एक और शिवसेना नेता ED के रडार पर, प्रवीण राउत की फर्म से कई करोड़ ट्रांसफर करने के सबूत मिलेDainik Bhaskar


प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने PMC बैंक घोटाले में जांच के दायरे को बढ़ाते हुए शिवसेना के पूर्व सांसद के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। जांच में सामने आया है कि इस सांसद के खाते में सीधे कई करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए थे। जल्द ही ED उन्हें समन कर पूछताछ के लिए तलब करने वाली है। इसी मामले में सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी से केंद्रीय जांच एजेंसी ने करीब साढ़े तीन घंटे पूछताछ की है।

ED सूत्रों की मानें तो प्रवीण राउत की एक फार्म ने एक ट्रस्ट में भी कई करोड़ रुपए ट्रांसफर किए थे। इस ट्रस्ट को एक नामचीन राजनीतिक परिवार कंट्रोल करता है। ED को जांच में इस घोटाले में अंडरवर्ल्ड की भूमिका का भी पता चला है।

एक बड़े ट्रस्ट को करोड़ों रुपए ट्रांसफर के सबूत मिले
ये फंड उसी अमाउंट का हिस्सा बताया जा रहा है, जो HDIL के प्रमोटर्स वर्धवान बंधुओं ने PMC बैंक से लिया था। आपको बता दें कि ED ने अब तक वर्धवान बंधुओं से जुड़ी 1100 एकड़ जमीन को जब्त किया है। इसमें जमीन, बंगला, फ्लैट और अन्य कई प्रॉपर्टी शामिल हैं।

क्या है PMC बैंक घोटाला?
PMC बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 6500 करोड़ रुपए का कर्ज देने का मामला 2019 में सामने आया था। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सितंबर 2019 में PMC बैंक पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। आर्थिक अपराध शाखा ने सारंग वाधवान और राकेश वाधवान को गिरफ्तार किया था। PMC बैंक को डूबोने में जो 44 एकाउंट्स अहम थे, उनमें से 10 खाते HDIL के थे।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


ED सूत्रों के मुताबिक प्रवीण राउत की एक फार्म ने एक ट्रस्ट में भी कई करोड़ रुपए ट्रांसफर किए थे।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने PMC बैंक घोटाले में जांच के दायरे को बढ़ाते हुए शिवसेना के पूर्व सांसद के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। जांच में सामने आया है कि इस सांसद के खाते में सीधे कई करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए थे। जल्द ही ED उन्हें समन कर पूछताछ के लिए तलब करने वाली है। इसी मामले में सोमवार को शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी से केंद्रीय जांच एजेंसी ने करीब साढ़े तीन घंटे पूछताछ की है। ED सूत्रों की मानें तो प्रवीण राउत की एक फार्म ने एक ट्रस्ट में भी कई करोड़ रुपए ट्रांसफर किए थे। इस ट्रस्ट को एक नामचीन राजनीतिक परिवार कंट्रोल करता है। ED को जांच में इस घोटाले में अंडरवर्ल्ड की भूमिका का भी पता चला है। एक बड़े ट्रस्ट को करोड़ों रुपए ट्रांसफर के सबूत मिले ये फंड उसी अमाउंट का हिस्सा बताया जा रहा है, जो HDIL के प्रमोटर्स वर्धवान बंधुओं ने PMC बैंक से लिया था। आपको बता दें कि ED ने अब तक वर्धवान बंधुओं से जुड़ी 1100 एकड़ जमीन को जब्त किया है। इसमें जमीन, बंगला, फ्लैट और अन्य कई प्रॉपर्टी शामिल हैं। क्या है PMC बैंक घोटाला? PMC बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 6500 करोड़ रुपए का कर्ज देने का मामला 2019 में सामने आया था। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सितंबर 2019 में PMC बैंक पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। आर्थिक अपराध शाखा ने सारंग वाधवान और राकेश वाधवान को गिरफ्तार किया था। PMC बैंक को डूबोने में जो 44 एकाउंट्स अहम थे, उनमें से 10 खाते HDIL के थे। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

ED सूत्रों के मुताबिक प्रवीण राउत की एक फार्म ने एक ट्रस्ट में भी कई करोड़ रुपए ट्रांसफर किए थे।Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *