 8.1 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया है। सुबह औ शाम कड़ाके की ठंड पड़ रही है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


बाड़मेर में खेजड़ी के पेड़ पर जमी बर्फ। फोटो- भास्कर पाठक गणपतसिंह राजपुरोहित।

जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के कई इलाके घने काेहरे में हैं। इन राज्यों में अगले 5 दिन घना से बहुत घना कोहरा पड़ेगा। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले दाे दिनों यानी आज 30 और 31 दिसंबर को उत्तर-पश्चिमी भारत में न्यूनतम तापमान 3-5 डिग्री सेल्सियस गिर सकता है। ठंड का आलम ये है कि राजस्थान के 3 शहरों में तापमान माइनस में चला गया है। इसके अलावा 12 शहर ऐसे हैं जहां 5 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान है। हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी ने हालात खराब कर दिया है। सड़कों पर बर्फ की मोटी लेयर जम चुकी है। इसके चलते 330 सड़कें अभी भी बंद पड़ी हैं। राजस्थान में ठंड का कहर लगातार दाे दिन से चल रही सर्द हवाओं से राजस्थान में सर्दी के तेवर और तीखे हो गए हैं। मंगलवार को पारे ने सर्दी का ऐसा पंच लगाया कि 5 शहरों में तापमान माइनस में पहुंच गया। माउंट आबू में सीजन की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई और पारा माइनस 4.0 डिग्री पहुंच गया। इसके अलावा फतेहपुर में माइनस 3.2, जाेबनेर में माइनस 1.8, सीकर में माइनस 0.5 और चूरू में माइनस 0.4 डिग्री पारा रहा। यह इस सीजन में पहली बार है जब 5 शहराें में तापमान माइनस में गया है। इसके अलावा 12 शहरों का पारा भी 5 डिग्री से नीचे रहा। इन शहरों में भीलवाड़ा, वनस्थली, अलवर, पिलानी, राजसमंद, चिताैड़गढ़, डबाेक, जैसलमेर, जाेधपुर, बीकानेर और श्रीगंगानगर में तापमान पांच डिग्री से कम रहा। जयपुर में भी सीजन की सबसे सर्द रात रही और पारा पहली बार 5.6 डिग्री दर्ज किया गया। इससे पहले दिन यहां पारा 5.7 डिग्री दर्ज किया गया था। छह शहरों को छोड़कर सभी जगह तापमान पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकाॅर्ड हुआ। मौसम विभाग के अनुसार इसमें अभी और गिरावट होने के आसार हैं। हिमाचल में हालात बदतर हुए बर्फबारी के बाद हिमाचल प्रदेश पूरी तरह से शीतलहर की चपेट में आ गया है। सात शहरों का न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु और उससे नीचे चला गया है। नाहन काे छाेड़ शेष सभी शहराें का न्यूनतम तापमान एक और दाे डिग्री के पास पहुंच गया है। नाहन का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है। साेलन और भुंतर की रातें शिमला से भी ज्यादा सर्द चल रही हैं। यहां का पारा माइनस एक डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया है जबकि शिमला का न्यूनतम तापमान एक डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। बिलासपुर और हमीरपुर में तीन-तीन, कांगड़ा का एक, मंडी का दाे और कुफरी का न्यूनतम तापमान माइनस शून्य डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया है। माैसम विभाग ने बुधवार और वीरवार को प्रदेश के मैदानी क्षेत्राें में शीतलहर चलेगी। माैसम विभाग ने अगले पांच दिनाें तक प्रदेश में सभी जगह माैसम के खराब रहने का पूर्वानुमान जारी किया है। हालांकि माैसम विभाग ने मैदानी क्षेत्राें में इस बीच शीतलहर चलने की चेतावनी भी जारी की है। हरिपुरधार-कुपवी मार्ग पर बर्फबारी से दूसरे दिन भी नहीं चल पाए वाहन।बंद सड़काें काे बहाल करने के लिए काम में जुटे बर्फबारी के बाद प्रदेश में जनजीवन अभी भी प्रभावित है। यहां पर तीन एनएच सहित 330 सड़कें अभी भी यातायात की आवाजाही के लिए पूरी तरह से बंद है। शिमला में 60, लाहाैल स्पीति में 76, कल्लू में 35, चंबा में 69 और कांगड़ा उपमंडल में 10 सड़काें पर यातायात अभी भी ठप है। बर्फबारी के कारण बंद सड़काें काे बहाल करने के लिए लाेक निर्माण द्वारा युद्ध स्तर पर प्रयास किए जा रहे है। बंद सड़काें काे खाेलने के लिए अभी कुछ दिन का समय और लग सकता है। बर्फबारी के बाद लक्कड़ बाजार स्थित आइस स्केटिंग रिंक में फिर से स्केटिंग शुरू हाे गई है।सैलानियों की मौज बर्फबारी के बाद लक्कड़ बाजार स्थित आइस स्केटिंग रिंक में फिर से स्केटिंग शुरू हाे गई है। ऐसे में दाे दिन तक स्केटिंग बंद रहने के बाद मंगलवार काे फिर से स्केटिंग करने के लिए स्केटर पहुंचे। सुबह और शाम के दोनों सेशन हुए। शहर में बर्फबारी के बाद माैसम साफ रहा, इसके बावजूद भी ठंड का प्रकोप जारी है। शिमला शहर का न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री और अधिकतम 8.1 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया है। सुबह औ शाम कड़ाके की ठंड पड़ रही है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

बाड़मेर में खेजड़ी के पेड़ पर जमी बर्फ। फोटो- भास्कर पाठक गणपतसिंह राजपुरोहित।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *