10 महीने बाद भारत-चीन व्यापार के लिए खोला गया नाथू ला पास, डोकलाम मुद्दे के चलते हुआ था बंदDainik Bhaskar



नाथू ला सिक्किम में 12 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है 44 साल बंद रहने के बाद 2006 में खोला गया था नाथू ला गंगटोक. भारत-चीन व्यापार के लिए सिक्किम का नाथू ला पास आखिरकार 10 महीने बाद बुधवार को खोल दिया गया। डोकलाम विवाद के चलते इसे जुलाई में बंद कर दिया गया था। नाथू ला के शुरू होने पर दोनों तरफ के अधिकारियों और व्यापारियों एक-दूसरे को मिठाई और गिफ्ट बांटे। बता दें कि पिछले साल 16 जून को भारत-चीन के बीच डोकलाम विवाद शुरू हुआ था। 73 दिन चला विवाद 28 अगस्त 2017 को हल हो गया था। उम्मीद है अब दिक्कत नहीं होगी – भारत और तिब्बत स्वायत्तशासी क्षेत्र के व्यापारियों ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इस साल नाथू ला से व्यापार करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। – इंडो-चाइना बॉर्डर ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव तेनजिंग त्सेपल ने कहा, “पिछले साल हुए डोकलाम विवाद के चलते केवल दो हफ्ते कारोबार हो पाया था। इसके चलते हमें काफी नुकसान उठाना पड़ा। लेकिन इस साल हम अच्छे व्यापार की उम्मीद कर रहे हैं।” – एक अधिकारी के मुताबिक, 2016-17 के दौरान नाथू ला पास से 3 करोड़ 54 लाख का व्यापार हुआ था। भारत-चीन के अफसरों की हुई थी मीटिंग – ट्रेडर्स एसोसिएशन ने बताया कि पास को खोले जाने को लेकर इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) और चीनी आर्मी के अफसरों की मीटिंग हुई थी। इसमें इस साल व्यापार शांतिपूर्ण तरीके से हो, इस पर चर्चा हुई। – बैठक में करंसी एक्सचेंज, रोड कनेक्टिविटी और मौसम बिगड़ने पर होने वाले दिक्कतों पर चर्चा हुई। – भारतीय व्यापारी नाथू ला के रास्ते चीन को तेल, घी, कंबल, तांबे के आइटम्स, चावल, कपड़े जैसी चीजें भेजते हैं। चीन से भारत ज्यादातर रजाइयां और जैकेट मंगाता है। 12 हजार फीट की ऊंचाई पर है नाथू ला नाथू ला पास 12,400 फीट की ऊंचाई पर स्थित हैा 44 साल बंद रहने के बाद इसे 2006 में खोला गया था।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


china india border trade via nathu la resumes


china india border trade via nathu la resumes

नाथू ला सिक्किम में 12 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है 44 साल बंद रहने के बाद 2006 में खोला गया था नाथू ला गंगटोक. भारत-चीन व्यापार के लिए सिक्किम का नाथू ला पास आखिरकार 10 महीने बाद बुधवार को खोल दिया गया। डोकलाम विवाद के चलते इसे जुलाई में बंद कर दिया गया था। नाथू ला के शुरू होने पर दोनों तरफ के अधिकारियों और व्यापारियों एक-दूसरे को मिठाई और गिफ्ट बांटे। बता दें कि पिछले साल 16 जून को भारत-चीन के बीच डोकलाम विवाद शुरू हुआ था। 73 दिन चला विवाद 28 अगस्त 2017 को हल हो गया था। उम्मीद है अब दिक्कत नहीं होगी – भारत और तिब्बत स्वायत्तशासी क्षेत्र के व्यापारियों ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इस साल नाथू ला से व्यापार करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। – इंडो-चाइना बॉर्डर ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव तेनजिंग त्सेपल ने कहा, “पिछले साल हुए डोकलाम विवाद के चलते केवल दो हफ्ते कारोबार हो पाया था। इसके चलते हमें काफी नुकसान उठाना पड़ा। लेकिन इस साल हम अच्छे व्यापार की उम्मीद कर रहे हैं।” – एक अधिकारी के मुताबिक, 2016-17 के दौरान नाथू ला पास से 3 करोड़ 54 लाख का व्यापार हुआ था। भारत-चीन के अफसरों की हुई थी मीटिंग – ट्रेडर्स एसोसिएशन ने बताया कि पास को खोले जाने को लेकर इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) और चीनी आर्मी के अफसरों की मीटिंग हुई थी। इसमें इस साल व्यापार शांतिपूर्ण तरीके से हो, इस पर चर्चा हुई। – बैठक में करंसी एक्सचेंज, रोड कनेक्टिविटी और मौसम बिगड़ने पर होने वाले दिक्कतों पर चर्चा हुई। – भारतीय व्यापारी नाथू ला के रास्ते चीन को तेल, घी, कंबल, तांबे के आइटम्स, चावल, कपड़े जैसी चीजें भेजते हैं। चीन से भारत ज्यादातर रजाइयां और जैकेट मंगाता है। 12 हजार फीट की ऊंचाई पर है नाथू ला नाथू ला पास 12,400 फीट की ऊंचाई पर स्थित हैा 44 साल बंद रहने के बाद इसे 2006 में खोला गया था। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

china india border trade via nathu la resumes

china india border trade via nathu la resumesRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *