नेशनल जियोग्राफिक ने किसान आंदोलन को बनाया मैग्जीन की कवर स्टोरी? जानिए फोटो का सचDainik Bhaskar


क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि यह फोटो नेशनल जियोग्राफिक की मैग्जीन के विंटर एडिशन का कवर पेज है। दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन को मैग्जीन की कवर स्टोरी बनाया गया है। फोटो में एक शख्स पगड़ी पहनते हुए नजर आ रहा है।

और सच क्या है?

  • कवर पेज की सच्चाई जानने के लिए हमने इस फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। रिवर्स सर्च करने पर हमें इस फोटो से जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली।
  • पड़ताल के दौरान नेशनल जियोग्राफिक मैगजीन का सोशल मीडिया अकाउंट देखा, यहां जनवरी, 2021 की मैगजीन का कवर पेज दिखाई दिया।
  • जनवरी एडिशन के कवर का सब्जेक्ट 2020 की ऐसी 17 तस्वीरें हैं, जिन्हें भुलाया नहीं जा सकता है। कवर पर किसान आंदोलन का कोई जिक्र नहीं है।
  • पड़ताल के दौरान हमने इसी मैग्जीन के पिछले कुछ एडिशंस देखे, यहां भी किसान आंदोलन की कोई भी तस्वीर कवर पर नहीं दिखी।
  • सोशल मीडिया पर अनूपप्रीत नाम की एक यूजर ने वायरल हो रहा कवर पेज शेयर किया। पोस्ट में लिखा, यह कवर पेज केवल कलात्मक अभिव्यक्ति के लिए है।
  • साफ है कि ये फोटो एडिटेड है, जिसे सोशल मीडिया पर वायरल करके झूठ फैलाया जा रहा है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


National Geographic has not published the news of the farmer movement, sharing the edited photo on social media is being spread lies

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि यह फोटो नेशनल जियोग्राफिक की मैग्जीन के विंटर एडिशन का कवर पेज है। दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन को मैग्जीन की कवर स्टोरी बनाया गया है। फोटो में एक शख्स पगड़ी पहनते हुए नजर आ रहा है। The Largest Protest in History is Happening Now and it is being not televised.(in a right manner) @NatGeo we thank u for ur front page cover dedicated to #farmersrprotest #ModiDestroyingFederalism #FarmersDealTotalRepeal pic.twitter.com/m0NhRGuI8j — Amarbir Singh (@DrAmarbirSingh) January 4, 2021और सच क्या है? कवर पेज की सच्चाई जानने के लिए हमने इस फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। रिवर्स सर्च करने पर हमें इस फोटो से जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली।पड़ताल के दौरान नेशनल जियोग्राफिक मैगजीन का सोशल मीडिया अकाउंट देखा, यहां जनवरी, 2021 की मैगजीन का कवर पेज दिखाई दिया।जनवरी एडिशन के कवर का सब्जेक्ट 2020 की ऐसी 17 तस्वीरें हैं, जिन्हें भुलाया नहीं जा सकता है। कवर पर किसान आंदोलन का कोई जिक्र नहीं है। 2020 was the year that tested us. This is how National Geographic photographers saw it: https://t.co/JGdtJQblCs pic.twitter.com/uDRxUCWXVz — National Geographic Magazine (@NatGeoMag) December 11, 2020पड़ताल के दौरान हमने इसी मैग्जीन के पिछले कुछ एडिशंस देखे, यहां भी किसान आंदोलन की कोई भी तस्वीर कवर पर नहीं दिखी।सोशल मीडिया पर अनूपप्रीत नाम की एक यूजर ने वायरल हो रहा कवर पेज शेयर किया। पोस्ट में लिखा, यह कवर पेज केवल कलात्मक अभिव्यक्ति के लिए है। View this post on Instagram A post shared by anoopreet (@anoopreet) साफ है कि ये फोटो एडिटेड है, जिसे सोशल मीडिया पर वायरल करके झूठ फैलाया जा रहा है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

National Geographic has not published the news of the farmer movement, sharing the edited photo on social media is being spread liesRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *