पढ़िए, टाइम मैगजीन की इस हफ्ते की चुनिंदा स्टोरीज सिर्फ एक क्लिक परDainik Bhaskar


1. अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन में संसद भवन की सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हिंसक समर्थकों से नरमी बरतने का आरोप है। पूर्व पुलिस अधिकारियों ने पुलिस की ढील को पक्षपात और रंगभेद बताया है। इसके अलावा भी कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। पूर्व अधिकारियों ने पुलिस पर क्या आरोप लगाए हैं पढ़िए इस स्टोरी में।

2. ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का व्यवहार अब भी पूरी तरह से वैज्ञानिकों को समझ नहीं आ रहा है। यह स्पष्ट नहीं है कि क्या नई नस्ल से लोग गंभीर रूप से बीमार पड़ेंगे या अधिक मौतें होंगी। वैज्ञानिक नए स्ट्रेन का व्यवहार समझने के लिए संक्रमित मरीजों के अधिक सैम्पल की जांच कर रहे हैं। वायरस के नए स्ट्रेन के बारे में वैज्ञानिकों को और क्या मिला पढ़िए इस स्टोरी में।

3. केपिटल बिल्डिंग में समर्थकों के हिंसक उपद्रव से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को चौतरफा नुकसान उठाना पड़ेगा। रिपब्लिकन पार्टी पर उनकी मजबूत पकड़ ढीली हो रही है। कई पूर्व सहयोगी मानते हैं कि उनके साथ 10-12 दिन सरकार में रहना भी असहनीय है। उनके सहयोगियों ने ट्रम्प के बारे में और क्या कहा, पढ़िए इस स्टोरी में।

4. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने 6 जनवरी को अमेरिकी संसद भवन में उपद्रव किया। इस घटना ने सोशल मीडिया की भूमिका पर फिर सवाल खड़े किए हैं। ट्रम्प पिछले कई साल से सोशल मीडिया के जरिये गलत जानकारियां और साजिश रचने वाला प्रचार कर रहे हैं। टि्वटर, फेसबुक ने अब जाकर ट्रम्प पर बंदिश लगाई है। लोगों ने सोशल मीडिया कंपनियों के खिलाफ कैसे गुस्सा दिखाया पढ़िए इस स्टोरी में।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Read, this week’s selected stories of Time magazine with just click Here

1. अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन में संसद भवन की सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हिंसक समर्थकों से नरमी बरतने का आरोप है। पूर्व पुलिस अधिकारियों ने पुलिस की ढील को पक्षपात और रंगभेद बताया है। इसके अलावा भी कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। पूर्व अधिकारियों ने पुलिस पर क्या आरोप लगाए हैं पढ़िए इस स्टोरी में। ट्रम्प के गोरे समर्थकों को जानबूझकर मनमानी की छूट 2. ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का व्यवहार अब भी पूरी तरह से वैज्ञानिकों को समझ नहीं आ रहा है। यह स्पष्ट नहीं है कि क्या नई नस्ल से लोग गंभीर रूप से बीमार पड़ेंगे या अधिक मौतें होंगी। वैज्ञानिक नए स्ट्रेन का व्यवहार समझने के लिए संक्रमित मरीजों के अधिक सैम्पल की जांच कर रहे हैं। वायरस के नए स्ट्रेन के बारे में वैज्ञानिकों को और क्या मिला पढ़िए इस स्टोरी में। वैक्सीन के सामने वायरस का नया स्ट्रेन ज्यादा प्रतिरोधी 3. केपिटल बिल्डिंग में समर्थकों के हिंसक उपद्रव से अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को चौतरफा नुकसान उठाना पड़ेगा। रिपब्लिकन पार्टी पर उनकी मजबूत पकड़ ढीली हो रही है। कई पूर्व सहयोगी मानते हैं कि उनके साथ 10-12 दिन सरकार में रहना भी असहनीय है। उनके सहयोगियों ने ट्रम्प के बारे में और क्या कहा, पढ़िए इस स्टोरी में। ट्रम्प को बिजनेस में भी नुकसान होगा 4. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने 6 जनवरी को अमेरिकी संसद भवन में उपद्रव किया। इस घटना ने सोशल मीडिया की भूमिका पर फिर सवाल खड़े किए हैं। ट्रम्प पिछले कई साल से सोशल मीडिया के जरिये गलत जानकारियां और साजिश रचने वाला प्रचार कर रहे हैं। टि्वटर, फेसबुक ने अब जाकर ट्रम्प पर बंदिश लगाई है। लोगों ने सोशल मीडिया कंपनियों के खिलाफ कैसे गुस्सा दिखाया पढ़िए इस स्टोरी में। सोशल मीडिया कंपनियों पर गुस्सा भड़का आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Read, this week’s selected stories of Time magazine with just click HereRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *