केंद्र ने सीरम इंस्टीट्यूट को 1.10 करोड़ वैक्सीन का ऑर्डर दिया, एक डोज की कीमत 200 रुपए होगीDainik Bhaskar


केंद्र सरकार ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रेजेनेका की वैक्सीन कोवीशील्ड के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को ऑर्डर दे दिया है। यह ऑर्डर एक करोड़ 10 लाख डोज का है। एक डोज की कीमत 200 रुपये होगी। कोवीशील्ड की हर हफ्ते एक करोड़ से ज्यादा डोज की सप्लाई की जा सकती है। SII के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। वैक्सीन का पहला लॉट कल सुबह डिस्पैच होने की उम्मीद है।

DCGI ने 3 जनवरी को मंजूरी दी थी
सरकार ने देश में वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए 16 जनवरी की तारीख तय की है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 3 जनवरी को कोवीशील्ड को अप्रूवल दिया था। इसकी इफेक्टिवनेस को लेकर अलग-अलग बातें सामने आई थीं। एस्ट्राजेनेका ने वैक्सीन की ओवरऑल इफेक्टिवनेस 90% तक होने का दावा किया था। हालांकि, भारतीय रेगुलेटर का मानना है कि यह वैक्सीन 70% तक इफेक्टिव है।

ऑक्सफोर्ड ने बनाई है वैक्सीन
कोवीशील्ड या AZD1222 को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और उसकी कंपनी वैक्सीटेक ने मिलकर बनाया है। वैक्सीन में चिम्पांजी में सर्दी की वजह बनने वाले वायरस (एडेनोवायरस) को कमजोर कर इस्तेमाल किया गया है। इसमें SARS-CoV-2 यानी नोवल कोरोनावायरस का जेनेटिक मटेरियल है।

कोवीशील्ड वैक्सीन शरीर में सरफेस स्पाइक प्रोटीन बनाती है, जिससे SARS-CoV-2 के खिलाफ इम्युन सिस्टम बनता है। ताकि, आगे अगर नोवल कोरोनावायरस हमला करता है तो शरीर उसका मजबूती से जवाब दे सकें।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


भारत में यह वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) बना रहा है। कंपनी ने दावा किया था कि यह देश की सबसे सस्ती वैक्सीन होगी। -फाइल फोटो

केंद्र सरकार ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रेजेनेका की वैक्सीन कोवीशील्ड के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को ऑर्डर दे दिया है। यह ऑर्डर एक करोड़ 10 लाख डोज का है। एक डोज की कीमत 200 रुपये होगी। कोवीशील्ड की हर हफ्ते एक करोड़ से ज्यादा डोज की सप्लाई की जा सकती है। SII के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। वैक्सीन का पहला लॉट कल सुबह डिस्पैच होने की उम्मीद है। Serum Institute of India (SII) has received purchase order from Government of India: SII officials #COVID19Vaccine pic.twitter.com/pnZtlWuCSm — ANI (@ANI) January 11, 2021DCGI ने 3 जनवरी को मंजूरी दी थी सरकार ने देश में वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए 16 जनवरी की तारीख तय की है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 3 जनवरी को कोवीशील्ड को अप्रूवल दिया था। इसकी इफेक्टिवनेस को लेकर अलग-अलग बातें सामने आई थीं। एस्ट्राजेनेका ने वैक्सीन की ओवरऑल इफेक्टिवनेस 90% तक होने का दावा किया था। हालांकि, भारतीय रेगुलेटर का मानना है कि यह वैक्सीन 70% तक इफेक्टिव है। ऑक्सफोर्ड ने बनाई है वैक्सीन कोवीशील्ड या AZD1222 को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और उसकी कंपनी वैक्सीटेक ने मिलकर बनाया है। वैक्सीन में चिम्पांजी में सर्दी की वजह बनने वाले वायरस (एडेनोवायरस) को कमजोर कर इस्तेमाल किया गया है। इसमें SARS-CoV-2 यानी नोवल कोरोनावायरस का जेनेटिक मटेरियल है। कोवीशील्ड वैक्सीन शरीर में सरफेस स्पाइक प्रोटीन बनाती है, जिससे SARS-CoV-2 के खिलाफ इम्युन सिस्टम बनता है। ताकि, आगे अगर नोवल कोरोनावायरस हमला करता है तो शरीर उसका मजबूती से जवाब दे सकें। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

भारत में यह वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) बना रहा है। कंपनी ने दावा किया था कि यह देश की सबसे सस्ती वैक्सीन होगी। -फाइल फोटोRead More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *